शहर ओडीएफ पर 20 से ज्यादा सार्वजनिक शौचालयों की हालत खस्ता

Sirsa News - शहरी क्षेत्र में स्थित सार्वजनिक शौचालयों की हालत खस्ता है और 20 से अधिक शौचालयों में तो बिजली और पानी का कनेक्शन तक...

Dec 04, 2019, 08:47 AM IST
शहरी क्षेत्र में स्थित सार्वजनिक शौचालयों की हालत खस्ता है और 20 से अधिक शौचालयों में तो बिजली और पानी का कनेक्शन तक भी नहीं है। लेकिन इसके बावजूद सिरसा और डबवाली को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित कर दिया गया है। इतना ही नहीं शहर के ट्रेड टॉवर मार्केट स्थित सार्वजनिक महिला शौचालय में तो पुरुषों के लिए प्रयोग होने वाले सिंथेटिक यूरीन स्टैंड तक लगा दिए गए।

जिला को खुले में शौच मुक्त की स्थिति जानने के लिए स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम ने शहर का निरीक्षण किया था। 4 और 5 नवंबर को स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम ने शहर के विभिन्न सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति का जायजा लिया। इतना ही नहीं रेलवे लाइन, ऑटो मार्केट, नहर किनारे और आसपास के क्षेत्रों में सुबह-शाम निरीक्षण कर परखा गया था कि यहां के लोग खुले में शौच जाते हैं या नहीं। उस सर्वेक्षण का अब परिणाम जारी किया गया है। इसमें सिरसा और डबवाली को ओडीएफ यानी खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया गया।

ट्रेड टॉवर मार्केट स्थित पुरुष सार्वजनिक शौचालय की स्थिति।

सार्वजनिक शौचालय में लगाए गए पुरुष सिंथेटिक यूरिन स्टैंड।

शौचालयों की रिपेयर और साज सज्जा के लिए ठेका जारी होने के बाद भी नहीं सुधार

बाजारों में स्थित सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति से नगर परिषद के अधिकारी भली-भांति परिचित भी हैं। इसलिए 20 से अधिक शौचालयों की रिपेयर और साज-संभाल का ठेका भी जारी किया गया था। लेकिन अभी इनका सुधार नहीं हो पाया है। न तो इन शौचालयों की रिपेयर हो पाई है और न ही इनमें साफ-सफाई की व्यवस्था है। शहर के कई सार्वजनिक शौचालय तो ऐसे हैं जिनमें बिजली और पानी का कनेक्शन भी अभी तक नगर परिषद प्रशासन उपलब्ध नहीं करवा पाया है।

ओडीएफ घोषित हो गया है सिरसा: विजय कुमार


शाम होते ही अनाज मंडी के शौचालयों पर लग जाता है ताला

अनाज मंडी में 4 शौचालय इस समय संचालित हैं। प्रावधान है कि ये शौचालय 24 घंटे खुले रहेंगे। इस समय धान का सीजन चल रहा है और पूरी रात काम चलता है। इसलिए रात के समय भी शौचालयों का संचालन बेहद जरूरी है। मंडी मजदूरों राम सिंह, रामू, बलराम, तेज प्रताप, बलराम ने बताया कि शाम होते ही सार्वजनिक शौचालयों पर ताला लगा दिया जाता है। इस कारण रात के समय शौच आदि जाने के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सुबह 5:50 या 6 बजे के बाद ही शौचालयों का ताला खोला जाता हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना