ब्लैकबेरी यूजर्स ध्यान दें:4 जनवरी से कंपनी का ओएस काम नहीं करेगा; कॉल, SMS, वाई-फाई जैसी सर्विस हो जाएंगी बंद

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नोकिया के ऑपरेटिंग सिस्टम के बाद अब ब्लैकबेरी का ओएस भी खत्म होने जा रहा है। कंपनी ने बताया है कि 4 जनवरी से वो ब्लैकबेरी ऑपरेटिंग सिस्टम को सपोर्ट देना बंद कर देगी। यानी किसी यूजर के पास ब्लैकबेरी का ऐसा स्मार्टफोन है जो ब्लैकबेरी ओएस को सपोर्ट करता है, तब वो काम करना बंद कर देगा। बता दें कि ब्लैकबेरी से पहले नोकिया का सिंबियन ओएस भी इसी तरह खत्म हो चुका है।

ब्लैकबेरी ने सालों पहले QWERTY कीपैड-ब्लैकबेरी ओएस फोन को बनाना बंद कर दिए थे। ऐसे में अब कंपनी क्लासिक ब्लैकबेरी ओएस और ब्लैकबेरी 10 पावर्ड स्मार्टफोन के लिए सपोर्ट बंद करने जा रहा है। कंपनी ने उन ग्राहकों को अलर्ट किया है कि जो अभी भी इसके सॉफ्टवेयर पर चलने वाले फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं।

ब्लैकबेरी को नोटिफिकेशन
कंपनी ने एक नोटिफिकेशन में कहा कि ब्लैकबेरी 7.1 ओएस और इससे पहले के ब्लैकबेरी 10 सॉफ्टवेयर, ब्लैकबेरी प्लेबुक ओएस 2.1 और पुराने वर्जन के लिए सर्विस अब 4 जनवरी, 2022 के बाद उपलब्ध नहीं होंगी। इस तारीख से सर्विस और सॉफ्टवेयर को चलाने वाले डिवाइस या वाई-फाई कनेक्शन के माध्यम से डेटा, फोन कॉल, SMS और 9-1-1 कार्यक्षमता सहित विश्वसनीय रूप से काम नहीं करेगा।

फरवरी 2020 में TCL ने घोषणा की थी कि वह अब ब्लैकबेरी फोन का प्रोडक्शन नहीं करेगी। कंपनी का आखिरी फोन ब्लैकबेरी KEY2 LE था। 2020 में टेक्सास स्थित स्टार्टअप ऑनवर्ड मोबिलिटी ने 2021 में 5G ब्लैकबेरी फोन लॉन्च करने के लिए एक टीजर जारी किया था।

कॉल, कनेक्टिविटी, SMS सर्विस हो जाएगी बंद
ब्लैकबेरी द्वारा किए गए अलर्ट के मुताबिक, कुछ दिन बाद से सेलुलर और वाई-फाई कनेक्टिविटी जैसी सर्विस इन फोन पर बंद हो जाएगी। यानी ब्लैकबेरी फोन पर कॉल, सेल्युलर डेटा, SMS और आपातकालीन कॉल जैसी सर्विस काम करना बंद कर सकते हैं। इस बदलाव का असर एंड्रॉयड पर चलने वाले ब्लैकबेरी स्मार्टफोन्स पर नहीं पड़ेगा। ऐसे यूजर्स जो ब्लैकबेरी स्मार्टफोन यूज कर रहे हैं वे फोन के डेटा का बैकअप ले लें।