चौकी इंचार्ज और हेड कांस्टेबल को किया लाइन हाजिर, डीएसपी की अगुवाई में एसआईटी करेगी जांच

Rewari News - केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी की मांग पर एसपी से मिले परिजन बैंक से लिया ऋण नहीं चुकाने पर अदालत के आदेश पर प|ी...

Feb 15, 2020, 08:10 AM IST
Kosli News - haryana news outpost incharge and head constable line up sit led by dsp will investigate
{केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी की मांग पर एसपी से मिले परिजन

बैंक से लिया ऋण नहीं चुकाने पर अदालत के आदेश पर प|ी को गिरफ्तार करने के दौरान पुलिस द्वारा की गई अभद्रता से क्षुब्ध पति के आत्महत्या करने के दूसरे दिन शुक्रवार को भी पुलिस महकमा में हड़कंप मचा रहा। भाड़ावास चौकी इंचार्ज रेणू एवं सिपाही संदीप को गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर शुक्रवार को मृतक के परिजन पुलिस अधीक्षक दीपक सहारण से मिलने पहुंचे और मामले में जल्द कार्रवाई की मांग उठाई। इसके बाद पुलिस अधीक्षक ने केस में नामजद चौकी इंचार्ज व एचसी को लाइन हाजिर कर दिया है।

परिजनों को संदेह था... क्या पुलिस निष्पक्ष करेगी पुलिस की जांच? शुक्रवार सुबह पुलिस अधीक्षक से मिलने पहुंची मृतक अमरसिंह की प|ी निर्मला ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात करके आरोप लगाया कि उसके पति ने चौकी इंचार्ज एवं सिपाही द्वारा की गई मारपीट की वजह से आत्महत्या की है।

पुलिस की इस अभद्रता की वजह से उनको बहुत अधिक मानसिक आघात लगा है जिसके चलते उन्होंने यह कदम उठाया। उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा जल्द ऋण के भुगतान का भी आश्वासन दिया गया था लेकिन उनकी कोई बात नहीं सुनी गई। यदि उनके पति के साथ मारपीट नहीं की जाती तो उनको यह कदम नहीं उठाना पड़ता। पुलिस अधीक्षक ने परिजनों को आश्वस्त किया कि इस मामले में बिना किसी दवाब एवं भेदभाव के कार्रवाई की जाएगी इसलिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। एसआईटी ही इस मामले की जांच करेगी और जांच भी कोसली के डीएसपी को सौंपी गई है। उन्होंने बताया कि मामले में नामजद चौकी प्रभारी रेणु के साथ एचसी संदीप को भी लाइन हाजिर कर दिया गया है। उनके स्थान पर नए पुलिस अधिकारियों को चौकी में लगा दिया गया है। परिजनों ने पुलिस पर दवाब डालने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें डर है कि इस मामले में समझौता के लिए दवाब डाला जा सकता है इसलिए इसकी निष्पक्ष जांच होना बेहद जरूरी है। इस पर पुलिस अधीक्षक ने आश्वस्त किया कि परिजनों ने पूछताछ के लिए गांव में कोई पुलिसकर्मी नहीं जाएगा। एसपी से मिलने वालों में उनकी प|ी के अलावा सुनील सरपंच, सुनील कुमार, मीना देवी, ममता, मनोज कुमार, कपिल कुमार, उदयवीर सिंह, दिनेश कुमार, कुलदीप सिंह एवं चरणसिंह शामिल रहे।

अमरसिंह सुसाइड केस

2013 में लिया 80 हजार ऋण, 65 हजार हो गया ब्याज : उधर, अमरसिंह द्वारा आत्महत्या करने के बाद इस मामले में बैंक प्रबंधन में भी हड़कंप मचा हुआ है। बैंक अधिकारियों के अनुसार अमरसिंह एवं उनकी प|ी निर्मला ने वर्ष 2013 में पंजाब नेशनल बैंक की जलियावास शाखा से 80-80 हजार रुपए ऋण लिया था। इस ऋण पर 65 हजार रुपए ब्याज बनता है। बैंक प्रबंधक सुरेंद्र कुमार ने बताया कि इस मामले में सितंबर 2019 में निर्मला की तरफ से वन टाइम सेटलमेंट योजना के तहत ऋण जमा कराने का आश्वासन देते हुए 10 हजार रुपए जमा कराए थे। सेटलमेंट के तहत उन्हें मूलधन ही राशि जमा करानी थी लेकिन यह राशि जमा नहीं होने से बाद में मामला अदालत में चला गया था।

{एसपी बोले- परिजनों पर नहीं होगा समझौते का दबाव, निष्पक्ष जांच होगी

रेवाड़ी में पुलिस अधीक्षक से मुलाकात करते मृतक अमरसिंह के परिजन।

X
Kosli News - haryana news outpost incharge and head constable line up sit led by dsp will investigate
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना