भारतीय कंपनियों पर सबसे ज्यादा साइबर अटैक:एक कंपनी पर हर हफ्ते औसतन 1,738 बार हुआ हमला, छह महीने में मामले 29% बढ़े

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय कंपनियों के लिए पिछला 6 महीना बुरा गुजरा है। इस दौरान एक कंपनी को हर हफ्ते औसतन 1,738 बार साइबर अटैक का सामना करना पड़ा। जबकि दुनियाभर में साइबर हमले का ये आंकड़ा 757 ही रहा।

इस लिहाज से भारतीय कंपनियों पर दुनिया में सबसे ज्यादा हमले हुए। चेक पॉइंट रिसर्च की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक भारत में सबसे ज्यादा साइबर अटैक रिसर्च एजुकेशन, मिलिट्री, इंश्योरेंस और हेल्थ सेक्टर की कंपनियों में देखने को मिले।

भारत में 29% ज्यादा बढ़े साइबर अटैक
भारत में पिछले 6 महीने में पर होने वाले साइबर अटैक में 29% की बढ़ोतरी देखने को मिली है। ये साइबर अटैक यूरोप, मध्य पूर्व और अफ्रीका के देशों में हुए हैं। अमेरिका और एशिया प्रशांत में भी बड़े स्तर पर साइबर अटैक हुए हैं। कंपनियों पर होने वाले रैनसमवेयर अटैक में 93% की बढ़ोतरी हुई है। अन्य देशों के मुकाबले हैकर्स के लिए भारत सबसे बड़ा बाजार रहा है।

अमेरिका में साइबर अटैक 17% बढ़े
साइबर सिक्योरिटी फर्म चेक पॉइंट ने ‘साइबर अटैक ट्रेंड: 2021 मिड ईयर' नाम से एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें तमाम तरह की कंपनियों जैसे सरकारी, स्वास्थ्य और अन्य पर होने वाले साइबर अटैक के बारे में जानकारी दी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक केवल अमेरिका में होने वाले साइबर अटैक में 17% की बढ़ोतरी हुई है। यहां हर हफ्ते औसतन 443 साइबर हमले हुए।

यूरोप में 27% की बढ़ोतरी हुई
वहीं यूरोप में इसमें 27% की बढ़ोत्तरी हुई है। यूरोप में हर सप्ताह किसी संस्थान पर औसतन 777 बार साइबर अटैक हुए हैं, जबकि लैटिन अमेरिका में 19% की बढ़ोतरी हुई है। अमेरिका और एशिया पेसिफिक के देशों में हर हफ्ते किसी संस्थान पर औसतन 1,338 बार साइबर अटैक हुआ है जो कि इस साल के शुरुआती महीनों से 13% ज्यादा है।

डाटा के बदले पैसे वसूलते हैं हैकर्स
चेक पॉइंट की रिपोर्ट में कहा गया है कि रैनसमवेयर अटैक में भी बढ़ोतरी हुई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि किसी कंपनी के सिस्टम को हैक करके डाटा चोरी करना और डाटा के बदले पैसे वसूलना हैकर्स के लिए आम बात हो गई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि हैकर्स अब नए तरह के मैलवेयर जैसे -Trickbot, Dridex, Qbot और IcedID का इस्तेमाल कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...