• Hindi News
  • Haryana
  • Gurgaon
  • Sohna News section 144 1000 security forces implemented flag march in mewat internet service disrupted throughout the day school college closed

मेवात में लागू हुई धारा 144, 1000 सुरक्षा बलों ने किया फ्लैग मार्च, दिन भर बाधित रही इंटरनेट सेवा, स्कूल- काॅलेज बंद

Gurgaon News - भास्कर न्यूज | नूंह/गुड़गांव अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि विवाद को लेकर शनिवार को सर्वोच्च न्यायालय ने फैसले के...

Nov 10, 2019, 07:25 AM IST
भास्कर न्यूज | नूंह/गुड़गांव

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि विवाद को लेकर शनिवार को सर्वोच्च न्यायालय ने फैसले के मद्देनजर प्रशासन की ओर मेवात में हाई अलर्ट घोषित किया गया था। जिलाधीश पंकज ने कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लागू करने के आदेश जारी किया, जोकि 22 नवंबर तक लागू रहेगी। जिले में सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूल व कालेज 10 नवंबर तक बंद करने के आदेश दिए हैं। जिले में 9 कंपनियां तैनात की गई थी। सोशल मीडिया पर अफवाहों पर रोक लगाने के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई। वहीं सामाजिक व धार्मिक संगठनों ने भी शांति व भाईचारा बनाए रखने की अपील की। पूरे क्षेत्र में शांति कायम रही। किसी तरह की कोई अप्रिय घटना गठित नहीं हुई। सभी ने न्यायपालिका पर विश्वास जताया।

अफवाहों पर अंकुश के लिए जिले में मैसेज सेवाओं व इंटरनेट की सभी सुविधाएं दोपहर दो बजे से ठप कर दी गईं, जो कि देर शाम तक बाधित रही। जिलाधीश पंकज ने स्पष्ट किया कि इंटरनेट का गलत प्रयोग न हो, इसलिए ऐसा किया गया। सभी टेलीकॉम सेवा प्रदाताओं को उक्त आदेशों की पालन करने के लिए कहा गया। आदेशों की अवहेलना पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

सोशल मीडिया पर अफवाहों पर रोक लगाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से इंटरनेट सेवाएं बंद की गई

गुड़गांव. श्रीराम जन्मभूमि के फैसले को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के लिए मस्जिद के बाहर तैनात पुलिसकर्मी।

गुड़गांव: प्रशासन रहा सतर्क शहर के मंदिर और मस्जिदों में रहा पुलिस का पहरा

गुड़गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला प्रशासन ने भी कड़े कदम उठाए थे। जहां सार्वजनिक स्थानों रोडवेज बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशनों, सोहना चौक स्थित जामा मस्जिद व अन्य क्षेत्रों पालम विहार, ईदगाह, डीएलएफ, सुशांत लोक, साउथ सिटी, चौमा आदि स्थानों स्थित मस्जिदों के आस-पास भी पुलिसकर्मी तैनात कि गई थी, ताकि किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटित न हो सके। पुलिस अधिकारी पुलिसकर्मियों के साथ रेलवे स्टेशन का दौरा करते हुए दिखाई दिए। आने-जाने वाली रेलगाड़ियों पर भी पुलिसकर्मियों की पैनी नजर रही, ताकि कोई असामाजिक तत्व किसी प्रकार की वारदात को अंजाम न दे सके। लोगों के सामान की पुलिसकर्मियों ने जांच की। शहर के सदर बाजार, शॉपिंग मॉल्स व सार्वजनिक स्थानों पर भी लोग सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर चर्चा करते दिखाई दिए। सभी ने न्यायपालिका पर विश्वास जताया।

मेवात जिले में तैनात की नौ कंपनियों ने संभाला मोर्चा

मेवात में सुरक्षा बलों की 9 कंपनियां भेजी गईं। इनमें आईआरबी, मेवात व रेवाड़ी जिला पुलिस के करीब 1000 जवान शामिल हैं। नूंह और पुन्हाना में तीन-तीन, फिरोजपुर झिरका और नगीना में एक-एक कंपनियां तैनात रहीं। जवान गांवों में मंदिर व मस्जिद धार्मिक स्थलों पर तैनात रहे। अन्य जिलों से तीन डीएसपी भी मेवात जिले में तैनात थे। रेवाड़ी के डीएसपी जितेंद्र कुमार, नारनौल के डीएसपी राजसिंह लालका और आईआरबी के डीएसपी हीरा सिंह पूरे क्षेत्र में चक्कर लगाते रहे। इनके अलावा सीआईडी के डीएसपी वीरेंद्र सिंह भी मेवात जिले में दौरे पर रहे।

सुरक्षा व्यवस्था को लेकर रेलवे स्टेशन पर तैनात पुलिसकर्मी।

नूंह. शहर में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर तैनात खड़ी पुलिस।

एडीजीपी व एसपी ने किया दौरा

साउथ रेंज के एडीजीपी डॉ आरसी मिश्रा ने एसपी संगीता कलिया के साथ मेवात का दौरा किया। पुलिस अधिकारियों ने सभी जवानों को अपनी-अपनी जिम्मेदारियां बांटते हुए जगह-जगह तैनात किया। मेवात में 8 ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। जिलाधीश पंकज ने बताया कि प्रत्येक थाना क्षेत्र में एक ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है। उपमंडल अधिकारी उपमंडल के ओवर आल इंचार्ज होंगे। अयोध्या फैसले को लेकर शनिवार को मेडिकल कॉलेज में मरीजों व तीमारदारों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शनिवार सुबह साढ़े दस बजे से दोपहर 2 बजे तक मरीजों व तीमारदारों को अस्पताल में प्रवेश नहीं करने दिया गया। ऐसे में मरीजों व तीमारदारों में भारी रोष देखने को मिला।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना