• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Rewari
  • Kosli News haryana news with the account number for online payment 46 thousand were withdrawn from the account in the second incident fake bank officials became cheated rs15 thousand

ऑनलाइन पेमेंट के लिए अकाउंट नंबर लेकर खाते से निकाले 46 हजार, दूसरी वारदात में फर्जी बैंक अधिकारी बन Rs.15 हजार ठगे

Rewari News - साइबर ठगी की वारदातों में लगातार इजाफा हो रहा है। ऑनलाइन पेमेंट के नाम पर धारूहेड़ा के एक प्रिटिंग प्रेस संचालक के...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:13 AM IST
Kosli News - haryana news with the account number for online payment 46 thousand were withdrawn from the account in the second incident fake bank officials became cheated rs15 thousand
साइबर ठगी की वारदातों में लगातार इजाफा हो रहा है। ऑनलाइन पेमेंट के नाम पर धारूहेड़ा के एक प्रिटिंग प्रेस संचालक के खाते से शातिर बदमाशों ने 46 हजार रुपए ट्रांसफर कर लिए जबकि दूसरी घटना में फर्जी बैंक अधिकारी बनकर 15 हजार रुपए निकाल लिए। ठगी की दोनों घटनाओं की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

केस-1 : पेमेंट आने की बजाय खाते से कट गए पैसे

पुलिस को दी शिकायत में धारूहेड़ा के सोहना रोड निवासी नीरज कुमार ने बताया कि उसने प्रिंटिंग प्रेस की दुकान की हुई है। अगस्त माह में उसके पास फोन आया कि वह कुछ प्रिंटिंग का काम कराना चाहता है। दोनों के बीच बातचीत होने के बाद शातिर युवक ने उससे नेट बैंकिंग के जरिए पेमेंट देने की बात कही, पहले तो नीरज ने इसे मना कर दिया लेकिन बाद में नीरज इसके लिए सहमत हो गया। उसके बाद नीरज ने अपने खाता नंबर बता दिया, कुछ देर बाद दोबारा से फोन आया कि आपका अकाउंट काम नहीं कर रहा। आपके पास गूगल या पे-फ़ोन पर भेज देता हूं, उसके लिंक को रिसीव करके अपने खाते की जानकारी भर दे। तत्पश्चात आरोपी का दोबारा से फोन आया कि मैंने आपके पास राशि भेज दी है, आप इसे रिसीव कर ले। इसके बाद जैसे ही उसने अपना अकाउंट ओपन किया तो उसमें से 46 हजार रुपए कट गए।

केस-2 : कार्ड बंद होने का झांसा देकर ली जानकारी

दूसरी घटना में रोहतक निवासी एक युवक से शातिर बदमाशों ने बैंक अधिकारी बन पिन नंबर पूछ लिए तथा उसके खाते से करीब 15 हजार रुपये की नकदी निकाल ली। मोबाइल पर पैसे आने के बाद ठगी का पता लगा। पुलिस को दी शिकायत में रोहतक के गांव गिरवाड निवासी अशोक कुमार ने बताया कि वह एक कंपनी में कार्य करता है तथा मालपुरा गांव में रहता है। उन्होंने बताया उसका केनरा बैंक में बचत खाता है। उसके पास 7 सिंतबर को मोबाइल पर एक व्यक्ति का फाेन आया तथा बताया कि वह बैंक हैड ऑफिस से बोल रहा है। उसका एटीएम कार्ड बंद होने वाला है तथा कार्ड को अपडेट करना होगा। अशोक कुमार ने शातिर की बातों पर विश्वास कर लिया तथा उसे बैंक खाता नंबर व पिन नंबर बता दिए। ज्यों ही उसने अपने पिन नंबर की जानकारी दी, उसके खाते से 15 हजार रुपये कट गए। जब उसके खाते से मोबाइल पर नकदी कटने से का मैसेज आया तो उसे ठगी का अहसास हुआ। अशोक कुमार ने इसकी शिकायत सेक्टर छह पुलिस को दी। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है।

गढ़ी बोलनी रोड पर शटर उखाड़कर एटीएम तोड़ने की कोशिश कर रह थेे, पुलिस ने मौके पर ही पकड़ा

