• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Jind
  • Narwana News haryana news family members left the night in 20 vehicles together the accident occurred on the way the journey left in the middle

20 वाहनों में एक साथ रात को निकले थे परिवार के सदस्य, रास्ते में हुआ हादसा, बीच में छोड़ी यात्रा

Jind News - हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के सुराजमाजरा से गुरुवार रात को गोगा मेड़ी के लिए निकली बागड़ यात्रा सच्चाखेड़ा गांव...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:20 AM IST
Narwana News - haryana news family members left the night in 20 vehicles together the accident occurred on the way the journey left in the middle
हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के सुराजमाजरा से गुरुवार रात को गोगा मेड़ी के लिए निकली बागड़ यात्रा सच्चाखेड़ा गांव के पास ही खत्म हो गई। यात्रा में 3 दोस्तों की मौत हो गई। हादसे के बाद परिवार ने यात्रा बीच में ही छोड़ दी। परिवार व अन्य जानकार 20 वाहनों में सवार होकर गोगा मेड़ी में दर्शन के लिए निकले थे, लेकिन रास्ते में यह हादसा हो गया। इस हादसे में मरने वाले कमल व मोहित रिश्ते में चाचा-भतीजा थे।

मृतक के परिजनों ने बताया कि उनके यहां से हर बार बागड़ यात्रा की जाती है, जिसमें शामिल होकर लोग गोगा मेड़ी जाकर गोगा पीर की पूजा-अर्चना कर सुख समृद्धि की कामना करते हैं, लेकिन इस बार उनकी यह श्रद्धा यात्रा मातम में तब बदल गई, जब यात्रा में शामिल कमल, मोहित व चन्द्र शेखर की सड़क हादसे में मौत हो गई। मृतक कमल के भाई मुकेश ने बताया कि इस हादसे में उसके भाई व उसके भतीजे मोहित की मौत हो गई, जो पूरे परिवार के लिए दिल-दहला देने वाली घटना है। मोहित उसके चचेरे भाई संजू का इकलौता बेटा था और वह पहली बार अपने चाचा के साथ बागड़ यात्रा पर निकला था। मोहित ने बताया कि उसका छोटा भाई खेतीबाड़ी का काम करता था और वह अपनी को कार को बहुत की संभाल कर रखता था। यात्रा शुरू करने से पहले भी उसने अपनी कार की सर्विस व अन्य जरूरी काम भी करवाया था और वह ड्राइवरी बहुत की अच्छे तरीके से करता था, लेकिन शुक्रवार अल सुबह अचानक कार अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इसमें उसने अपने भाई को खो दिया। कमल ने बताया कि वे गुरुवार रात साढ़े दस बजे अपने घर से यात्रा के लिए निकले थे और वह अपने भाई की गाड़ी के पीछे चल रहे वाहन में सवार था। कमल ने बताया कि बद्दी से लगभग 20 वाहन यात्रा के लिए निकले थे, लेकिन इस हादसे के बाद बहुत से लोगों ने अपनी यात्रा बीच में ही समाप्त करनी पड़ी। चंद्रशेखर मूल से रूप से यूपी गोडरी कुशीनगर का निवासी है। युवकों के साथ उसका दोस्ती का रिश्ता था।

कमल के नाना के घर में भी है गोगा मेड़ी

परिजनों ने बताया कि कमल के नाना गोगा मेड़ी धाम पर जाते थे और उन्होंने अपने घर में भी गोगा मेड़ी बनवाई थी। कमल की गोगा मेड़ी आस्था ने भी वहीं से जन्म लिया और अपने नाना की मृत्यु के बाद कमल भी गोगा मेड़ी पर हर साल जाने लगा। परिजनों ने बताया कि पूरे सुराजमाजरा में गोगा मेड़ी बड़ी मान्यता है, इसलिए यहां से गोगा मेड़ी के लिए हर बार यात्रा शुरू जाती है और सफल भी होती थी, लेकिन यह यात्रा श्रद्धालुओं के लिए बहुत की दुखदायी रही।

मृतक कमल

मोहित के नाना का रो-रोकर बुरा हाल

मोहित की मौत के बाद उसके नाना बंत सिंह नागरिक अस्पताल में पहुंचे तो उनकी आखों से आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे। क्योंकि बंत सिंह की लड़की का मोहित इकलौता बेटा था। अन्य मृतकों के परिजनों ने अपने बेटों को देखा तो वे भी अपने आपको रोक नहीं पा रहे थे।

X
Narwana News - haryana news family members left the night in 20 vehicles together the accident occurred on the way the journey left in the middle
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना