पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Fatehabad News Haryana News Doctors Working For 18 Hours Sending Updates By Night Searching For Passengers According To List Of Foreigners

डॉक्टर्स कर रहे 18 घंटे तक काम, रात तक भेज रहे अपडेट विदेश से आने वालों की सूची के हिसाब से तलाश रहे यात्री

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना वायरस पर कंट्रोल के लिए सर्विलांस और फ्रंट लाइन हेल्थ टीम दिन-रात जुटी

काेराेना वायरस पर कंट्रोल के लिए सर्विलांस और फ्रंट लाइन हेल्थ टीम दिन-रात जुटी हैं। देश में वायरस संक्रमित लोगों की तादाद बढ़ने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इन दिनों 16 से 18 घंटे काम कर रहे हैं।

रात के समय नींद लेते हैं, इसके बावजूद इमरजेंसी के लिए तैयार रहते हैं। समय-समय पर विभाग से मिल रही विदेश से आने वालों की सूची के हिसाब से उन लोगों तक पहुंचते हैं। जिसके बाद उनकी जांच की जाती हैं। माना जाए तो डॉक्टर अब दिन-रात लगातार ड्यूटी कर रहे हैं। ड्यूटी पर आने के बाद रात 8-9 बजे तक ऑफिस तो कभी फील्ड में जाकर सर्विलांस टीम वायरस से बचाव एवं रोकथाम के माइक्रो प्लान को लागू कर रहे हैं। इसके बाद घर जाकर मोबाइल पर अपडेट रहते हैं। महिला अफसर से लेकर वर्कर, खाना बनाते या अन्य घरेलू काम करते हुए भी जनसेवा की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। हेल्थ टीम फ्लू रोगियों का सही मार्गदर्शन करके होम आइसोलेशन यानी घर में अलग कमरे में रहने के लिए प्रेरित कर रही हैं। इस दाैरान रोगियों के गुस्से का शिकार भी होना पड़ता है मगर हालात और रोगी की पीड़ा को समझते हुए सरल एवं विनम्रता से एडवाइज देते हैं।

ड्यूटी के बाद घर चले जाने के बाद तुरंत संदिग्ध मरीज के आने की सूचना पर लौट आते हैं। एक तरह से दिनचर्या काफी बदल गई है। इनकी फैमिली भी समझ रही है कि नागरिकों को हेल्थ अफसर, डॉक्टर, वर्कर की जरूरत है। अपनों का भरपूर सपोर्ट मिल रहा है।

वार्ड ब्वाॅय और स्टाफ नर्स तक कर रहे निगरानी

नागरिक अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड पर वार्ड ब्वाय से लेकर स्टाफ नर्स तक लंबे समय की ड्यूटी कर रहे हैं। वहीं अस्पताल में समय-समय पर सफाई की जा रही है। मास्क के बिना यहां पर किसी को भी आने-जाने नहीं दिया जा रहा है। सुबह से शाम तक व रात को स्टाफ की ओर से पूरी निगरानी रखी जा रही है।

काेराेना से बचाव के लिए माइक्रो प्लान किया तैयार

{सीएमओ डॉ. मुनीष बंसल : इनके जानकारी व निर्देश में सभी काम हो रहे हैं। इनकी अनुमति से मुख्यालय को अपडेट रिपोर्ट जाती है। कोरोना से बचाव एवं रोकथाम सहित मुख्यालय से आने वाली गाइडलाइन्स को जिम्मेदार अफसरों से डिस्कस करके इम्प्लीमेंट के दिशा-निर्देश देते हैं। लंच व डिनर ब्रेक लेकर देर रात को भी क्वार्टर से अपडेट लेने अस्पताल पहुंच रहे हैं। डीसी व मुख्यालय के अधिकारियों संपर्क में रहते हैं।

{डॉ. विष्णु मित्तल, जिला महामारी विभाग : इन पर कोरोना से बचाव एवं रोकथाम के लिए तैयार माइक्रो प्लान लागू करने का जिम्मा है। दिनभर फ्लू क्लीनिक व आइसोलेशन वार्ड में आए रोगियों की डिटेल लेना, विदेश से आए पैसेंजर की जानकारी लेकर उन्हें ट्रेस कर हेल्थ की जांच कर रहे हैं।

{टीम नोडल ऑफिसर डिप्टी सीएमओ डॉ. हनुमान : सर्विलांस टीम के अहम किरदार हैं। अफसरों से मिलने वाले दिशा-निर्देशों को लागू करते हैं। सरकारी विभागों, संस्थानों में अवेयर कर रहे हैं। पल-पल की अपडेट ले रहे हैं।

रतिया नागरिक अस्पताल में खांसी, बुखार के रोगियों का चेकअप करते डाॅ. वीके जैन।
खबरें और भी हैं...