लड़कियों से भेदभाव की जगह उनके सपनों को होनेे दें साकार

Gurgaon News - गुड़गांव. सिधरावली में बेटियों को लेकर नाटक प्रस्तुत करते कलाकार। भास्कर न्यूज | गुड़गांव हमारा देश विश्व पटल...

Nov 10, 2019, 07:25 AM IST
गुड़गांव. सिधरावली में बेटियों को लेकर नाटक प्रस्तुत करते कलाकार।

भास्कर न्यूज | गुड़गांव

हमारा देश विश्व पटल पर तेजी से नित नए आयाम रच रहा है लेकिन बावजूद इन सब के भारतीय समाज में पितृ सत्तात्मक संस्कृति हावी है। जिस कारण से आज भी महिलाओं के साथ भेदभाव किया जाता है। जिसको लेकर जनजागृति फैलाने के उद्देश्य से संस्था ब्रेकथ्रू और महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से गुड़गांव के पटौदी ब्लॉक स्थित सिधरावाली में रात्रि चौपाल आयोजित किया गया। इस दौरान किसकी होगी जीत नाटक में दिखाया गया कि हम लड़कियों व लड़कों में भेदभाव करते हैं, जिसके कारण लड़कियां अपने सपनों को पूरा नहीं कर पाती। समाज में लड़कियों को हमेशा पराया धन कहा जाता है उन्हें बोझ समझा जाता है। रूढ़िवादी मानसिकता के कारण जहां हम लड़कों की पढ़ाई लिखाई पर रुपए खर्च करते हैं वहीं लड़कियों की शादी पर पैसे खर्च करते हैं। हमारी मानसिकता ऐसी बन गई है कि हम एक बार भी अपनी लड़कियों से नहीं पूछते कि उसकी आशाएं क्या हैं। प्रोग्राम के दौरान-लड़की हाथ से निकल जाएगी लघु फिल्म दिखाकर सामंती मानसिकता पर चोट करते हुए संदेश दिया गया कि सभी माता-पिता अपनी लड़कियों को पढ़ाना चाहते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना