• Hindi News
  • Tech auto
  • Tesla Stock Price; Elon Musk Net Worth Update | Tesla Market Cap 2020 | Tesla Car Sales Summary 2020? All You Need To Know About SpaceX Company CEO Elon Musk

भास्कर एक्सप्लेनर:टेस्ला पर बेअसर रहा कोरोना, 2020 में कंपनी का मार्केट कैप 5 गुना बढ़ा; बीते 6 महीने में औसतन रोजाना 1027 कार बनाई और 995 बेचीं

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जनाब की शख्सियत ही कुछ ऐसी है कि सुर्खियां इन्हें ढूंढ ही लेती हैं। बात बिजनेस में फायदे की हो या नुकसान की। बात जमीन की हो या आसमान की। ये जनाब चर्चा में रहते ही हैं। चांद तक अपनी पहचान बनाने वाले इस शख्स का नाम है एलन मस्क। आप इन्हें बिजनेस टाइकून कह सकते हैं या फिर चांद पर पहुंचने वाले स्पेसएक्स का डिजाइनर। ये चर्चा में इसलिए हैं क्योंकि इनकी कंपनी टेस्ला के शेयर 21% लुढ़क गए हैं।

अमेरिकी शेयर मार्केट में मंगलवार को टेस्ला के स्टॉक 21 फीसदी नीचे चले गए। इससे कंपनी के मार्केट कैप में करीब 82 बिलियन डॉलर (6.02 लाख करोड़ रुपए) की कमी आ गई। हालांकि, बुधवार को कंपनी के शेयर में 10 प्रतिशत का उछाल रहा। जिससे एलन मस्क की कंपनी का मार्केट कैप 32 बिलियन डॉलर (2.35 लाख करोड़ रुपए) बढ़ गया।

  • ताज्जुब तो इस बात है कि कोरोना महामारी ने क्रूड ऑयल की आसमान छूती कीमतों को जमीन पर ला दिया उसके बाद भी टेस्ला की बिक्री पर फर्क नहीं पड़ा। क्रूड ऑयल की कीमत कम होने से फ्यूल इंजन वाली गाड़ियों की बिक्री बढ़ना चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।
  • जनवरी में क्रूड ऑयल की कीमत 63.65 डॉलर प्रति बैरल थी। जो घटकर फरवरी में 55.66 डॉलर प्रति बैरल और मार्च में 32.01 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई। यानी पहले क्वार्टर में क्रूड ऑयल की औसत कीमत 50.44 डॉलर प्रति बैरल रही। इस दौरान टेस्ला ने 29,467 यूनिट की डिलिवरी की।
  • ठीक इसी तरह, अप्रैल में क्रूड ऑयल की कीमत 18.38 डॉलर प्रति बैरल थी। जो मई में 29.38 डॉलर प्रति बैरल और जून में 40.27 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई। यानी दूसरे क्वार्टर में क्रूड ऑयल की औसत कीमत 29.34 डॉलर प्रति बैरल रही। इस दौरान टेस्ला की डिलिवरी पहले क्वार्टर से बढ़कर 30,217 यूनिट पर पहुंच गई।

2020 में टेस्ला के शेयर में 479% की बढ़त रही

इस साल दुनियाभर में कोरोना महामारी ने जमकर तबाही फैलाई है। हालांकि, टेस्ला के शेयर पर इसका ज्यादा असर नहीं हुआ। 2 जनवरी, 2020 को कंपनी के शेयर की कीमत 86.05 डॉलर (करीब 6300 रुपए) थी। जो आज (10 सितंबर) 366.28 डॉलर (करीब 26,900 रुपए) पर पहुंच गई है। 31 अगस्त को कंपनी के शेयर अपने उच्चतम स्तर 498.32 डॉलर (करीब 36,600 रुपए) पर पहुंच गए थे। यानी इस साल अब तक कंपनी के शेयर में 479 फीसदी उछाल रही है।

2020 में टेस्ला का प्रोडक्शन, सेल और मार्केट कैप

टेस्ला के प्रोडक्शन और सेल्स पर कोरोना वायरस भी बेअसर रहा है। कंपनी ने साल के पहले दो क्वार्टर को मिलाकर 1,84,944 यूनिट का प्रोडक्शन किया। वहीं, इस दौरान कंपनी ने 1,79,050 यूनिट की डिलिवरी की। यानी कंपनी ने बीते 6 महीने में औसतन रोजाना 1027 कार प्रोडक्शन और 995 कार की डिलिवरी की है। यही वजह है कि कंपनी का मार्केट कैप 2 जनवरी, 2020 को 77.90 बिलियन डॉलर (करीब 5.72 लाख करोड़) था, जो अब 341.30 बिलियन डॉलर (करीब 25.05 लाख करोड़) हो चुका है। 31 अगस्त, 2020 को कंपनी का मार्केट कैप 465.20 बिलियन डॉलर (करीब 34.16 लाख करोड़) था।

टाइमप्रोडक्शनडिलिवरी
Q1 (जनवरी से मार्च)102,67288,400
Q2 (अप्रैल से जून)82,27290,650
कुल184944179050

कोरोना से कंपनी पर कितना असर पड़ा

टेस्ला के इलेक्ट्रिक व्हीकल का जादू दुनियाभर में कायम है। इस बात तो यूं भी समझा जा सकता है कि 2016 के पहले क्वार्टर में कंपनी ने दुनियाभर में 14,820 यूनिट की डिलिवरी की थी, जो 2019 के चौथे क्वार्टर में बढ़कर 1,12,000 यूनिट तक पहुंच गई। टेस्ला की डिलिवरी पर कोरोना महामारी का भी असर नहीं हुआ। कंपनी ने 2020 के पहले क्वार्टर में 88,400 यूनिट और दूसरे क्वार्टर में 90,650 यूनिट की डिलिवरी की है।

2020 में एलन मस्क के कारनामे

  • चांद का सफर सस्ता बनाया: टेस्ला के सीईओ एलन मस्क किसी पहचान के मोहताज नहीं है। उनकी एक नहीं बल्कि कई पहचान है। वे एयरोस्पेस कंपनी स्पेसएक्स के फाउंडर और सीईओ भी हैं। इस कंपनी द्वारा तैयार किया गया स्पेसएक्स हाल ही में चांद की सैर कर चुका है। खास बात है कि उन्होंने अंतरिक्ष पर जाने वाले एक अंतरिक्ष यात्री की लागत में करीब 2600 करोड़ रुपए तक कटौती की है। अपोलो स्पेसक्राफ्ट में एक सीट का खर्च 390 मिलियन डॉलर (करीब 3000 करोड़ रुपए) था, जिसे एलन मस्क ने 55 मिलियन डॉलर (करीब 412 करोड़ रुपए) कर दिया है।
  • इंसान के दिमाग से चलेगा कम्प्यूटर: एलन मस्क के न्यूरोसाइंस स्टार्टअप न्यूरोलिंक ने दिमाग को पढ़ने वाला चिप पेश किया है। यह सिक्के के आकार का है। मस्क की टीम ने इस चिप को गेरट्रूड नाम के सूअर की सिर में फिट कर दिमाग की हरकतों को कंप्यूटर स्क्रीन पर देखने में कामयाबी हासिल की। यह चिप दिमाग को कंप्यूटर से जोड़ने का काम करेगा। न्यूरोलिंक का उद्देश्य इंसानों के दिमाग में एक तरह वायरलेस कम्प्यूटर स्थापित करना है, जो इंसान को अल्जाइमर, डिमेंशिया और रीढ़ की हड्डी की चोटों जैसी बीमारियों से लड़ने में और उनसे ठीक करने में मदद करेगा।
  • एक ट्वीट ने घटाई कंपनी की वैल्यू: एलन मस्क ने 1 मई, 2020 को एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा, 'Tesla stock price is too high imo'. इस ट्वीट की वजह से कंपनी की वैल्यू 14 बिलियन डॉलर (करीब 1 लाख करोड़ रुपए) कम हो गई थी। वहीं, मस्क को भी 3 बिलियन डॉलर (22.6 हजार करोड़ रुपए) का नुकसान हुआ था। उन्होंने ट्वीट में टेस्ला कंपनी के शेयर को महंगा बताया था। इसके अलावा उन्होंने अपनी सारी संपत्ति बेचने की बात भी कही थी।

भले ही मस्क का नाता विवादों से जुड़ा रहता हो, लेकिन उनकी सोच और आगे बढ़ने के जुनून का कमाल है कि वे दुनिया के टॉप-10 बिलेनियर्स की लिस्ट में 7वें स्थान पर हैं।

खबरें और भी हैं...