व्यावहािरकता प्रयोग के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है : प्रो. राजबीर

Faridabad News - फरीदाबाद| एनआईटी-3 स्थित डीएवी शताब्दी कॉलेज में शनिवार को अंतरविषयी पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी...

Oct 13, 2019, 07:15 AM IST
फरीदाबाद| एनआईटी-3 स्थित डीएवी शताब्दी कॉलेज में शनिवार को अंतरविषयी पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न हो गई। इसमें हरियाणा, पंजाब, जम्मू कश्मीर, एमपी, यूपी समेत कई राज्यों के 267 छात्रों ने भाग िलया। इनमें से 220 छात्रों ने शोध प्रस्तुत िकए। कार्यक्रम में पहुंचे एमडीयू के उपकुलपति प्रोफेसर राजबीर ने सिंह छात्रों से कहा कि व्यावहारिकता प्रयोग के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस लिए प्रयोगात्मक अध्ययन के लिए व्यावहारिक होना बहुत जरूरी है। यह शालीनता के साथ ज्ञान भी देता है। इस दौरान शहर के उद्योगपति करन चौधरी समेत भारत सरकार के मास्टर ट्रेनर डॉ. आईजे मित्तल ने भी अपने विचार रखे। कॅालेज के प्राचार्य डॉ. सतीश आहूजा ने बताया कि इस संगोष्ठी में ग्रीन फाइनेंस, ग्रीन मार्केटिंग, ई- कॉमर्स, जीएसटी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, नॉलेज मैनेजमेंट सिस्टम, फाइनेंस लिटरेसी, महिला उद्यमशीलता, पर्यटन समेत विभिन्न विषयों पर कई राज्यों से आए छात्रों अपने शोध प्रस्तुत िकए।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना