पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Tech auto
  • Every Indian Is Spending Rs 18 Per Day For Video, India Will Have A Market Of Rs 10 Lakh Crore By 2030

OTT कंटेंट की बढ़ी डिमांड:हर भारतीय वीडियो के लिए रोजाना 18 रुपए खर्च कर रहा, भारत में 2030 तक 10 लाख करोड़ रुपए का होगा मार्केट

नई दिल्ली9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारत में वीडियो OTT का मार्केट 2030 तक लगभग 10 लाख करोड़ रुपए (12.5 बिलियन डॉलर ) तक पहुंचने का अनुमान है। जो अभी लगभग 2 लाख करोड़ रुपए (1.5 बिलियन डॉलर) का है। एडवाइजर कंपनी रिजर्व बैंक साउथ अफ्रीका (RBSA) ने इस रिपोर्ट को जारी किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इंटरनेट नेटवर्क और डिजिटल कनेक्टविटी बढ़ने से OTT मार्केट को मजबूती मिली है। साथ ही भारत में बोली जानें वाली भाषा के कंटेंट से भी इसके ग्रोथ में बढ़त मिली है।

2030 में 10 लाख करोड़ रुपए का होगा मार्केट
डिज्नी प्लस, हॉटस्टार, अमेजन प्राइम वीडियो और नेटफ्लिक्स के आलावा अब स्थानीय और क्षेत्रीय OTT कंपनियों का भी दबदबा दिख रहा है। इसमें सोनी लिव, वूट, जी5, एरोस नाउ (Eros Now), ऑल्ट बालाजी, होई चोई और अड्डा टाइम्स और दूसरे प्लेटफॉर्म शामिल हैं। रिपोर्ट कहना है कि वीडियो OTT मार्केट 2025 तक लगभग 3 लाख करोड़ (4 बिलियन डॉलर) ) पहुंच सकता है, जो कि अभी लगभग 2 लाख करोड़ रुपए (1.5 बिलियन डॉलर) है। वहीं अगले पांच सालों बाद 2030 में लगभग 10 लाख करोड़ रुपए ( 12.5 बिलियन डॉलर ) पहुंचने की उम्मीद है।

OTT के ऑडियो मार्केट का हाल
भारत म्यूजिक OTT में गाना, जियो सावन, विंक म्यूजिक, स्पोटीफाई जैसे प्लेटफॉर्म इस्तेमाल किए जाते हैं। ये मार्केट भी साल 2025 तक लगभग 3 लाख करोड़ रुपए पहुंच सकता है। जो अभी 45 हजार करोड़ रुपए है। भारत के OTT मार्केट अगले 4 साल में हर साल 28.6% की ग्रोथ देखने को मिल सकती है। रिपोर्ट का मानना है कि अगले 9 से 10 साल में यह 2 लाख करोड़ तक पहुंच सकती है।

वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म की बढ़ी डिमांड
रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी एक गेम-चेंजर रही है और नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम वीडियो, डिज़नी + हॉटस्टार, वूट, सोनी लिव सहित दूसरे OTT वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म को भारत में लोगों ने बहुत पसंद किया है। अगले 45 सालों में OTT बहुत ज्यादा कंपटीशन देखने को मिलेगा। उम्मीद है कि OTT सर्विस देने वाले का कहना है कि वह कस्टमर के बीच पसंदीदा प्लेटफॉर्म बनने की कोशिश करेंगे।

5 साल में सालाना 30.7% ग्रोथ होगी
OTT सर्विस नेटफ्लिक्स, अमेजन, डिजनी + हॉटस्टार और साथ ही दूसरे कंटेंट पर बड़े निवेश से सब्सक्रिप्शन वीडियो-ऑन-डिमांड को टोटल 93% करने में मदद मिलेगी। OTT का दुनियाभर में 87% की तुलना में भारत में इसे 2019 से 2024 तक सालाना 30.7% बढ़ने की उम्मीद है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में OTT वीडियो सेगमेंट में एक यूजर्स से मिले रेवेन्यू की बात करें तो यह 2021 में 7.2 अमरीकी डॉलर (लगभग 537.25 रुपए) होने का अनुमान है। साथ ही, OTT यूजर्स के आधार पर 2025 तक 47 करोड़ लोगों ( 462.7 मिलियन डॉलर) तक इसकी पहुंच जाएगा।