गूगल की सर्विस:दिल्ली-NCR में शुरू हुआ भारत का दूसरा गूगल क्लाउड एरिया, अब ग्राहकों को मिलेगी ज्यादा बेहतर सर्विस

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गूगल क्लाउड इंडिया ने दिल्ली-NCR में अपना नया क्लाउड क्षेत्र शुरू करने की घोषणा की है। ये विशेष रूप से भारत में सार्वजनिक क्षेत्र और पूरे एशिया-प्रशांत में ग्राहकों की सेवा करने में कंपनी की मदद करेगा। यह क्लाउड क्षेत्र भारत में गूगल का इस तरह का दूसरा सेटअप है, हालांकि कंपनी ने इस पर किए गए निवेश का खुलासा नहीं किया।

भारत में गूगल का पहला क्लाउड क्षेत्र – जिसमें तीन ‘अवेलेबिलिटी जोन’ शामिल हैं – 2017 में मुंबई में लाइव हुआ था। दिल्ली-एनसीआर का क्लाउड क्षेत्र (जिसमें तीन अवेलेबिलिटी जोन हैं) गूगल का एशिया प्रशांत में 10वां और विश्व स्तर पर 26वां सेटअप है। क्लाउड एरिया फिजिकल ज्योग्राफिक लोकेशन हैं, जहां सार्वजनिक क्लाउड रिसोर्सेज मौजूद होते हैं।

क्वाउड ग्राहकों को बेहतर सेवाएं मिलेंगी
क्लाउड क्षेत्र भौतिक भौगोलिक स्थान हैं, जहां सार्वजनिक क्लाउड संसाधन स्थित होते हैं। इस नए क्षेत्र के साथ भारत में काम कर रहे गूगल के क्लाउड ग्राहकों को बेहतर सेवाएं मिल सकेंगी। एक नए क्लाउड क्षेत्र के होने से गूगल को अमेजन वेब सर्विसेज और माइक्रोसॉफ्ट जैसे प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ अधिक आक्रामक रूप से मुकाबला करने में मदद मिलेगी, जो भारत में अपनी मौजूदगी का तेजी से विस्तार कर रहे हैं।

सुंदर पिचाई ने दी जानकारी
इस मौके पर गूगल और अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि गूगल क्लाउड सभी आकार की कंपनियों को विश्वसनीय और सुरक्षित क्लाउड तकनीक का उपयोग करते हुए जटिल चुनौतियों का समाधान करने में मदद कर रहा है। उन्होंने कहा, "इसमें HDFC बैंक, जो परिचालन सुविधा के लिए गूगल क्लाउड का उपयोग कर रही हैं। और शेयरचैट, जो 15 विभिन्न भारतीय भाषाओं में अपने ग्राहकों को बेहतर सेवा देने के लिए गूगल क्लाउड का उपयोग कर रही है, जैसी कंपनियां शामिल हैं।"

भारत में कई कंपनियां गूगल क्लाउड का इस्तेमाल कर रहीं
गूगल क्लाउड खुदरा, सीपीजी, स्वास्थ्य देखभाल और जीवन विज्ञान, वित्तीय सेवाओं, संचार सेवा प्रदाताओं, मीडिया और मनोरंजन, गेमिंग, विनिर्माण और औद्योगिक, आपूर्ति श्रृंखला और रसद तथा सार्वजनिक क्षेत्र पर केंद्रित है। भारत में इसके ग्राहकों में एचसीएल, इनमोबी, टीवीएस, डेलीहंट, वूट आदि शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...