• Hindi News
  • Harayana
  • Yamunanagar
  • Yamunanagar News haryana news minor raped was imprisoned for 7 years 17 years old at the time of incident considered ccl due to change in law

नाबालिग से रेप करने वाले को 7 साल कैद, घटना के समय 17 साल का था, कानून में बदलाव से सीसीएल माना

Yamunanagar News - सेक्टर-18 टाउन पार्क के पास दो बहनों ने अश्लील हरकत करने वाले को जूतियों से पीटा। आरोपी दोनों बहनों के आगे हाथ...

Feb 15, 2020, 08:56 AM IST
Yamunanagar News - haryana news minor raped was imprisoned for 7 years 17 years old at the time of incident considered ccl due to change in law

सेक्टर-18 टाउन पार्क के पास दो बहनों ने अश्लील हरकत करने वाले को जूतियों से पीटा। आरोपी दोनों बहनों के आगे हाथ जोड़ता रहा। इसी बीच कुछ लोग उसे छुड़वाने के पक्ष में बात करने लगे। महिलाओं ने उन्हें भी खरी-खरी सुनाई। जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती, आरोपी का पक्ष लेने वाले उसे वहां से निकाल चुके थे। आरोपी हमीदा का रहने वाला बताया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि शिकायत नहीं मिली है। सूचना पर मौके पर पहुंच गए थे। वहां आरोपी भी नहीं मिला। महिलाओं ने बताया कि रात को वे अपने घर जा रही थीं। तभी सड़क किनारे खड़ा एक व्यक्ति पता पूछने के बहाने महिलाओं से अश्लील हरकत कर रहा था। जब वे वहां से जाने लगी तो उसने उन्हें रोक लिया। उनके साथ भी इसी तरह से गलत हरकत की। उन्होंने उसे वहीं पर पकड़ लिया। इसके बाद उसकी जमकर धुनाई की। तब वह हाथ जोड़कर माफी मांगने लगा। महिलाओं ने बताया कि ऐसा लग रहा था कि आरोपी ने नशा किया हुआ था। जब वे उसे पीट रही थीं तो तभी कुछ लोग बोले कि उसे छोड़ दें। उन्होंने उन्हें भी कहा कि जैसी हरकत उसने उनके साथ की है, अगर यह हरकत उनके परिवार की महिला से की होती तो क्या वे उसे छोड़ देते। इसी दौरान कुछ लोगों ने उसे वहां से उसे निकाल दिया। महिलाओं का कहना है कि पुलिस देरी से आई। अगर समय पर पुलिस आ जाती तो आरोपी मौके से न भाग पाता।

प्राइवेट कंपनी में नौकरी के लिए बुलाकर छेड़छाड़ करने वाले को तीन साल की सजा

{ यमुनानगर| नौकरी लगाने के नाम पर युवती को बुलाकर छेड़छाड़ करने वाले को कोर्ट ने तीन साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने बलबीर सिंह को 12 फरवरी को दोषी करार दिया था। फैसला न्यायाधीश शेर सिंह की कोर्ट ने दिया है। बता दें एक युवती ने 23 जुलाई 2015 को फर्कपुर पुलिस को शिकायत दी थी कि वह कन्हैया साहिब चौक के पास एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी के लिए गई थी। वहां पर आॅफिस संचालक बलबीर सिंह मिला। उसने कमरे में बुलाकर दरवाजा लगा लिया था। इसके बाद वह उससे छेड़छाड़ करने लगा। उसने विरोध भी किया। तभी वहां पर अन्य कर्मचारी आए तो उसने उसे छोड़ दिया था। इस शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज किया था ।

23 जुलाई 2015 को फर्कपुर युवती ने कंपनी संचालक के खिलाफ पुलिस को दी थी शिकायत

{पीड़िता को चार लाख का मुआवजा भी मिलेगा

{पुलिस आने से पहले युवकों ने आरोपी को भगाया

भास्कर न्यूज | यमुनानगर

घर से स्कूल गई छात्रा को अगवा कर रेप करने वाले सीसीएल (चाइल्ड कनफ्लिक्ट इन लॉ) गौरव को कोर्ट ने सात साल की सजा सुनाई है। वहीं उस पर 8 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। चाइल्ड कनफ्लिक्ट इन लॉ पक्ष की ओर से कोर्ट में कहा गया कि वह स्टूडेंट है। उसे पहले कभी सजा नहीं हुई। वहीं उसे मां-बाप भी बीमार रहते हैं।

वहीं अभियोजन पक्ष ने दलील दी कि आजकल मासूम बच्चों और औरतों पर बलात्कार की घटनाएं बढ़ रही हैं। इसके लिए पीड़ित को और समाज का न्याय मिलना चाहिए। उप जिला न्यायवादी सुरजीत आर्य ने बताया कि फैसला एडीशनल सेशन जज (एक्सक्ल्यूसिव कोर्ट फॉर हिनियस क्राइम्स एंगेस्ट वूमन एंड चिल्ड्रन यमुनानगर-जगाधरी) की कोर्ट ने सुनाया है। आर्य ने बताया कि इस मामले में कोर्ट ने पीड़ित को 4 लाख रुपए का मुआवजा देने के भी आदेश दिए हैं। यह पैसा 18 साल की उम्र होने के बाद मिलेगा। अभी उसका बैंक अकाउंट ओपन कराकर डिस्ट्रिक्ट लीगल ऑथोरिटी मुआवजा खाते में जमा कराएगा।

घटना के समय सीसीएल करीब 17 साल का थाः घटना के समय आरोपी नाबालिग था। उसकी उम्र करीब 17 साल साल थी। वहीं पीड़िता की उम्र करीब 16 साल। सरकार ने साल 2015 में नाबालिगों को लेकर कानून में बदलाव किया था।

उसके अनुसार दुष्कर्म, हत्या व अपहरण जैसे सात साल से ज्यादा सजा के प्रावधान वाले जघन्य अपराधों में 16 साल से ज्यादा उम्र के आरोपियों को वयस्क माना जाएगा। उसे वयस्कों की तरह ही सजा दी जाएगी। पहले कानून में 18 साल तक के जुवेनाइल आरोपी को किसी भी अपराध के लिए अधिकतम तीन साल तक सुधार गृह में रखने का प्रावधान था। नए नियम के अनुसार 16 साल से ज्यादा उम्र के नाबालिग अपराधियों की जांच जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के मनोवैज्ञानिक तथा विशेषज्ञ करते हैं। बोर्ड ही तय करता है कि क्या अपराध बालिग की मानसिकता से किया गया है। तभी किशोरों को बालिग अपराधी माना जाएगा। तब उसके आधार पर अदालत सजा सुनाती है।

हरिद्वार में जाकर रेप किया था, साथ देने वाला पहले हो चुका बरीः जगाधरी की एक कॉलोनी निवासी ने जगाधरी पुलिस को शिकायत दी थी कि उसकी 16 वर्ष की बेटी नौवीं कक्षा में पढ़ती है। वह 13 मार्च 2018 को घर से स्कूल के लिए गई थी। छुट्टी के बाद जब वह घर नहीं पहुंची तो उसकी तलाश की गई। तलाश करने पर पता चला कि वह स्कूल भी नहीं गई थी। इस शिकायत पर पुलिस ने धारा 365 में केस दर्ज कर लिया था। पुलिस ने पीड़ित और आरोपी को तलाश लिया था। पीड़ित ने बयानों में कहा था कि उसे हरिद्वार ले जाकर रेप किया। पुलिस ने इस मामले में गौरव को अगवा कर रेप करने और गोविंद को साथ देने के आरोप में काबू किया था। इस मामले में गोविंद को 12 सितंबर को कोर्ट बरी कर चुकी है।

इधर, महिलाओं ने अश्लील हरकत करने वाले को बीच सड़क पर जूतियों से पीटा

X
Yamunanagar News - haryana news minor raped was imprisoned for 7 years 17 years old at the time of incident considered ccl due to change in law
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना