• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Rewari
  • Kosli News haryana news the coaches will not be able to kill the team formed by the sports department can do the investigation anytime action will be taken if they are absent

कोच नहीं मार सकेंगे फरलो, खेल विभाग की बनाई टीम कभी भी कर सकती है जांच, गैर हाजिर मिले तो होगी कार्रवाई

Rewari News - खेल प्रशिक्षक अब ड्यूटी के दौरान फरलो नहीं मार सकेंगे। उनको सेंटर पर प्रशिक्षण समय के दौरान उपस्थित रहना ही...

Dec 04, 2019, 08:11 AM IST
Kosli News - haryana news the coaches will not be able to kill the team formed by the sports department can do the investigation anytime action will be taken if they are absent
खेल प्रशिक्षक अब ड्यूटी के दौरान फरलो नहीं मार सकेंगे। उनको सेंटर पर प्रशिक्षण समय के दौरान उपस्थित रहना ही पड़ेगा। क्योंकि राज्य के खेल मंत्री के निर्देश पर विभाग की ओर से टीम का गठन किया जा रहा है। अगर इस टीम के निरीक्षण में कोई कोच गैर हाजिर मिलता है तो उस पर सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है। ऐसा इसलिए कि पिछले दिनों खेल मंत्री संदीप सिंह के अचानक निरीक्षण के दौरान एक जगह राजीव गांधी खेल स्टेडियम में कोच गैर हाजिर मिले थे। जिन पर कार्रवाई करते हुए उनको सस्पेंड भी कर दिया था। कुरूक्षेत्र में खेल मंत्री ने खेल निदेशक के साथ ही जिला खेल अधिकारियों की बैठक लेकर उनको जरूरी निर्देश भी दिए। वहां खेलों को लेकर कई जरूरी कदम उठाने की बात कही गई। जिनमें खिलाड़ियों की हाजिरी के लिए भी एक ऐसी योजना बन रही है कि एक जगह से ही देखा जा सकेगा कहां कितने खिलाड़ी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

नियमित देनी होगी कोचिंग, खिलाड़ियों का भी रखना होगा रिकॉर्ड

डीएसओ परसराम का कहना है कि अब प्रत्येक प्रशिक्षक को अपने प्रशिक्षण समय के दौरान सेंटर पर उपस्थित रहना होगा। कई बार कोच नहीं रहते और बच्चे बिना प्रशिक्षक के ही ट्रेनिंग प्राप्त कर रहे हाेते हैं। ऐसे में उनका प्रदर्शन भी प्रभावित होता है। साथ ही नई तकनीक भी सीख नहीं पाते हैं। इसलिए अब एेसा किया जा रहा है। प्रशिक्षकों को उनके पास कितने बच्चे प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं, यह रिकॉर्ड भी रखना होगा। उनके नाम से रजिस्टर भी मेंटेन करना पड़ेगा अौर उनकी हाजिरी भी लगेगी।

जिले में चल रहे 5 राजीव गांधी खेल परिसर यहां जिले में शहर के राव तुलाराम स्टेडियम के अलावा 5 राजीव गांधी खेल परिसर चल रहे हैं, जिनमें कोसली, गुरावड़ा, धारूहेड़ा, आशियाकी पांचौर व मनेठी शामिल हैं। इसके अलावा कंवाली में मिनी हॉकी खेल स्टेडियम, बावल खेल परिसर तथा कई गांवों में भी ग्रामीण खेल परिसर बनाए जा रहे हैं।

इधर, जिले में 14 में से 4 नर्सरियां बंद : डीएसओ ने बताया कि जिले में 14 स्वर्ण जयंती खेल नर्सरियां खोली गई थी। जिनमें 4 में निरीक्षण के दौरान अनियमितताएं मिली। इनमें कहीं कोच नहीं था तो कहीं खिलाड़ी मानक अनुसार नहीं मिले। इसलिए इनको बंद कर दिया गया। अब जिले में 10 ही नर्सरियां चल रही है। डीएसओ ने बताया कि जल्द ही जो नर्सरियां चल रही हैं, उनके कोच व वहां प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे बच्चों का बजट जारी हो जाएगा। डीएसओ ने यह भी बताया कि बैठक में कहा गया है कि हर तीन माह में नर्सरियों की समीक्षा होनी चाहिए। अगर कहीं कोई अनियमितता मिलती है तो उन नर्सरियों को बंद भी किया जा सकता है।

X
Kosli News - haryana news the coaches will not be able to kill the team formed by the sports department can do the investigation anytime action will be taken if they are absent
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना