पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

iOS पर हुआ मैलवेयर अटैक:सबसे सिक्योर कहे जाने वाले ओएस में आया 'XcodeGhost', इससे 12.8 करोड़ यूजर्स प्रभावित हुए

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुनिया का सबसे सिक्योर कहा जाने वाला iOS ऑपरेटिंग सिस्टम एक्स कोड घोस्ट 'XcodeGhost' मैलवेयर का अटैक हुआ है। ये मैलवेयर 2015 में पहली बार सामने आया था। इस मैलवयर ने आईफोन और आईपैड इस्तेमाल करने वाले 128 मिलियन (12.8 करोड़) से ज्यादा यूजर्स को प्रभावित किया है।

एपल के इंटरनल ईमेल का पता चला है एपिक गेम्स बनाम एपल ट्रायल के दौरान Xcode की नकली कॉपी से 2,500 से अधिक ऐप को 128 मिलियन यूजर्स ने डाउनलोड किया था। मदरबोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, इन 2500 इंफेक्टेड ऐप्स को ऐप स्टोर में 203 मिलियन (20.3 करोड़) से अधिक बार डाउनलोड किया गया है।

1.8 करोड़ अमेरिकी यूजर्स प्रभावित हुए
एक कंपनी ने इस बात का जिक्र किया है कि चीन 55 फीसदी ग्राहक और 66 फीसदी डाउनलोड के लिए XcodeGhost मैलवेयर का प्रतिनिधित्व करता है। एपल के इंटरनल ईमेल के मुताबिक, इससे करीब 18 मिलियन (1.8 करोड़) अमेरिकी यूजर्स प्रभावित हुए थे।

मैलवेयर की पहचान होने पर डेवलपर्स जेनुअन वर्जन से जोड़ा
मदरबोर्ड ने रिपोर्ट में लिखा कि कई डेवलपर्स ने इन्फेक्टेड Xcode डाउनलोड किया, क्योंकि एपल के सर्वर धीमे थे। इस वजह से उन्होंने ऑप्शनल डाउनलोड लिंक की तलाश की। इससे 'एंग्री बर्ड्स 2' जैसे लोकप्रिय गेम ऐप भी प्रभावित हुए थे। जैसे ही मैलवेयर की पहचान हुई एपल ने डेवलपर्स से तुरंत अपने ऐप्स को Xcode के जेनुअन वर्जन के साथ फिर से जोड़ने के लिए कहा।

एपल ने मैलवेयर स्कैनिंग पर ज्यादा ध्यान दिया
इस घटना के बाद ऐप स्टोर में ऐप सबमिट करते समय एपल ने Xcode इंस्टॉलेशन प्रोसेस की सिक्योरिटी और मैलवेयर स्कैनिंग दोनों को ज्यादा पुख्ता किया। उस सप्ताह अमेरिका में एपल और एपिक गेम्स के बीच कानूनी लड़ाई शुरू हुई थी। इससे नया खुलासा हुआ कि एपिक गेम्स के सीईओ टिम स्वीनी ने एपल के सीईओ टिम कुक को 2015 में अन्य ऐप स्टोर्स में अपने आईफोन को ओपन करने के लिए कहा था।