पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Bilaspur News Haryana News Rama Avantibai Of Ramgarh In Inklab Temple On The Day Of Sacrifice

इंकलाब मंदिर में रामगढ़ की रानी अवंतीबाई को बलिदान दिवस पर किया नमन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जठलाना | इंकलाब मंंदिर में वीरांगना रानी अवंतीबाई का बलिदान दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में सोसाइटी सदस्यों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर अवंतीबाई की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। सोसाइटी के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट वरयाम सिंह ने कहा कि 1857 की क्रांति में रामगढ़ की रानी अवंतीबाई रेवांचल में मुक्ति आंदोलन की सूत्रधार थीं। उन्होंने अंग्रेजों से डटकर लोहा लिया। मार्च 1858 में निर्णायक लड़ाई हुई। अंग्रेजों ने रामगढ़ का किला तहस-नहस कर दिया। अंग्रेजी सेना के साथ लड़ते-लड़ते रानी बुरी तरह से घायल हो चुकी थी। आत्मसम्मान की रक्षा के लिए रानी ने घुनसी नाले के निकट खुद ही कटार घोंप आत्मबलिदान कर दिया।
खबरें और भी हैं...