• Hindi News
  • Haryana
  • Kaithal
  • Kaithal News haryana news disabled forum demands implementation of pension and disability act of 5 thousand per month

विकलांग मंच ने की 5 हजार प्रतिमाह पेंशन और विकलांगता अधिनियम को लागू करने की मांग

Kaithal News - अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस पर विकलांग अधिकार मंच हरियाणा की जिला कार्यकारिणी की बैठक जाट ग्राउंड में हुई। बैठक...

Dec 04, 2019, 07:22 AM IST
अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस पर विकलांग अधिकार मंच हरियाणा की जिला कार्यकारिणी की बैठक जाट ग्राउंड में हुई। बैठक में विशेष रूप से राज्य महासचिव योगेश शांडिल्य ने शिरकत की। उसके बाद कमेटी सदस्यों ने अपनी मांगों को लेकर डीसी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

योगेश शांडिल्य ने कहा कि दिव्यांगों को अलग श्रेणी में रखते हुए जीवन यापन के लिए पांच हजार रुपए मासिक भत्ता दिया जाए, बाधा मुक्त वातावरण उपलब्ध करवाने के लिए बस पास की सुविधा दी जाए, विकलांगता अधिनियम 2016 को लागू किया जाए, सभी दिव्यांगों सार्वभौमिक पहचान पत्र बनाकर इन्हें सभी विभागों में वैध किया जाए, जिला स्तर पर बनने वाले प्रमाण पत्रों को ब्लॉक में भी मेडिकल कैंप लगाकर बनाया जाए, सभी विभागों में रिक्त पड़े दिव्यांंगों के पदों को तुरंत प्रभाव से भरा जाए, जरूरतमंद दिव्यांगों के बीपीएल राशन कार्ड बनाए जाएं, रेडक्रॉस के माध्यम दिव्यांगों को सभी सहायक यंत्र उपलब्ध करवाए जाएं, सभी जरूरतमंदों को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई जाएं और आवास योजना का लाभ दिया जाए। संयोजक शिवकुमार धीमान ने कहा कि सचिवालय में आने वाले दिव्यांगों के वाहनों के की पार्किंग की पर्ची न काटी जाए। उन्होंने कहा कि सभी समस्याओं को लेकर 22 दिसंबर को शहीद भगत सिंह भवन में सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर अमित शर्मा, जाेगिंद्र सिंह, सोनू शर्मा, जयपाल दयौरा, सुरजीत सिंह, बसाऊ राम, सुशील चड्ढा, नरेश सजूमा, लक्ष्मी कश्यप, राममेहर शर्मा व बलवान मौजूद रहे।

बुजुर्ग को सीनियर सिटीजन कार्ड बनाने और अब गलती ठीक करवाने के लिए कटवा रहे चक्कर

कैथल | चिरंजीव कॉलोनी निवासी सत्यवीर सिंह मलिक ने कहा कि जिला समाज कल्याण विभाग सीनियर सिटीजन कार्ड बनाने के लिए बुजुर्गों को परेशान कर रहा है। उन्होंने कई महीनों तक विभाग के चक्कर काटकर सीनियर सिटीजन कार्ड बनवाया था, लेकिन जब यह कार्ड उन्हें मिला तो इसमें फोटो किसी और व्यक्ति की लगी थी व पैन नंबर भी गलत लिखा गया था। जब वे विभाग अधिकारी व कर्मचारियों से मिला तो वे इस गलती को ठीक करने की बजाय उन्हें फिर से नए सिरे से फार्म भरने की बात कहने लगे। बुजुर्ग ने कहा कि पहले कई महीनों बड़ी मुश्किल से उन्होंने कार्ड बनवाया था। कार्ड देखकर कर्मचारियों की लापरवाही साफ दिखाई पड़ती है, लेकिन कोई भी कर्मचारी अपनी गलती मानकर इसको ठीक करने की बजाय उन्हें समझाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि अगर जल्द ही उनके कार्ड में गलतियों को ठीक नहीं किया गया तो वे इसकी शिकायत डीसी व उच्चाधिकारियों को करेंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना