पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Kurukshetra News Haryana News Instructions To Avoid Corona Even On Mobile Ring Tone

मोबाइल की रिंग टोन पर भी कोरोना से बचने की हिदायत

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चीन से निकल दुनिया में फैल रहे कोरोना वायरस के प्रति सजगता जरूरी है। कुरुक्षेत्र नर्सिंग होम के संचालक डॉ. सुभाष गर्ग ने बताया कोरोना वायर से डरने की बजाए इससे बचाव के प्रति सजग होने की जरूरत है। डॉ. गर्ग ने बताया हालांकि कोरोना वायरस को कोई संभव इलाज अभी तक नहीं है। संक्रमण रहने तक रोगी का सुपोटिव इलाज करना होता है और वाइ टल अंगों को इसकी मार से बचा कर रखना होता है। डॉ. गर्ग ने बताया इसके फैलने के लक्षणों में दो या अधिक लोग जो छह फीट के दायरे में हो संक्रमित कर सकता है, छह फुट से दूरी पर भी अगर कोई संक्रमित खांस दे या छींक दे और उसके छींटे मुंह पर पड़े तो संक्रमण फैल सकता है। डॉ. गर्ग ने बताया इस वायरस के फैलने का मुख्य जरिया नहीं बताया जा सकता, लेकिन दीवार, या अन्य किसी वस्तु पर वायरस गिरा है, तो उसको छूने के बाद कोई अपनी आंख, नाक या मुंह में हाथ डाल ले तो यह वायरस फैल सकता है।

इस तरह करें खुद का बचाव : डॉ. गर्ग ने बताया बीमार व्यक्ति से कम से कम छह फीट की दूरी बनाए रखें, जब तक बीमार हों घर से बाहर न निकलें, आंख, नाक और मुंह को न छूंए, जब खांसी उठे या छींक आए, तो मुंह को कपड़े या टिश्यू से ढंक ले, अगर ये भी न हो तो अपनी बाजू पर छींक लें, घर की सफाई पर विशेष ध्यान दें, आम साबुन या फिनाइल आदि का इस्तेमाल कर सक सकते हैं । खाना खाने से पहले या छींकने खांसने या नाक साफ करने के बाद कुछ भी खाने से पहले कम से कम 20 सेकंड साबुन से हाथ धोएं, अगर साबुन न हो तो अल्कोहल वाली हैंड-वाश का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

कोरोना वायरस से डरने के बजाए बचाव के प्रति सजग होना जरूरी

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र

देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, अब तक कई केस पाए जा चुके हैं। जिसके बाद देश में सतर्कता बढ़ गई है और सरकार से लेकर आम व्यक्ति हर कोई सावधानियां बरत रहा है। सरकार ने स्कूलों के अवकाश कर दिए हैं।

वहीं अब मोबाइल कंपनियों ने भी लोगों को कोरोना को लेकर जागरूक करने के लिए कदम उठाया है। मोबाइल कंपनियों ने उपभोक्ताओं के नंबरों पर कोरोना वायरस की जागरुकता को लेकर रिंग टोन लगाई है। फोन करने वालों को बेल की जगह अब कोरोना की रिंग टोन सुन रही है। कोरोना वायरस से बचने के लिए लोग मास्क और हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। अस्पतालों में कोरोना को लेकर स्टाफ नर्सों की मीटिंग लेकर जागरूक किया जा रहा है। जिला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक व वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. गौरव चावला ने जिला अस्पताल की स्टाफ नर्सों की मीटिंग लेकर उन्हें जागरूक किया। वहीं बार-बार सैनेटाइजर से हाथ धोने के लिए कहां। उन्होंने स्टाफ से कहा कि मरीजों के साथ-साथ उन्हेंं खुद भी अपनी सेहत को लेकर जागरूक होना पड़ेगा।

मास्क व सैनेटाइजर के वसूले जा रहे दोगुने रेट : अधिकतर केमिस्ट की दुकानों पर डिमांड बढ़ने के कारण मास्क व सैनेटाइजर का स्टॉक खत्म हो गया है। कुछ मेडिकल स्टोरों ने डिमांड बढ़ने के कारण मास्क व सैनेटाइजर के दोगुने रेट वसूलने शुरू कर दिए हैं। जो मास्क या सैनेटाइजर पहले 100 से 120 में मिल रहा था अब 200 से 250 रुपये में मिल रहा है। वहीं सामान्य मास्क के भी 15 से 20 रुपये की जगह 40 से 60 रुपये वसूले जा रहे है। दरअसल, एक्सपर्ट की ओर से सलाह दी जा रही है कि बार-बार हाथ धोएं और सफाई रखें ऐसे में हैंड सैनेटाइजर का उपयोग बढ़ गया है, क्योंकि डॉक्टरों की ओर से उस सैनेटाइजर के इस्तेमाल की सलाह दी जा रही है जिसमें अल्कोहल की मात्रा भी हो। एन 95, सिंगल लेयर और ट्रिपल लेयर मास्क का स्टॉक बाजार में शॉर्ट हो गए हैं।

खबरें और भी हैं...