डाॅ. भाटिया का पंजीकरण रद्द करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अथॉरिटी को लिखा

Jhajjar News - शहर के श्री गणेश डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक ईश्वर शर्मा व सेंटर में रेडियोलॉजिस्ट के रूप में काम करने वाले...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:58 AM IST
Jhajjar News - haryana news dr health department wrote to authority to cancel bhatia39s registration
शहर के श्री गणेश डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक ईश्वर शर्मा व सेंटर में रेडियोलॉजिस्ट के रूप में काम करने वाले डॉक्टर राजीव भाटिया सहित अन्य के खिलाफ शहर के सिटी पुलिस थाना में धोखाधड़ी सहित कई संगीन धाराओं के तहत केस दर्ज हो जाने के बाद अब गुरुग्राम के सिविल सर्जन ने सरकार को डा. भाटिया का पंजीकरण रद्द किए जाने के लिए सरकार को लिखा है। डाॅ. भाटिया की गैर कानूनी कामों में नाम आने पर अब स्वास्थ्य विभाग ने पंजीकरण ही रद्द करने के लिए लिखा है, ताकि वह आगे कानून को न तोड़ पाए।

पुलिस सिविल अस्पताल के समीप बने श्री गणेश डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक ईश्वर शर्मा व सेंटर में रेडियोलॉजिस्ट के रूप में काम करने वाले डॉक्टर राजीव भाटिया सहित अन्य के खिलाफ शहर के सिटी पुलिस थाना में धोखाधड़ी सहित कई संगीन धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। केस में रेनू गौड का भी नाम दर्ज है। ईश्वर शर्मा नगर पालिका के अध्यक्ष रहे हैं। यह केस स्वास्थ्य विभाग की ओर से की गई एक छापामारी के बाद हाथ लगे कुछ दस्तावेजों के आधार पर की गई है। छापेमारी टीम में डिप्टी सिविल सर्जन एवं पीएनडीटी नोडल अधिकारी ने कुछ दस्तावेजों को भी जब्त किया है। जिसमें पीएनडीटी एक्ट के मुताबिक काफी खामियां मिली हैं। फार्म में रेडियोलॉजिस्ट के हस्ताक्षर होने चाहिए, लेकिन यहां पर रिकार्ड कंप्यूटर में तैयार और हस्ताक्षर भी डिजिटल किए हुए हैं। सबसे अहम बात यह है कि भ्रूण लिंग जांच को गंभीरता से लेते हुए अब रेडियोलॉजिस्ट से यह भी अंडर टेकिंग ली जाती है कि वह हरियाणा प्रदेश में कहीं दूसरी जगह पर काम नहीं करेंगे और उनके काम के घंटे भी दिए गए शपथ पत्र के मुताबिक ही होंगे। लेकिन अब समूचे रिकार्ड के कंप्यूटरीकृत होने और इसके लिए डिजिटल हस्ताक्षर किए जाने पर पुलिस ने डाॅ. भाटिया का लैपटॉप भी जब्त किया है। यह लैप टॉप भी अब फाेरेंसिक जांच के लिए भेजा रहा है। वहीं जांच टीम का कहना है कि जब्त किए गए एक रजिस्टर में जिस रेनू गौड़ के हस्ताक्षर सामने आए हैं। इसके बारे में भी पता किया जाएगा कि आखिर यह रेनू गौड़ है कौन।

सीसीटीवी से पता किया जाएगा कि कमरे में कौन प्रवेश किया

पुलिस ने मौके से डीवीआर एवं मशीन की हार्ड डिस्क बरामद की है और इनको जांच के लिए भेजा गया है। मशीन की हार्ड डिस्क से पता चल सकेगा कि इससे कितने अल्ट्रा साउंड और कब-कब हुए हैं। वहीं सीसीटीवी डीवीआर की मदद से यह पता लगाया जाएगा कि कमरे में कौन कौन प्रवेश कर रहे हैं। पीएनडीटी नोडल अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया कि पुलिस ने डाॅ. भाटिया को लैपटॉप भी जब्त किया है। डीवीआर को फारेंसिक जांच के लिए भेजा है। सिविल सर्जन गुड़गांव की अाैर से पंजीकरण रद्द करने के लिए सरकार काे पत्र लिखा गया है।

X
Jhajjar News - haryana news dr health department wrote to authority to cancel bhatia39s registration
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना