पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sirsa News Haryana News Mp Inaugurates Prime Minister39s Jan Aushadhi Center

सांसद ने किया प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र का उद्घाटन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि जन औषधि केंद्र गरीब लोगों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से बड़ी सौगात है। जन औषधि केंद्र खोलने का मुख्य उद्देश्य जन-जन तक रियायत दरों पर स्वास्थ्य लाभ पहुंचाना है। जन औषधि केंद्र से जिला के नागरिकों को लाभ होगा और गरीब लोग सस्ती दरों पर दवाइयां खरीद सकेेंगे।

सांसद शनिवार को शहर में परमार्थ कॉलोनी स्थित जन औषधि केंद्र का उद्घाटन करने उपरांत लोगों को संबोधित कर रही थी। उन्होंने औषधि केंद्र का निरीक्षण कर केंद्र संचालक से उपलब्ध दवाइयों बारे जानकारी ली। यहां पहुंचने पर भाजपा पदाधिकारियों ने सांसद को गर्मजोशी के साथ स्वागत किया और सांसद ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर बीजेपी नेता प्रदीप रातूसरिया, अमन चोपड़ा, भूपेश महता, सतबीर सिंह सभ्रवाल, धनराज स्वामी, कमल भाटी, पवन, सोनू सैनी, सुशील गर्ग सहित अनेक लोग उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जरूरतमंद व गरीबों के लिए कई योजनाएं क्रियान्वित की गई हैं। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जन औषधि केंद्र खोलकर एक हितकारी कदम उठाते हुए गरीब लोगों को सौगात दी है। उन्होंने कहा कि इन केंद्रों से गरीब तबके के मरीजों के लिए रियायती दर पर दवाएं उपलब्ध रहेंगी। जन औषधि केंद्र पर सैकडों प्रकार की दवाएं उपलब्ध रहेंगी। मरीज चिकित्सक द्वारा लिखी गई दवाइयों की पर्ची दिखाकर दवाएं ले सकता है।

उन्होंने कहा कि देशभर में जन औषधि केंद्र खोले जा रहे हैं। इसी कड़ी में सिरसा शहर में जन औषधि केंद्र का उद्घाटन किया गया है। सिरसा जिला में पांच जन औषधि केंद्र खोले जाएंगे। उन्होंने जन औषधि केंद्र के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए जिलावासियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि इन जन औषधि केंद्रों का लाभ आम जन मानस को मिलेगा। सांसद ने कहा कि ये जन औषधि केंद्र गरीब लोगों के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होंगे। उदाहरण के तौर पर जो गरीब आदमी प्रति माह 6 हजार रुपये बाहर से दवाई खरीदने पर खर्च करता है। यहीं दवाई उसे जन औषधि केंद्र से एक हजार रुपये में उपलब्ध होगी। इस प्रकार से एक गरीब आदमी सालभर में 60 हजार रुपये बचा सकेगा, जिन्हें वह अपने अन्य विकास कार्यों में खर्च कर सकेगा।

खबरें और भी हैं...