• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Rewari
  • Kosli News haryana news ayushman yojana golden card made of only 10 percent people in a year still more than one and a half lakh people deprived of the card

आयुष्मान योजना : एक साल में महज 10 फीसद लोगों के ही बने गोल्डन कार्ड, अभी भी डेढ़ लाख से ज्यादा लोग कार्ड से वंचित

Rewari News - आयुष्मान भारत योजना की 23 सितंबर को पहली वर्षगांठ है। इस दिन ब्लॉक, जिला से लेकर राज्य स्तर पर सम्मान समारोह होंगे,...

Bhaskar News Network

Sep 22, 2019, 08:01 AM IST
Kosli News - haryana news ayushman yojana golden card made of only 10 percent people in a year still more than one and a half lakh people deprived of the card
आयुष्मान भारत योजना की 23 सितंबर को पहली वर्षगांठ है। इस दिन ब्लॉक, जिला से लेकर राज्य स्तर पर सम्मान समारोह होंगे, जिनमें अच्छा कार्य करने वाले सम्मानित किए जाएंगे। मगर योजना के तहत लोगों को जोड़ने की बात करें तो रेवाड़ी जिले में 45 हजार फैमिली के कार्ड बनने थे। दो लाख से ज्यादा लोगों को इस योजना से जोड़ा जाना था, लेकिन सालभर में महज 20 हजार लोगों के ही गोल्डन कार्ड बन पाए। यानि मात्र 10 फीसदी लोग ही इस योजना से जुड़ पाए। इनमें भी अगर लाभ लेने की बात करें तो यह आंकड़ा बहुत ही कम है। लोगों का ये भी कहना है कि वर्ष 2011 में हुए सर्वे अनुसार ही लिस्ट डाली गई है। उसमें जिसके नाम है, उनके ही ये कार्ड बन रहे हैं। अब सवाल उठता है कि उस लिस्ट के बाद अब तक 8 साल का समय हो गया। ऐसे में और भी कई जरूरतमंद हो गए, लेकिन वे इस योजना में लाभ लेने से वंचित रह गए। वंचित रहे जरूरतमंदों ने अब योजना की फिर से रिवाइज लिस्ट डालने की बात कही है।

योजना में यहां गड़बड़... 2011 में हुए सर्वे अनुसार ही बनाए जा रहे कार्ड, अब कई ऐसे भी वास्तविक जरूरतमंद जो नहीं ले पा रहे योजना का लाभ

स्कीम से जुड़ने को आधार जरूरी

इस योजना से जुड़ने के लिए लिस्ट अनुसार जिनका नाम है, उनको राशन कार्ड के साथ ही अब आधार कार्ड भी जरूरी है। तभी इस योजना में फायदा उठा पाएंगे। पहले बिना आधार कार्ड के ही गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे थे। ये गोल्डन कार्ड जो भी अस्पताल इस पैनल से जुड़े हैं, उनमें बनवाए जा सकते हैं।

यह जानना जरूरी…

अधिकारियों के मुताबिक इन अस्पतालों में उन्हीं बीमारियों का ही इलाज मुफ्त होगा, जो उन्होंने पैनल में जुड़ते समय लिखी थी। यानी संबंधित अस्पताल में भले ही सभी मल्टीस्पेशियलिटी सुविधा है, लेकिन पैनल में जुड़ते समय उन्होंने जिन सुविधाओं का जिक्र किया, पीड़ितों को उनका लाभ ही नि:शुल्क मिलेगा। बाकी बीमारी के इलाज पर हुए खर्च में उनको पैसे देने पड़ेंगे।

टोल फ्री नंबर पर प्राप्त करें योजना की जानकारी

लाभार्थी टोल फ्री नंबर 14555/1800111565 पर कॉल कर आयुष्मान याेजना के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। pmjay.gov.in पर लॉग इन कर के यह जान सकते हैं कि उनका सर्वे लिस्ट में नाम है या नहीं। दूसरे इस योजना के तहत किन निजी व सरकारी अस्पताल में किस बीमारी का नि:शुल्क इलाज हो रहा है, यह भी इसके जरिए पता किया जा सकता है।

ये 11 प्राइवेट व 2 सरकारी अस्पताल जुड़े हैं आयुष्मान योजना से...

आयुष्मान योजना के पैनल में फिलहाल विराट अस्पताल रेवाड़ी, डॉ. एसपी यादव रेवाड़ी, सिंगला ऑर्थो अस्पताल रेवाड़ी, धीर आई अस्पताल कोसली, डॉ. आरबी यादव रेवाड़ी, पुष्पांजलि अस्पताल रेवाड़ी, आई क्यू अस्पताल रेवाड़ी, रिती आई केयर अस्पताल रेवाड़ी, सिग्नस अस्पताल रेवाड़ी, ललिता मेमोरियल अस्पताल रेवाड़ी व कैप्टन नंदलाल अस्पताल रेवाड़ी के अलावा नागरिक अस्पताल रेवाड़ी व कोसली सब डिवीजनल सामान्य अस्पताल शामिल हैं। बता दें यहां उपचार कैशलेस रहेगा अर्थात कार्ड के माध्यम से ही उपचार होगा। इसके लिए पहले या बाद में अस्पताल में पैसे जमा कराने की जरूरत नहीं है।

दो अस्पतालों की फाइल भेजी

इसके अलावा देव ज्योति अस्पताल व सावित्री देवी अस्पताल ने पैनल में शामिल करवाने के लिए फाइल लगाई हुई है। ये अभी इस योजना से जुड़ नहीं पाए हैं।

जिन्होंने योजना में अच्छा काम किया, करेंगे प्रोत्साहित : डॉ. टीसी तंवर


Kosli News - haryana news ayushman yojana golden card made of only 10 percent people in a year still more than one and a half lakh people deprived of the card
X
Kosli News - haryana news ayushman yojana golden card made of only 10 percent people in a year still more than one and a half lakh people deprived of the card
Kosli News - haryana news ayushman yojana golden card made of only 10 percent people in a year still more than one and a half lakh people deprived of the card
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना