चीन के खिलाफ एक्शन:चीन का ट्विटर कहा जाने वाला वीबो और सर्च इंजिन ऐप बायडू बैन; वीबो पर प्रधानमंत्री मोदी का भी अकाउंट है

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
29 जून को केंद्र सरकार ने चीन के 59 ऐप्स को बैन किया था। इसके बाद 27 जुलाई को 47 ऐप्स बैन किए गए। 27 जुलाई को बैन किए गए ऐप्स की लिस्ट जारी नहीं की गई थी। - Dainik Bhaskar
29 जून को केंद्र सरकार ने चीन के 59 ऐप्स को बैन किया था। इसके बाद 27 जुलाई को 47 ऐप्स बैन किए गए। 27 जुलाई को बैन किए गए ऐप्स की लिस्ट जारी नहीं की गई थी।
  • ये दोनों उन्हीं 47 ऐप्स में शामिल हैं, जिन्हें सरकार ने 27 जुलाई को बैन किया था, इनके नाम अब सामने आए हैं
  • वीबो को चीन में 2009 में लॉन्च किया था, दुनिया में इसके 50 करोड़ से ज्यादा यूजर्स

चीन केे आर्थिक हितों पर मोदी सरकार ने एक बार फिर सख्त कार्रवाई की। 27 जुलाई को केंद्र सरकार ने 47 चीनी ऐप्स को बैन किया था। इनमें वीबो और बायडू भी शामिल हैं। इसकी जानकारी इसलिए देरी से सामने आई क्योंकि 27 जुलाई को बैन किए गए ऐप्स की लिस्ट जारी नहीं की गई थी। इसके पहले 29 जुलाई को भी सरकार ने 59 चीनी ऐप्स को बैन किया था। लेकिन, तब इनकी लिस्ट जारी की गई थी। अब वीबो और बायडू गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर से भी हटा दिए जाएंगे। वीबो पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी अकाउंट है।

चीन को तगड़ा जवाब

वीबो (Weibo) और बायडू सर्च (Baidu Search) चीन के लिहाज से काफी अहम ऐप्स हैं। वीबो को ट्विटर जबकि बायडू को गूगल का विकल्प माना जाता है। सूत्रों की मानें तो सरकार अब चीन के एक और पॉपुलर ऐप पबजी को भी बैन करने पर विचार कर रही है।

मोदी ने भी बनाया था अकाउंट
वीबो को चीन के साइनो कॉर्पोरेशन ने 2009 में लॉन्च किया था। इसके करीब 50 करोड़ यूजर्स हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इसे इस्तेमाल करते थे। उन्होंने चीन के इस माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर साल 2015 में अपनी चीन यात्रा से पहले अकाउंट बनाया था। इस पर पहली पोस्ट में मोदी ने चीन के लोगों से कनेक्ट होने होने की बात कही थी।

चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगने के बाद चिंगारी ऐप का मिला फायदा

भारत में जड़ें मजबूत कर रहा था बायडू
बायडू भारत में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश कर रहा था। बायडू का फेसमोजी (Facemoji) कीबोर्ड काफी पॉपुलर है। कंपनी के सीईओ रॉबिन ली भी भारतीय यूजर्स के बीच ऐप की पहुंच को बढ़ाने के सिलसिले में इसी साल जनवरी में आईआईटी मद्रास पहुंचे थे। तब उन्होंने कहा था कि वह खासतौर से आर्टिफिशल इंटेलिजेंस और मोबाइल कंप्यूटिंग के क्षेत्र में भारतीय टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूशंस के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं।

पहले 59 ऐप्स फिर 47 ऐप्स बैन किए
भारत-चीन बॉर्डर गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। जिसके बाद से सरकार लगातार चीनी प्रोडक्ट के साथ चीनी ऐप्स को भी भारत में बैन कर रही है। पहले 59 चीनी ऐप्स को बैन किया गया था। इनमें टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, हैलो, लाइकी, शेयर इट, वी चैट, कैम स्कैनर और मी कम्युनिटी जैसे पॉपुलर ऐप्स शामिल थे। इसके बाद सरकार ने 27 जुलाई को 47 और ऐप्स को बैन कर दिया था। हालांकि, तब इनकी डीटेल्ड लिस्ट जारी नहीं की गई थी।

क्या पबजी समेत 275 अन्य ऐप्स पर भी प्रतिबंध लगेगा?

पबजी पर भी चल सकती है कैंची
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार 275 और चाइनीज ऐप्स को बैन करने की तैयारी में है। इनमें PUBG और बाइटडान्स के Resso जैसे ऐप्स शामिल हैं। इन ऐप्स की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...