• Hindi News
  • Tech auto
  • Android 12; Android 12 Launch Date, Android 12 Features And Everything Else You Need

यूट्यूबर अभिषेक तैलंग के साथ Tech Talk:फोन में यूज नहीं होने वाले ऐप्स से खुद ही परमिशन हट जाएगी, जानिए एंड्रॉयड 12 से कितना बदलेगा आपका स्मार्टफोन

नई दिल्ली2 महीने पहले
एंड्रॉयड 12 की इस साल के अप्रैल से बीटा टेस्टिंग चल रही है। अगस्त में इस ऑपरेटिंग सिस्टम का बीटा फेज खत्म हो गया और इसके स्टेबल वर्जन की टेस्टिंग शुरू हुई है। -सिम्बॉलिक इमेज

इस साल अप्रैल में एंड्रॉयड 12 ऑपरेटिंग सिस्टम का ऐलान किया गया था। तभी से गूगल के इस अपकमिंग ओएस का इंतजार किया जा रहा है। एंड्रॉयड 12 से जुड़े कुछ खास सवालों के जवाब हम आपको बता रहे हैं।

कब रिलीज होगा?
एंड्रॉयड 12 की इस साल के अप्रैल से बीटा टेस्टिंग चल रही है। अगस्त में इस ऑपरेटिंग सिस्टम का बीटा फेज खत्म हो गया और इसके स्टेबल वर्जन की टेस्टिंग शुरू हुई है। उम्मीद जताई जा रही है कि इस साल अक्टूबर तक एंड्रॉयड 12 लॉन्च हो जाएगा।

क्या मेरे फोन पर एंड्रॉयड 12 आएगा?
किन फोन पर एंड्रॉयड 12 का अपडेट मिलेगा, इस बारे में गूगल ने अभी तक बहुत ज्यादा खुलासा नहीं किया है। अभी सिर्फ इतनी जानकारी है कि एंड्रॉयड 12 लॉन्च होते ही सबसे पहले गूगल पिक्सल 3 और उसके बाद के सभी पिक्सल फोन्स में देखने को मिलेगा। इस बात की पूरी उम्मीद है कि इस साल के अंत तक लॉन्च होने वाला हर फ्लैगशिप फोन एंड्रॉयड 12 के साथ शर्तिया आएगा। बाकी फोन के लिए एंड्रॉयड 12 का सपोर्ट मिलेगा या नहीं, या कब तक मिलेगा, इसका ऐलान अगले कुछ हफ्तों में कंपनियों द्वारा धीरे-धीरे किया जाएगा।

इस बार एंड्रॉयड 12 में क्या नया होगा?

  • कस्टमाइजेबल: दिखने के हिसाब से हर नया ऑपरेटिंग सिस्टम कुछ न कुछ बदलाव के साथ आता ही है। एंड्रॉयड 12 अब तक का सबसे खूबसूरत दिखने वाला एंड्रॉयड वर्जन होगा। गूगल ने इस बार एंड्रॉयड को पहले से भी ज्यादा कस्टमाइजेबल बनाने की कोशिश की है। एंड्रॉयड 12 में वॉलपेपर के हिसाब से लॉक स्क्रीन, ऐप ड्रॉवर और होम स्क्रीन का कलर लेआउट तय होगा। जिससे जितनी बार आप वॉलपेपर बदलेंगे, हर बार आपका फोन नया लगेगा। बार-बार नई थीम डाउनलोड करने की जरूरत नहीं होगी।
  • सिक्योरिटी और प्राइवेसी: गूगल और एंड्रॉयड को हमेशा से डेटा सिक्योरिटी और यूजर प्राइवेसी पर घेरा जाता रहा है, लेकिन पिछले कुछ सालों से गूगल भरसक प्रयास कर रहा है अपनी इस छवि को बदलने के लिए। एंड्रॉयड 11 में गूगल ने डेटा सिक्योरिटी के लिए कई नए फीचर्स दिए थे और एंड्रॉयड 12 में ये और पुख्ता होंगे। यूजर के किस डेटा को गूगल और बाकी थर्ड पार्टी एक्सेस कर रही हैं, इसकी जानकारी एंड्रॉयड 12 में काफी आसानी से पता चलेगी। अलग से प्राइवेसी डैशबोर्ड नाम का एक विजेट होगा। जिससे यूजर को हर पल ये जानकारी मिलती रहेगी। सेटिंग्स में जरा सा फेरबदल कर के यूजर पिछले 24 घंटे का रिकॉर्ड एक्सेस कर सकेगा।
  • ऐप हाइबरनेशन: हम में से हर एक के फोन में ऐसे कई ऐप्स होंगे, जिन्हें हम कभी इस्तेमाल नहीं करते होंगे। पर वो फोन की मेमोरी में अनंतकाल से पड़े होंगे। ऐसे ऐप्स, डेटा सिक्योरिटी और यूजर प्राइवेसी के लिए हर पल किसी खतरे की तरह होते हैं। इन न इस्तेमाल होने वाले ऐप्स के पास यूजर डेटा की परमिशन रहती है और ये यूजर प्राइवेसी के लिए खतरा बन सकते हैं। इसके साथ ही ये अनयूज्ड ऐप्स फोन की स्टोरेज और मेमोरी दोनों का चुपचाप इस्तेमाल करके फोन को भी स्लो करते हैं। इस परेशानी से निपटने के लिए एंड्रॉयड 12 ऐप हाइबरनेशन नाम के फीचर के साथ आएगा। इस फीचर की मदद से जिन ऐप्स को बहुत वक्त से इस्तेमाल नहीं किया गया है, उनकी परमिशन हट जाएंगी और स्टोरेज से उनकी कैशे मेमोरी को डिलीट कर दिया जाएगा। जिससे फोन धीमा नहीं पड़ेगा और यूजर प्राइवेसी बढ़ेगी।
खबरें और भी हैं...