गुरदास मान के गीतों पर थिरके पर्यटक

Kurukshetra News - छल्ला नौ-नौ थैवे व पुत्र मिठड़े मैवे और मांवा ठंडियां छावां लोक गीतों की प्रस्तुति पर हजारों दर्शक झूम उठे।...

Dec 04, 2019, 08:12 AM IST
छल्ला नौ-नौ थैवे व पुत्र मिठड़े मैवे और मांवा ठंडियां छावां लोक गीतों की प्रस्तुति पर हजारों दर्शक झूम उठे। तालियां बजाकर प्रसिद्ध गायक गुरदास मान का अभिवादन किया। गुरदास मान ने अपने गीतों से कुरुक्षेत्र की पावन धरा का गुणगान करने के साथ-साथ सिखों की शहीदियों का बखान भी किया। गीता महोत्सव के मुख्य पांडाल में कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड व एनजेडसीसी पटियाला तरफ से मुख्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन मंगलवार को देर शाम शुरू हुआ।

पहले दिन गायक गुरदास मान और उत्तराखंड पार्टनर राज्य के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियां दी। शुभारंभ सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल, विधायक सुभाष सुधा, डीसी डॉ. एसएस फुलिया, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा, गायक गुरदास मान, नगर परिषद की अध्यक्षा उमा सुधा, भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट, एडीसी पार्थ गुप्ता, सीईओ केडीबी गगनदीप सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया। मुख्य मंच पर जैसे ही गायक गुरदास मान पहुंचे तो श्रोताओं ने तालियों से स्वागत किया। गुरदास मान ने अरदास अंदर तूं, मेरे रोम-रोम च तूं वसदां, ना जाने किस वेष में नारायण मिल जाए, सबसे बड़ा सतगुरु नानक से आगाज किया। इस अरदास के साथ ही गुरदास मान ने दर्शकों के दिलों में बसने वाले गीत छल्ला की प्रस्तुति दी। इसी दौरान मान ने कुरुक्षेत्र की धरा को शीश नवाया। कहा कि अगर प्यार करना है तो देश के साथ करो। गीतों के शब्दों में सिखों की शहीदियों के बारे में भी विस्तार से बताया। मौके पर केडीबी सदस्य सौरव चौधरी, रविन्द्र सांगवान, राजेन्द्र परासर, उपेन्द्र सिंघल सहित अन्य सदस्य और अधिकारी मौजूद थे।


कुरुक्षेत्र. अंतर राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव में मंगलवार शाम को आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रस्तुति देते पंजाबी गायक गुरदास मान।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना