पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Tech auto
  • Cars Automobile Production Disrupted In China Europe US Over Semiconductor Shortage

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छोटे से प्रोडक्ट ने किया परेशान:मार्केट में कारों की डिमांड बढ़ी, लेकिन सेमीकंडक्टर नहीं होने से प्रोडक्शन लड़खड़ाया; गैजेट्स के लिए हो रही सप्लाई

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड महामारी से जूझ रहे ऑटो सेक्टर ने 2020 की आखिरी तिमाही में कुछ रिकवरी की। दिसंबर 2020 में व्हीकल रजिस्ट्रेशन में 11.01% की ग्रोथ रही। इस दौरान पैसेंजर्स व्हीकल सेगमेंट में 24% की ग्रोथ रही। इस सेगमेंट में लगातार डिमांड के बाद भी प्रोडक्शन नहीं हो पा रहा है। इसकी बड़ी वजह कार मैन्युफैक्चर्स को इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स और सेमीकंडक्टर का नहीं मिल पाना है। इस छोटे से प्रोडक्ट ने डिमांड और सप्लाई का बड़ा गैप पैदा कर दिया है।

दरअसल, कोरोनाकाल में गैजेट्स की डिमांड भी तेजी से बढ़ी है। वर्क फ्रॉम होम के लिए डेस्कटॉप और लैपटॉप बिके। तो ऑनलाइन स्टडी के लिए मोबाइल और टैबलेट की मांग रही। फिट रहने के लिए लोगों ने फिटनेस बैंड भी खरीदे। वहीं, गेमिंग डिवाइस के साथ दूसरे गैजेट्स भी जमकर बिके। इन सभी में इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स और सेमीकंडक्टर का इस्तेमाल होता है। ऐसे में सेमीकंडक्टर की सप्लाई गैजेट्स कंपनियों को की जा रही है।

क्या है सेमीकंडक्टर?

ये आमतौर पर सिलिकॉन चिप्स होते हैं। इनका इस्तेमाल कम्प्यूटर, सेलफोन, गैजेट्स, व्हीकल और माइक्रोवेव ओवन तक जैसे कई प्रोडक्ट्स में होता है। ये किसी प्रोडक्ट की कंट्रोलिंग और मेमोरी फंक्शन को ऑपरेट करते हैं।

टोयोटा ने चीन में प्रोडक्शन लाइन बंद की

टोयोटा मोटर्स ने चीन में अपनी प्रोडक्शन लाइन बंद कर दी है। फिएट क्रिसलर ने ओंटारियो और मैक्सिको में अस्थायी रूप से प्रोडक्शन बंद कर दिया है। फॉक्सवेगन ने चीन, यूरोप और अमेरिका की कंपनियों में प्रोडक्शन की समस्याओं की चेतावनी दी है। फोर्ड मोटर्स ने भी अपनी फैक्टरी में कुछ समय के लिए उत्पादन बंद करने की जानकारी दी है। एक्सपर्ट का कहना है कि सेमीकंडक्टर की शॉर्टेज इस साल के आखिर तक रहेगी। इसकी सप्लाई बहाल होने में 9 से 10 महीनों का समय लग सकता है।

जनवरी से मार्च तक 1.5 लाख कम गाड़ियां बनेंगी

कार बनाने वाली कंपनियां को एक तरफ जहां स्टील नहीं मिल रहा। तो दूसरी तरफ सेमीकंडक्टर और इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स की कमी का सामना भी करना पड़ रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी-मार्च तिमाही के लिए कंपनियों ने अपना प्रोडक्शन शेड्यूल 15-20% तक घटा दिया है। यानी इस दौरान करीब 1.5 लाख कम गाड़ियां बनेंगी। कुछ कंपनियों ने तो अपने प्लांट में शिफ्ट टाइमिंग घटा दिया है। प्रोडक्शन में कमी के चलते डीलर्स के पास हफ्ते-दस दिन का ही स्टॉक बचा है, जो अब तक का सबसे कम है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें