• Hindi News
  • Tech auto
  • Britain Starts Investigation On Google And Amazon, Will Rein In The Authority Companies Related To It

फेक रिव्यू के आरोप:ब्रिटेन ने शुरू की गूगल और अमेजन पर जांच, इससे जुड़ी ऑथॉरिटी कंपनियों पर लगाएगी लगाम

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ब्रिटेन के रेगुलेटर ने अमेजन और गूगल पर फेक रिव्यू करने का आरोप लगाया है। साथ ही इन पर औपचारिक जांच शुरू कर दी है। रेगुलेटर ने आरोप लगाया कि ये दोनों टेक कंपनियों ने फेक रिव्यू को हटाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। इससे लोगों में भ्रम पैदा हो रहा है। उन तक गलत जानकारियां पहुंच रही हैं।

कंपटीशन एंड मार्केट ऑथॉरिटी (CMA) का कहना है कि वह इन टेक फर्म से जानकारी लेगी। पता लगाएगी कि कहीं ये कंजूमर कानून को तोड़ तो नहीं रहे हैं। यदि ऐसा पाया जाता है तो इनके खिलाफ पर्याप्त एक्शन लिए जाएंगे। ताकि इनसे प्रोडक्ट्स खरीदने वालों को फेक रिव्यू के जाल से बचाया जा सके।

CMA की टीम 2020 से इस काम कर रही

यह कदम CMA की 2020 में हुई जांच में खुलासे के बाद उठाया गया था। इस जांच में कई प्लेटफॉर्मस के इंटरनल सिस्टम और प्रोसेस की पहचान की गई है। ताकि कंपनियों के फेक रिव्यू पर नियंत्रण किया जा सके।

अमेजन फेक रिव्यू नहीं हटा रहा

रेगुलेटर का कहना है कि अमेजन पर अब भी कुछ विक्रेता प्रोडक्ट्स की लिस्टिंग में गड़बड़ी कर रहे हैं। जिसे अमेजन का सिस्टम मैनेज करने में असफल रहा है। जैसे किसी दूसरे प्रोडक्ट के पॉजिटिव रिव्यू को अपने प्रोड्क्ट्स के साथ जोड़ देना शामिल है।

कस्टमर्स के हितों के लिए उठाए कदम

CMA चीफ एक्जक्यूटिव एंड्रिया कोसेलि का कहना है कि हमारी चिंता ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले करोड़ो कस्टमरों की है। इन फेक रिव्यूज् से कस्टमर गुमराह हो रहे हैं। इन रिव्यू को देख कस्टमर्स का पैसा बर्बाद हो जाता है।

इसी तरह कई बिजनेस संस्था अपने प्रोडक्ट का फेक 5 स्टार रेटिंग और रिव्यू कर देते हैं। इसमें कई नामी-गिरामी कंपनी शामिल होती हैं। जो कानून की परवाह न करते हुए ऐसा काम करती हैं। जो कि गलत है।