• Hindi News
  • Haryana
  • Kurukshetra
  • Kurukshetra News haryana news hanuman being made in kulwant ramlila for 48 years spends 40 days of brahmachari39s life grandson also plays makardhwaj

48 साल से कुलवंत रामलीला में बन रहे हनुमान, 40 दिन तक बिताते हैं ब्रह्मचारी का जीवन, पोता भी करता मकरध्वज का रोल

Kurukshetra News - कुरुक्षेत्र निवासी कुलवंत सिंह हिंदू सिख एकता के प्रतीक है। वे खुद हर साल रामलीला में पूरे नियम कायदे अपनाते हुए...

Sep 22, 2019, 08:06 AM IST
कुरुक्षेत्र निवासी कुलवंत सिंह हिंदू सिख एकता के प्रतीक है। वे खुद हर साल रामलीला में पूरे नियम कायदे अपनाते हुए हनुमान बनते हैं। वहीं अब उनके परिवार की तीन पीढिय़ां रामलीला में आ चुकी हैं। बेटा और पोता भी अब रामलीला में विभिन्न पात्रों का रोल निभाते हैं। कुलवंत 48 साल पहले श्रीलक्ष्मी रामलीला ड्रामाटिक क्लब से जुड़े थे। बताते हैं कि तब रामलीला मंच पर हनुमान की भूमिका शुरू की थी। इसके बाद हर साल वे हनुमान बनते आ रहे हैं। पहली बार सन् 1971 में जब मंच पर आए थे तो हर किसी ने उनका हौसला बढ़ाया था। इसके बाद से वे पूरे नियम कायदों के तहत इस रोल को पवित्रता के साथ निभाते आ रहे हैं।

भट्टी रामलीला में न केवल हनुमान बनते हैं। बल्कि क्लब के अन्य कामों और रामलीला संचालन में भी भागीदारी करते हैं। अब उनका बेटा सर्वजीत सिंह भट्टी भी हनुमान पुत्र मकरध्वज के पात्र की भूमिका निभाता है। यही नहीं उनका पोता हर्षदीप सिंह भट्टी भी 2 साल से रामलीला मंचन करता है। हर्षदीप भी हनुमान पुत्र मकरध्वज के पात्र की भूमिका निभा रहा है। बता दें कि जब हनुमान लंका जाने के लिए समुद्र के ऊपर से निकलते हैं तो उनका पसीना नीचे गिरता है। पसीना एक मछली के मुंह में चला गया था। जिसके बाद मकरध्वज का जन्म हुआ। मान्यता है कि मकरध्वज हनुमान के पुत्र थे।

भट्टी ने बताया कि गुरु साहिबान ने पंथ को एकता और प्रेम का संदेश दिया है। इसी संदेश को जीवन में आत्मसात करते हुए वे अपनी मर्यादा में रह कर हनुमान की भूमिका निभा रहे हैं। हनुमान का रोल अदा करते हुए वे भोजन ग्रहण नहीं करते। रात को धरती पर ही सोते हंै। वे रामलीला में हनुमान का अभिनय करते हुए 40 दिन तक ब्रह्मचारी का जीवन बिताते है। श्री लक्ष्मी रामलीला ड्रामाटिक क्लब के प्रधान सुंदर लाल कहते हैं कि क्लब 1971 में श्री शीशु रामलीला ड्रामाटिक क्लब के नाम से शुरू हुआ था। तभी से कुलवंत सिंह भट्टी रामलीला में हनुमान की भूमिका निभा रहे हैं। बेटे सर्वजीत सिंह ने करीब 6 साल और अब उनके पौत्र हर्षदीप भट्टी पिछले 2 सालों से हनुमान के पुत्र मकरध्वज की भूमिका रामलीला में निभा रहा है।

कुरुक्षेत्र: कुलवंत सिंह भट्टी अपने पौत्र हर्षदीप सिंह भट्टी के साथ रामलीला में मंचन करते हुए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना