• Hindi News
  • Tech auto
  • Auto
  • Javed Akhtar And Shabana Azmi Injured In A Accident, Tata Safari Storme VX 4x2 2.2l Diesel Safety Features

15 सेफ्टी फीचर्स से लैस है शबाना आजमी के नाम रिजस्टर्ड टाटा सफारी स्टॉर्म, इस गाड़ी को भारतीय सेना ने भी पसंद किया

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • शबाना के पास सफारी स्ट्रॉर्म VX 4x2 वैरिएंट है, जिसकी एक्स-शोरूम कीमत 14,79,574 रु. है
  • टाटा सफारी स्ट्रॉर्म के चार वैरिएंट आते हैं और यह गाड़ी भारतीय सेना भी इस्तेमाल करती है

ऑटो डेस्क. गीतकार जावेद अख्तर और पत्नी शबाना आजमी की कार का मुंबई -पुण एक्सप्रेसवे पर भीषण एक्सीडेंट हो गया। हादसे में शबाना गंभीर रूप से घायल हो गईं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जावेद-शबाना की टाटा सफारी स्टॉर्म एसयूवी के ड्राइवर ने दूसरी कार को ओवरटेक करने की कोशिश की थी। इसी दौरान एसयूवी पीछे से ट्रक में टकरा गई।


टाटा सफारी का बेसिक वर्जन 21 साल पहले 1989 में लॉन्च किया गया था। इसके बाद लगातार इसके अपग्रेड वर्जन आते रहे हैं। मौजूदा टाटा सफारी स्टॉर्म देश में सबसे ज्यादा पंसद की जाने वाली एसयूवी में से एक है और इसके एडवांस वर्जन को भारतीय सेना भी इस्तेमाल करती है। हालांकि कुछ महीनों पहले खबर आई थी कि बीएस-6 सेफ्टी नॉर्म्स के चलते टाटा सफारी स्टॉर्म का प्रॉडक्शन बंद कर रही है और डीलर्स ने इसकी नई बुकिंग लेना बंद कर दिया है।

कितनी सेफ है टाटा सफारी स्ट्रॉर्म
टाटा सफारी स्ट्रॉर्म के चार वैरिएंट आते हैं। इसमें 2.2-लीटर का डीजल इंजन दिया है। जो 156 PS का पावर 400 NM का पीक टॉर्क जनरेट करता है। जावेद-शबाना के पास सफारी स्ट्रॉर्म VX 4x2 वैरिएंट है। जिसकी मौजूदा एक्स-शोरूम कीमत 14,79,574 रुपए है। क्योंकि ये कार का टॉप वैरिएंट भी है, इस वजह से इसमें सभी तरह के सेफ्टी फीचर्स दिए हैं। इससे ऊपर जो वैरिएंट आता है वो फोर व्हील ड्राइव के साथ आता है। टाटा सफारी स्ट्रॉर्म VX 4x2 वैरिएंट में 15 सेफ्टी फीचर्स दिए हैं। 

1. डुअल एयरबैग्स (ड्राइवर और फ्रंट पैसेंजर)

2. एंट्री-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (ABS) के साथ इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रिब्यूशन (EBD)

3. साइड इम्पेक्ट बार्स

4. क्रूम्पल जोन

5. इंजन इमोबिलाइजर

6. ट्यूबलेस टायर्स

7. अल्ट्रासोनिक रिवर्स गाइड सिस्टम के साथ ग्राफिक्सल डिस्प्ले म्यूजिक सिस्टम LCD स्क्रीन

8. क्लियर लेंस फ्रंट फॉक लैम्प्स

9. रियर फॉग लैम्प के साथ रिफलेक्स रिफलेक्टर

10. मोटोराइज्ड हेड लैम्प एडजेस्टमेंट

11. सेंट्रल लॉकिंग और चाइल्ड सेफ्टी लॉक

12. एंटीग्लेयर रियर व्यू मिरर

13. सीट बेल्ट अन्फासन्ड वार्निंग

14. डोर ओपन वार्निंग

15. की-आउट वार्निंग फॉर हेडलैम्प ऑन

सेना के लिए खासतौर पर बनाई गई सफारी स्टॉर्म
दिसंबर 2016 में टाटा मोटर्स ने भारतीय सेना को 3000 सफारी स्टॉर्म डिलीवर की थी। सेना ने मारुति जिप्सी की जगह इसे अपना ऑफिशियल व्हीकल बताया था। सेना में लिए जाने से पहले सफारी स्टॉर्म को बहुत कड़े टेस्ट से गुजारा गया था। इसमें बर्फ, दलदल और उबड़-खाबड़ रोड पर इसे टेस्ट किया गया था। सेना के लिए खासतौर पर बनी सफारी स्टॉर्म यूनिट्स स्टैंडर्ड मॉडल से अलग है और इन्हें स्पेशल मैट ग्रीन कलर से पेंट किया है। इसमें क्रोम का इस्तेमाल नहीं किया गया। प्लास्टिक पार्ट्स को भी हरे रंग से रंगा गया है ताकि ये बॉडी के कलर से मैच हों।  सफारी स्टॉर्म में हार्ड टॉप, 800 किलोग्राम लोडिंग क्षमता और एयर कंडिशनिंग फीचर्स शामिल हैं।  फ्रंट और रियर बंपर पर ब्लैकआउट लैम्प्स हैं जो कि हॉरिजॉन्टल लाइट बीम प्रॉजेक्ट करते हैं।  
 

शबाना के नाम पर रजिस्टर है सफारी MH 02 / CZ 5385
जिस टाटा सफारी से शबाना का एक्सीडेंट हुआ है वह उन्हीं के नाम पर रजिस्टर्ड है। https://vahan.nic.in/nrservices/faces/user/searchstatus.xhtml के डेटा के मुताबिक गाड़ी का रजिस्ट्रेशन 30 अगस्त 2013 का है और इसकी फिटनेस 29 अगस्त 2028 तक की है। गाड़ी का इंश्योरेंस भी सही है और 20 अगस्त 2020 तक वैलिड है। इसका पीयूसी 23 अगस्त 2020 तक मान्य है।

ड्राइवर के ओवरटेक करने से हुआ हादसा
टाटा सफारी स्ट्रॉर्म VX में ड्राइवर और फ्रंट पैसेंजर के लिए एयरबैग्स दिए हैं। ड्राइवर को गंभीर चोट नहीं आई और जावेद अख्तर भी सुरक्षित है। इससे ये साफ होता है कि एयरबैग्स ने अपना काम पूरी तरह किया। शबाना कार में सेकंड रो में बैठी थीं। उन्होंने सीट बेल्ट लगाया था या नहीं, इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। हालांकि, पुलिस ने बताया कि शबाना आजमी के ड्राइवर ने ओवरटेक करने की कोशिश की और गाड़ी को स्पीड से हाईवे की दूसरी लेन से तीसरी लेन में लेकर आया, जिसके चलते ये हाससा हो गया।

निर्देशक हंसल मेहता ने कहा- एक्सप्रेसवे खतरनाक, उद्धव ठाकरे ध्यान दे
नेशनल अवार्ड से सम्मानित निर्देशक हंसल मेहता ने ट्वीट करके मुम्बई-पुणे एक्सप्रेसवे को खतरनाक बताया है। उन्होंने कहा कि मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे हमेशा खतरनाक रहा है और रैश ड्राइविंग को रोकने के लिए बहुत कम या कोई निगरानी नहीं है। मैंने वहां भयानक हादसे देखे हैं। प्रिय उद्धव ठाकरे @OfficeofUT कृपया इस मार्ग की सुरक्षा में तत्काल सुधार करें। यहां मौत का जाल फैला हुआ है।