भास्कर न्यूज | रेवाड़ी

मॉडल टाउन थाना पुलिस की मुस्तैदी से शुक्रवार सुबह शहर के गढ़ी बोलनी रोड पर एक एटीएम टूटने से बच गया। गढ़ी बोलनी रोड पर गश्त कर रही है पुलिस ने जब ओरियंटल बैंक शाखा परिसर में लगे एटीएम का शटर उठा तो देखा तो शक हुआ। इसके बाद जब पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे तो वहां पर दो युवक एटीएम मशीन को तोड़ने का प्रयास कर रहे थे। अचानक पुलिस को सामने देखकर आरोपी युवक भी हक्का-बक्का रह गए तथा उनको बचाव का समय तक नहीं मिला। पुलिस ने दोनों युवकों को गिरफ्तार करके वारदात में प्रयुक्त उपकरण बरामद कर लिए हैं। एक युवक को रिमांड पर लिया है।

पुलिस समझती थी बाहर का गिरोह, स्थानीय ही निकला

मॉडल टाउन थाना प्रभारी बिजेंद्र सिंह ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब 3 बजे राजेश पायलट चौक पर तैनात रहने वाली पीसीआर गश्त पर थी। चौक से चंद कदम की दूरी पर ओरियंटल बैंक की शाखा तथा एटीएम है। जब पीसीआर मॉडल टाउन की तरफ आ रही थी तभी एटीएम का शटर उठा हुआ मिला, जिससे पुलिस कर्मियों को कुछ शक हुआ। उन्होंने बताया कि इतनी सुबह एटीएम बूथ में गतिविधि देखकर पुलिसकर्मियों को शक यकीन में बदल गया कि संभवत: कोई एटीएम तोड़ने वाले ही है। इसके बाद पुलिस पूरी मुस्तैदी के साथ एटीएम के अंदर पहुंची तो दो युवक एटीएम को तोड़ने का प्रयास कर रहे थे, पुलिसकर्मियों ने उनको पहुंचते ही दबोच लिया। पुलिस ने जब उनको हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपियों ने अपना नाम गुजरीवास गांव निवासी रोहित तथा शहबाजपुर खालसा निवासी तेजपाल बताया। एटीएम तोड़ने वाले में स्थानीय युवकों के शामिल होने पर पुलिस अचंभित रह गई क्योंकि अभी तक शहर तथा जिला में जितनी भी वारदात हुई है उनमें अधिकांश खुलासा नहीं हुआ है। इसकी वजह पुलिस मानती थी कि संभवत: कोई बाहर का गिरोह आकर इन वारदातों को अंजाम देता है।

तेजपाल को लिया रिमांड पर, स्वीकार की कई वारदात

पुलिस ने बताया कि वारदात में शामिल शहबाजपुर खालसा निवासी तेजपाल इस पूरे गिरोह का मास्टर माइंड है। प्रारंभिक जांच में उसने शहर में तीन से अधिक एटीएम तोड़ने की वारदात को स्वीकार किया है। इसके बाद पुलिस ने उसे अदालत में पेश करके रिमांड पर लिया है। रिमांड के दौरान शहर के अलावा जिला के अन्य क्षेत्रों में हुई वारदातों के बारे में भी पूछताछ की जाएगी।

एटीएम तोड़ने की 22 से अधिक वारदात, ज्यादातर अनसुलझी : डेढ़ साल के दौरान एटीएम तोड़कर पैसा निकालने की 22 से अधिक वारदात हुई जिनमें अभी तक ज्यादातर अनसुलझी हंै। शहर के बावल चौक से 17 लाख रुपए सहित एटीएम उठा ले गए थे। इसके अलावा शहर के केवल बाजार, सेक्टर तीन, भाड़ावास रोड, नारनौल रोड सहित कोसली व जाटूसाना में काफी वारदात हुई है। अधिकांश का खुलासा नहीं हुआ है।

रेवाड़ी में गिरफ्तार किए गए एटीएम तोड़ने के आरोपी।

X
Kosli News - haryana news with the account number for online payment 46 thousand were withdrawn from the account in the second incident fake bank officials became cheated rs15 thousand
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना