फीस नहीं दी इसलिए नहीं बैठने दिया पेपर में

Sonipat News - कोर्ट रोड स्थित स्कूल पर अभिभावकों एवं स्कूल प्रबंधन के बीच खींचतान का सिलसिला जारी है। जिसका खामियाजा...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 09:05 AM IST
Sonipat News - haryana news did not pay the fees did not let me sit in the paper
कोर्ट रोड स्थित स्कूल पर अभिभावकों एवं स्कूल प्रबंधन के बीच खींचतान का सिलसिला जारी है। जिसका खामियाजा विद्यार्थियों को भुगतना पड़ रहा है। शुक्रवार को यह तब और बढ़ गया जब स्कूल प्रबंधन ने करीब छह माह से फीस नहीं देने वाले विद्यार्थियों को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी। जिसके बाद स्कूल में पहुंचे अभिभावकों ने जमकर प्रदर्शन किया और इसे विद्यार्थियों के मौलिक अधिकारों का हनन तक बताया। मामले की सूचना के बाद शिक्षा विभाग की टीम भी पहुंची और स्कूल का रिकार्ड जांचा, जिसमें कहा गया कि अभिभावकों को नियमानुसार फीस दी जानी चाहिए। वहीं स्कूल प्रबंधन का कहना है कि स्कूल रिकार्ड में जिन विद्यार्थियों का नाम दर्ज उन सभी ने परीक्षा दी है, किसी विद्यार्थी को परीक्षा देने से वंचित नहीं किया गया, काफी विद्यार्थी ऐसे हैं जिन्होंने अब तक फीस ही नहीं दी है।

अभिभावकों के समर्थन में सिविल सोसायटी के सदस्यों ने की नारेबाजी

शुक्रवार को फीस विवाद में अभिभावकों के समर्थन में सामने आए सिविल सोसायटी के सदस्याें ने जमकर नारेबाजी की। सोसायटी प्रधान राज सिंह दलाल ने कहा कि न केवल हिंदू स्कूल बल्कि मालवीय शिक्षा सदन में भी विद्यार्थियों को परीक्षा देने से रोका गया है। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन ने उन बच्चों की परीक्षा ही नहीं ली, जिन्होंने बढ़ी हुई फीस जमा नहीं कराई है। जबकि यह मामला अभी रोहतक कमिश्नर के पास विचाराधीन है। ऐसे में विद्यार्थियों को परीक्षा से वंचित रखना स्कूल प्रशासन की मनमर्जी है। राज सिंह दलाल ने कहा कि प्रशासन बार-बार फार्म-6 का बहाना लेकर स्कूलों की तरफदारी कर रहा है, जो फीस लेते हैं, उसके बदले क्या-क्या सुविधाएं दी जा रही हैं, उसका भी ब्यौरा नहीं दिया जाता। उन्होंने कहा कि अभिभावक इस वर्ष भी गत वर्ष की ही तरह फीस जमा करवाने को तैयार हैं, लेकिन स्कूल प्रबंधन पूरी फीस लेने की बात कह रहा है।

मामले मे कुलदीप दहिया, डीईओ, सोनीपत का कहना है कि स्कूल का दौरा कर रिकार्ड जांचा गया है। फार्म छह में दर्ज की गई फीस ही स्कूल द्वारा ली जा रही है, प्राइमरी विंग में एक सौ रुपए की बढ़ोतरी की गई है। अभिभावकों को चाहिए कि वे विद्यार्थी हित में नियमों की पालना करें। व उपयुक्त फीस अदा करें।

X
Sonipat News - haryana news did not pay the fees did not let me sit in the paper
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना