एनजीटी लगातार बंधवाड़ी प्लांट की कर रही है माॅनिटरिंग, निगम अफसर प्रेशर में कर रहे काम

Faridabad News - शहर में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्ट करने वाली ईको ग्रीन कंपनी के कामकाज से सरकार खुश नहीं है। कंपनी को अपने काम में सुधार...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:15 AM IST
Faridabad News - ngt is continuously monitoring bandhwadi plant corporation officers are working in pressure
शहर में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्ट करने वाली ईको ग्रीन कंपनी के कामकाज से सरकार खुश नहीं है। कंपनी को अपने काम में सुधार लाने के लिए एक माह का अल्टीमेटम दिया है। इसके बाद सरकार एज पर लॉ कंपनी को ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई कर सकती है। यह फैसला शनिवार को दिल्ली के हरियाणा भवन में बुलाई गई बैठक में शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण ने लिया। बैठक में कंपनी के उच्चाधिकारी समेत फरीदाबाद और गुड़गांव नगर निगम के अधिकारी भी तलब किए गए थे। उन्होंने निगम अफसरों पर भी नकेल कसी। आनंद मोहन ने कहा कि निगम अधिकारी विजिलेंस जांच की तरह कंपनी के कामकाज की मॉनिटरिंग करें और सरकार को रिपोर्ट भेजें। कंपनी अधिकारियों को निशाने पर लेते हुए कहा कि एनजीटी की सीधी नजर फरीदाबाद और गुड़गांव पर है। लगातार सफाई व्यवस्था की मॉनिटरिंग हो रही है। अधिकारी प्रेशर में काम कर रहे हैं। लेकिन कंपनी है कि कोई सुधार लाना नहीं चाहती। अब ऐसा नहीं चलेगा। करीब पौने दो घंटे तक चली बैठक में अतिरिक्त प्रधान सचिव ने निगम अधिकारियों से कंपनी के हिसाब से पैसे भी काटने का आदेश दिया। उन्होंने कहा यदि कंपनी की कहीं लापरवाही नजर आए तो अपने मैनपॉवर से वहां सफाई कराएं और कूड़ा उठवाएं। उसका खर्च कंपनी के हिसाब से काटा जाए।

फरीदाबाद और गुड़गांव नगर निगम के कमिश्नर समेत अन्य अधिकारी रहे मौजूद

इतनी बड़ी कंपनी का मैनेजमेंट है फेल

निगम सूत्रों के अनुसार अतिरिक्त प्रधान सचिव ने कंपनी अधिकारियों की क्लास लगाते हुए कहा कि डेढ़ साल से कंपनी फरीदाबाद और गुड़गांव में काम कर रही है। सरकार से हुए समझौते के तहत काम आज भी नहीं हो पा रहा है। न कंपनी ने वाहनों की संख्या बढ़ाई न डंपिंग साइटों को कम किया। उन्होंने कहा कि कंपनी अफसरों में काम करने की इच्छा शक्ति नहीं है। इससे साफ है कि कंपनी का मैनेजमेंट पूरी तरह से फेल है।

हड़ताल कंपनी की समस्या, निगम की नहीं

उन्होंने कंपनी अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि आपके कर्मचारी हड़ताल करते हैं तो यह कंपनी की समस्या है। नगर निगम का इससे कोई लेना देना नहीं है। शहर में काम करना है तो कंपनी को काम में सुधार लाना होगा। जब तक शहरवासी सफाई से संतुष्ट न हों तो यह मानकर चलिए कि कंपनी ठीक से काम नहीं कर रही है। कंपनी की लापरवाही से निगम को जलालत झेलनी पड़ती है।

रोज डंपिंग साइटों से उठे कूड़ा

निगम सूत्रों ने बताया कि अतिरिक्त प्रधान सचिव ने कंपनी अधिकारियों से चेतावनी भरे लहजे में कहा कि शहर की सभी डंपिंग साइटों से रोज कूडा़ प्रॉपर वाहनों से उठना चाहिए। कंपनी अपने संसाधन बढ़ाए। वाहनों की संख्या बढ़ाए ताकि डोर टू डोर कूड़ा कलेक्ट हो और डंपिंग साइटों से बंधवाड़ी प्लांट तक कूड़ा प्रॉपर तरीके से पहुंचे। नगर निगम अधिकारी नियमित डंपिंग साइटों की चेंकिंग करेंगे और रिपोर्ट दंेगे।

ग्रेटर फरीदाबाद में डंपिंग साइट तलाशने के आदेश: अतिरिक्त प्रधान सचिव ने नगर निगम अधिकारियों को आदेश दिया है कि ग्रेटर फरीदाबाद में जो हुडा की जमीन है उनके अधिकारियों से बात कर करीब एक-दो एकड़ जमीन में वैकल्पिक डंपिंग साइट बनाई जाए। यहां दो तीन महीने कूड़ा डंप कर उसकी छंटनी कराएं ताकि बंधवाड़ी में जमा कूड़े के ढेर में जगह बनाई जा सके। निगम अधिकारियों ने कहा कि प्रधानमंत्री की रैली के बाद हुडा अधिकारियों से बात की जाएगी।

बंधवाड़ी प्लांट। फाइल फोटो

अब ब्लूटूथ प्रिंटर से मिलेगी पर्ची, तभी दें शुल्क

ईकोग्रीन कंपनी के अधिकारी रवि त्रिवेदी ने बताया कि कंपनी ने वार्ड नंबर 6, 7, 8, 9, 11, 16 और 18 में ब्लूटूथ प्रिंटर से रसीद देने की प्रक्रिया शुरू की है। अब कंपनी के कर्मचारी मौके पर ही मशीन से प्रिंटेड रसीद निकालकर उपभोक्ता को देंगे। इससे अवैध वसूली की शिकायत पर रोक लग जाएगी। उन्होंने शहरवासियों से कहा यदि उक्त वार्डों में किसी उपभोक्ता को प्रिंटेड पर्ची नहीं मिल रही है तो वह शुल्क न जमा करें। उन्होंने यह भी बताया कि कंपनी ने 60 वाहन खरीदने के ऑर्डर दिए हैं। अभी फंड की दिक्कत चल रही है।












फाइल फैक्ट

X
Faridabad News - ngt is continuously monitoring bandhwadi plant corporation officers are working in pressure
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना