• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Jhajjar
  • Bahadurgarh News haryana news the welfare association which is guarding the sectors to stop water theft said detect the thieves and take action

सेक्टरों के पानी की चोरी रोकने को पहरा दे रही वेलफेयर एसोसिएशन, कहा- चोरों का पता लगाकर कार्रवाई करें

Jhajjar News - हुडा के सेक्टरों में जा रहे माइनर के पानी की सप्लाई को रोकने का प्रयास स्थानीय सेक्टरवासियों के सहयोग से किसी तरह...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:26 AM IST
Bahadurgarh News - haryana news the welfare association which is guarding the sectors to stop water theft said detect the thieves and take action
हुडा के सेक्टरों में जा रहे माइनर के पानी की सप्लाई को रोकने का प्रयास स्थानीय सेक्टरवासियों के सहयोग से किसी तरह से कर लिया गया। पर पानी चोरी फिर से नहीं हो इसके लिए हुडा अधिकारियों के साथ-साथ सेक्टर वेलफेयर कमेटी के सदस्य रात भर माइनर की तरफ निगाह बनाए रखी। जिससे रात को फिर कोई सेक्टरों के लिए जा रही पेयजल लाइन को बंद करने का प्रयास नहीं कर सके, जैसा कि दो दिनों से रात के समय हो रहा था। अब हुडा के सेक्टरों में प्रयाप्त पानी की सप्लाई का सिलसिला सामान्य होने के बाद एक सप्ताह बाद शहर में पेयजल सप्लाई प्रभावित होने की संभावना बढ़ गई है। इस मौके पर महिपाल गुलिया संरक्षक, वेलफेयर एसोएसिशन और सदस्य आशीष कानौंदा, सुरेश कालड़ा, गोविंद, मनोज और मंजीत मौजूद थे, जिन्होंने प्रशासन पानी चोरी करने वालों का पता लगाकर सख्त कार्रवाई की मांग की, ताकि ऐसी हरकत दोबारा न हो सके।

सिंचाई विभाग के अधिकारी माइनर काे पक्का कराने की तैयारी में जुटे

शहर में पेयजल की सप्लाई के लिए जितना पानी चाहिए उससे आधा भी माइनर से जनस्वास्थ्य विभाग के टैंकाें में नहीं पहुंच रहा। अभी तक हुडा के सेक्टरों की तरफ जाने वाले पानी की लाइन में कुछ रुकावट आने के कारण शहर में पेयजल का संकट कुछ कम हुआ था पर अब हुडा के सेक्टरों में पानी की सप्लाई सामान्य होने से भविष्य में शहर की काॅलोनियों में पानी की सप्लाई का काम तेजी से प्रभावित होगा। माइनर में चाहिए करीब 25 क्यूसिक पानी मिल रहा है। 12 से 14 क्यूसिक पानी उसमें से भी 57 फीसदी पानी सेक्टरों को जा रहा है, बचा हुआ पानी ही शहर के हिस्से में आता है। शहर में पेयजल की मात्रा को बढाने के लिए सिंचाई विभाग माइनर को पक्का करने की तैयारी में है। इसके लिए सीएम मनोहर लाल ने पांच करोड़ तक की स्वीकृति दी हुई है। इसके बावजूद सुनवाई नहीं हो रही। इस बारे में अभी अधिकारी कह रहे हैं प्रयाप्त पानी है, लेकिन अब जिस तरह से पानी की सप्लाई में कमी आएगी तो एक सप्ताह के बाद इसका संकट खड़ा होना शुरू हो जाएगा।

जमीनी पानी अधिक खारा होने से नहरी सप्लाई प्रभावित

लाइनपार क्षेत्र के बूस्टर नंबर-1 की शंकर गार्डन, पटेल पार्क व विकास नगर का कुछ हिस्सा, जौहरी नगर, हरी नगर, फ्रैंडस कॉलोनी, वत्स कॉलोनी, पंचमुखी चौक, नाहरा-नाहरी रोड के साथ लगते कुछ हिस्से में पानी की सप्लाई दी जाती है। और पानी मिलता है तो सुभाष नगर, विकास नगर, कमल विहार, बिहारी कॉलोनी, बहराणिया बस्ती, शंकर गार्डन गली नंबर-7 के कुछ हिस्से में व 22 फुटा रोड के साथ लगते क्षेत्र में पानी सप्लाई दी जाती है। ऐसे में लोगों को पेयजल के लिए भटकना पड़ता था पर अब शहर की तेजी से बढ़ रही आबादी के कारण पानी की खपत भी तेजी से बढ़ी है। बहादुरगढ़ का जमीनी पानी अत्यधिक खारा होने के चलते पूरे क्षेत्र की प्यास केवल नहरी पानी की सप्लाई पर प्रभावित है।

टैंकाें में पानी की कमी नहीं


सालाना बढ़ रही पानी की खपत

कच्चे पानी की कमी से शहर में बना पेयजल का संकट पिछले पन्द्रह सालों से लगातार बढ़ रहा है। बार-बार बहादुरगढ़ माइनर टूटने के कारण मुख्य जलघर के टैंकों में नाममात्र पानी बचता है। यहां के सभी पांच टैंकों को मिलाकर पचास फीसद पानी की ही स्टोरेज रहता है। ऐसे में जितना पानी माइनर से मिल रहा है, वह लगातार शहर में सप्लाई किया जा रहा है। कई दिनों से शहर के जिन हिस्सों से पानी नहीं मिलता वहां दो से तीन दिनों में एक बार पानी की सप्लाई होती है। वैसे विभाग की ओर से बूस्टर नंबर-1 के लिए जो 11 जोन बनाए हुए हैं उनमें से कई जोन में सुबह से दोपहर तक पानी की सप्लाई दी जाती है। बूस्टर नंबर-2 से भी पेयजल आपूर्ति बाधित रही। अब जिस तरह से पानी की सप्लाई प्रभावित होने की संभावना है उसके चलते जल्द ही यहां के भरे हुए टैंक धीरे धीरे कम होने लगेंगे। लाइनपार क्षेत्र में दो बुस्टर पंप बनाए हुए हैं। इनमें एक नंबर बूस्टर बराही फाटक पटेल पार्क की तरफ बना हुआ है। तो दूसरा शास्त्री नगर में परनाला के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के नजदीक है। दोनों बूस्टरों से अलग-अलग वार्डो में पानी की सप्लाई होती है। अलग-अलग जोन बनाए गए हैं। ज्यादा हिस्सा बूस्टर नंबर-1 से जोड़ा हुआ है। पटेल पार्क बूस्टर टैंक में पानी न होने के कारण 15 कालॉनियों में पानी की किल्लत हमेशा बनी रहती है।

X
Bahadurgarh News - haryana news the welfare association which is guarding the sectors to stop water theft said detect the thieves and take action
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना