पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जानिए... ये रहेगी वैकल्पिक व्यवस्था

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

प्राइवेट डॉक्टर्स ने अपने रूटीन में आने वाले मरीजों की सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। यदि किसी को कोई समस्या है या किसी का पहले से इलाज चल रहा है तो वे मरीज या उनके परिजन अपने डॉक्टर को फोन पर बात कर सकते हैं। डॉक्टर्स उन्हें गाइड कर सकेंगे। इससे संक्रमण फैलने का खतरा भी नहीं रहेगा और मरीजों की परेशानियां भी कम होंगी।
खबरें और भी हैं...