प्राणियों के कल्याण के लिए पृथ्वी पर बार- बार परमात्मा का अवतरण हुआ : श्याम भाई

Kurukshetra News - गीता जयंती महोत्सव के अवसर पर जयराम विद्यापीठ में भारत साधु समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रह्मस्वरूप...

Dec 04, 2019, 08:15 AM IST
Kurukshetra News - haryana news for the welfare of beings god has repeatedly descended on earth shyam bhai
गीता जयंती महोत्सव के अवसर पर जयराम विद्यापीठ में भारत साधु समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी के सान्निध्य में आयोजित भागवत पुराण की कथा के दूसरे दिन हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा भी पहुंचे। इस मौके पर राज्य के पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा, पूर्व विधानसभा स्पीकर कुलदीप शर्मा, लाडवा विधायक मेवा सिंह व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मनदीप सिंह चट्ठा भी कथा में पहुंचे। हुड्डा ने व्यासपीठ पर भागवत पुराण की पूजा अर्चना की और नमन किया। ब्रह्मचारी ने हुड्डा का सम्मान करते हुए उन्हें विद्यापीठ की ओर से शाॅल भेंट की। दूसरे दिन की कथा में व्यासपीठ से भागवत भास्कर आचार्य श्याम भाई ठाकर ने कहा कि पृथ्वी पर प्राणियों के कल्याण के लिए परमात्मा का बार-बार अवतरण होता है, उनकी लीलाएं होती है और गुणगान करते हुए कर्मधर्म के साथ ही महायज्ञ होते हैं। परमात्मा प्राणियों के प्रेम बंधन में बंधकर उनकी करुण पुकार को जरूर सुनते हैं। उन्होंने भागवत पुराण का महात् य सुनाते हुए कहा कि जब भी परमात्मा का इस पृथ्वी पर अवतरण होता है या परमात्मा स्वयं आकर यहां पर तरह-तरह की लीलाएं करते हैं तो देवतागण भी पृथ्वी पर जन्म लेने के लिए लालायित रहते हैं। आचार्य ठाकर ने कहा कि भागवत पुराण कथा को श्रवण करने वाले भक्त निश्चित रूप से मोक्ष को प्राप्त कर लेते हैं। जिस प्रकार राजा परीक्षित श्राप से मुक्त हो गए, अनेकानेक राक्षस और पापी भी उस परमात्मा की कृपा से मुक्ति पा गए, ऐसे सभी पुराणों और ग्रंथों में महापुराण की संज्ञा पाने वाला श्रीमद्भागवत पुराण है। जिसकी कथाओं का श्रवण करने के लिए इतने बड़े-बड़े आयोजन किए जाते हैं। कथावाचक ने कहा कि भक्तों के मन की वांछित कल्पनाओं से परे हटकर पुण्य फल प्रदान करने वाला यह महात्य होता है। वास्तव में श्रोता ही भागवत कथा के प्राण हैं जिसके कल्याण के लिए इस प्रकार के अनुष्ठान किए जाते हैं। इसी के साथ आचार्य ठाकर ने सहयोग तथा कल्याण की भावना पर चर्चा करते हुए कहा कि सक्षम लोगों को अपनी संपत्ति का कुछ भाग सस्नेह समाज को समर्पण करना चाहिए। इस अवसर पर कथा में राजेंद्र सिंघल, केके कौशिक, श्रवण गुप्ता, केके गर्ग, जयपाल पंचाल, विनोद गर्ग, कुलवंत सैनी, टेक सिंह लौहार माजरा, पवन गर्ग, खरैती लाल सिंगला, केसी रंगा, हरि सिंह, जेडी भारद्वाज, संतोष कोकिला, लक्ष्मीकांत शर्मा, पृथ्वी सिंह तुर्क, दर्शन खन्ना, राजेश सिंगला, डीके गुप्ता, ईश्वर गुप्ता, सुरेंद्र गुप्ता, सुभाष गुप्ता, अनिल कुमार, सुनील गुप्ता, सुनील गर्ग, संजीव गर्ग, अशोक गर्ग, राजेन्द्र सिंगला, सुरेश गुप्ता, सुनील गौरी, संजय गोयल, सुमिन्दर शास्त्री, प्रवेश राणा, यशपाल राणा, जयराम शिक्षण संस्थान के निदेशक एसएन गुप्ता, जयराम पब्लिक स्कूल की प्राचार्या अंजू अग्रवाल, जयराम बीएड कॉलेज की प्राचार्या प्रतिभा श्योकंद, जयराम महिला महाविद्यालय की प्राचार्या पूनम चौधरी, महिला मंडल की संगीता शर्मा व संतोष यादव, रणबीर भारद्वाज, आचार्य राजेश लेखवार, सतबीर कौशिक, रोहित कौशिक इत्यादि मौजूद थे।

कुरुक्षेत्र | जयराम विद्यापीठ में भागवत कथा में पहुंचे पूर्व मुख्यमन्त्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा।

X
Kurukshetra News - haryana news for the welfare of beings god has repeatedly descended on earth shyam bhai
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना