सिकंदरपुर में जमीन पर लोन लेने के बाद बेचा, पटवारी और बैंक कर्मी पर केस दर्ज

Jhajjar News - सिकंदरपुर में सात साल पहले हुए एक जमीन के सौदे में धोखाधड़ी सामने आई है। जमीन के मालिक ने लाखों का लोन लेकर जमीन को...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:00 AM IST
Jhajjar News - haryana news sold after taking loan on land in sikanderpur case filed against patwari and bank worker
सिकंदरपुर में सात साल पहले हुए एक जमीन के सौदे में धोखाधड़ी सामने आई है। जमीन के मालिक ने लाखों का लोन लेकर जमीन को आगे बेच दिया। जमाबंदी से जमीन के घोटाले का पता चला। वर्ष 2009 में 20 लाख रुपए लिया, यह राशि अब बढ़कर 40 लाख रुपए हो गई है। खरीददार ने जमीन के मालिक व केस से जुड़े दूसरे लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित कई संगीन धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। गुरुग्राम के रहने वाले कपिल सोनी ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वे सोनी रीयलेस्टर लि. के निदेशक है। वर्ष 2013 में सिकंदरपुर के महिपाल से जमीन खरीदी थी, जमीन का खेवट संख्या 03 खाता सख्या-03, मुस्तित 13, किला नंबर 0-22 एंव 23 है। यह जमीन तकरीबन 16 कैनाल है। जमीन की रजिस्ट्री लाडो देवी ने कराई, आरोप है कि जमीन के बेचने के दौरान यह नहीं बताया गया कि इस जमीन पर लोन भी है। इसी जमीन की ऑनलाइन जमाबंदी निकलवाई, तब पता चला कि जमीन पर वर्ष 2009 में 20 लाख रुपए का लोन है, जो अब बढ़कर 40 लाख रुपए हो गया है। प्रभावित निदेशक का आरोप कि जब उनकी रजिस्ट्री हुई, तब जमाबंदी के दस्तावेजों में किसी प्रकार का लोन नहीं था। जबकि लोन ग्रामीण बैंक से लिया हुआ था। कायदे से यदि किसी जमीन पर लोन होता है, तब बैंक की ओर से इसके बारे में राजस्व विभाग को अवगत कराया जाता है। साथ ही इसका हवाला भी जमाबंदी के रिकाॅर्ड में दर्ज होता है, ताकि जमीन की बिक्री के दौरान इस बात की जानकारी रहे कि जमीन के बदले में लोन है। और यदि यह नहीं चुकाया जाएगा, तब बैंक कानूनी कार्रवाई कर जमीन को अपने कब्जे में लेकर पैसे की रिकवरी के लिए नीलामी करा सकता है। इस लिहाजा से मामले में बेचने वालों से लेकर राजस्व विभाग और बैंक कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध है।

आरोपी ने आश्वासन के बाद भी नहीं भरा लोन का पैसा

प्रभावित कपिल का कहना है कि हाल ही में जब उनको पता चला कि जमीन पर लोन है। तब उन्होंने महिपाल से संपर्क किया। इस पर महिपाल ने अपनी मां का शपथ पत्र दिया कि वे लोन को क्लियर कर देंगे। इस प्रकार से बार बार भरोसा दिए जाने के बाद लोन की राशि भरी नहीं गई, जिस पर अब जमीन बेचने वाले, संबंधित पटवारी एवं बैंक कर्मचारियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 406 व 120 के तहत केस दर्ज कराया गया है।

X
Jhajjar News - haryana news sold after taking loan on land in sikanderpur case filed against patwari and bank worker
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना