• Hindi News
  • Tech auto
  • Elon Musk's Double Standard On EVs: Asks For Subsidy In India, Says No To Subsidy In The US

मस्क ये गलत बात है:भारत में टेस्ला की बिक्री के लिए सब्सिडी मांग रहे, लेकिन यूएस में सब्सिडी बिल के खिलाफ

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय बाजार में एलन मस्क की टेस्ला की एंट्री टैक्स के फेर में फंसी हुई है। वे लगातार सरकार से इस बात की मांग कर रहे हैं उनकी इलेक्ट्रिक कार पर सब्सिडी दी जाए। हालांकि, सब्सिडी को लेकर मस्क का दोहरा चरित्र सामने आया है। वे चाहते हैं कि भारत में उनकी कारों पर सब्सिडी मिले, लेकिन यूएस में वे सब्सिडी के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिकी कांग्रेस को इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) के लिए सब्सिडी को बढ़ावा देने के लिए बिल को मंजूरी नहीं देनी चाहिए।

भारत में टेस्ला को सब्सिडी नहीं मिलने की वजह से लॉन्चिंग में देरी हो रही है। भारतीय बाजार में अभी विदेशी इलेक्ट्रिक कार पर 60 से 100% टैक्स लिया जा रहा है। जैसे देश में अभी 40,000 डॉलर (करीब 30 लाख रुपए) तक कीमत वाली इलेक्ट्रिक कारों पर 60 फीसदी तक टैक्स लगता है। वहीं, कीमत इससे ज्यादा होने पर 100 फीसदी टैक्स लिया जाता है।

मेक-इन-इंडिया पर ही मिलेगा फायदा
मस्क ने कई मौके पर कहा है कि वे भारतीय बाजार में टेस्ला की लॉन्चिंग के लिए सरकार से सब्सिडी की मांग को लेकर संपर्क में हैं। दूसरी तरफ, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ये साफ कर चुके हैं कि सब्सिडी के लिए उन्हें मेक-इन-इंडिया अभियान के तहत कार की असैंबलिंग यहां करनी होगी।

सब्सिडी से US की प्रगति रुकेगी: मस्क
यूएस में इलेक्ट्रिक व्हीकल पर ऐक्स्ट्रा 4,500 डॉलर (करीब 3.40 लाख रुपए) का टैक्स इन्सेंटिव देने के लिए बिडेन एडमिनिस्ट्रेशन बिल तैयार कर रहा है। ऐसे में मस्क ने WSJ CEO काउंसिल समिट में कहा कि इस बिल का पास नहीं करना चाहिए। मस्क ने कहा कि सब्सिडी से सभी को छुटकारा मिलना चाहिए। सरकार को इसे हटाने की कोशिश करना चाहिए। सब्सिडी देश की प्रगति में रुकावट है। उन्होंने डेमोक्रेट्स द्वारा अरबपतियों पर लगने वाले टैक्स का विरोध भी किया।

30 लाख की टेस्ला ई-कार 48 लाख में मिलेगी

  • मौजूदा इम्पोर्ट ड्यूटी के हिसाब से देखा जाए तो टेस्ला के सबसे सस्ते मॉडल 3 के सिर्फ बेस मॉडल पर ही 60% टैक्स लगेगा। इस तरह करीब 30 लाख रुपए की ये गाड़ी इंडिया में सिर्फ टैक्स जोड़कर ही 48 लाख रुपए की पड़ेगी। अगर इसके लॉन्ग रेंज ट्रिम की बात की जाए तो अमेरिका में इसकी कीमत 49,990 डॉलर (करीब 37.34 लाख रुपए) है। टैक्स के साथ भारत में ये करीब 75.5 लाख रुपए की हो जाएगी।
  • टेस्ला के मॉडल Y के बेस मॉडल की अमेरिका में कीमत 53,990 डॉलर (करीब 40 लाख रुपए) है, जो भारत में 80 लाख रुपए की मिलेगी। इसी तरह, मॉडल X के बेस मॉडल की प्राइस 99,990 डॉलर (करीब 74.6 लाख रुपए) है, जो भारत में 1.5 करोड़ रुपए की पड़ेगी। मॉडल S के बेस मॉडल की कीमत 89,990 डॉलर (करीब 67.2 लाख रुपए) है, जो इंडिया में टैक्स जोड़कर 1.3 करोड़ रुपए में मिलेगी।

मॉडल-3 की बिक्री 2022 से शुरू होगी
रिसर्च एनालिस्ट साउमेन मंडल का दावा है कि टेस्ला भारत में साल 2022 के मिड में खरीद के लिए उपलब्ध होगी। देश के अमीर और फेमस लोग इस कार का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। लेकिन सरकार और एलन मस्क के बीच इंपोर्ट ड्यूटी का विवाद इस इंतजार को और ज्यादा बढ़ा रहा है। पिछले महीने केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी थी कि टेस्ला कार की कीमत भारत में करीब 35 लाख रुपए होगी। 2021 में टेस्ला कई स्थानों पर मॉडल 3 की टेस्टिंग कर रही थी, इसके बावजूद अभी भी इसे भारत में बेचने के लिए कई ठोस कदम उठाए जाने बाकी हैं।