फेस्टिवल सीजन में मोबाइल की कमी:ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के मुकाबले ऑफलाइन में मोबाइल की सप्लाई ज्यादा होगी, ज्यादा डिमांड को देखते हुए रिटेलर ने बढ़ाया स्टॉक

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में फेस्टिवल सीजन शुरू होने वाला है। इस बीच ग्राहकों के लिए बुरी खबर है। रिपोर्ट के मुताबिक जब आप मार्केट में किसी को गिफ्ट देने के लिए मोबाइल खरीदने जाएंगे तो हो सकता है कि दुकान में आपको मोबाइल न मिले। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि दुनियाभर में चिप की कमी देखी गई है।

पिछले साल फेस्टिव सीजन में 30 हजार करोड़ का हुआ बिजनेस
देश में हैंडसेट मोबाइल की सप्लाई में कमी देखी गई है। जो कि लगातार जारी रहेगी। इंडस्ट्री रिपोर्ट के मुताबिक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के मुकाबले ऑफलाइन में मोबाइल की सप्लाई ज्यादा प्रभावित रहने की उम्मीद है। वहीं पिछले साल की बात करें तो फेस्टिवल सीजन के एक हफ्ते में 30 हजार करोड़ रुपए का बिजनेस देखा गया था

रिटेलर्स सप्लाई की डर से स्टॉक बढ़ा रहे
देश में फेस्टिवल सीजन की शुरूआत होने वाली है। इस बीच रिटेलर्स के बीच मोबाइल फोन स्टॉक करने को लेकर होड़ सी मच गई है। चिप की कमी की वजह से मोबाइल फोन की सप्लाई में भारी कमी देखने को मिल सकती है।

कुछ रिटेलर्स का कहना है कि वह पहले 21 दिन का एडवांस स्टॉक रखते थे लेकिन इसे बढ़ाकर उन्होंने 30 दिन का कर लिया है।

ऑनलाइन-ऑफलाइन दोनों सेगमेंट में कमी होगी
वहीं देश में हैंडसेट मोबाइल की सप्लाई में कमी देखी गई है, इंडस्ट्री के सूत्रों का मानना है कि ऑनलाइन बिक्री के मुकाबले मार्केट में दुकानों पर होने वाली बिक्री ज्यादा प्रभावित हो सकती है। ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों सेगमेंट में कंपोनेंट की कमी की वजह से सप्लाई प्रभावित हो सकती है।

ऑफलाइन के मुकाबले ऑनलाइन जल्दी मिलते हैं फोन
रिपोर्ट का कहना है कि ऑफलाइन मार्केट में मोबाइल नहीं होने पर ज्यादातर लोग ऑनलाइन मार्केट की ओर आएंगे। यहां तक कि ऑफलाइन मार्केट में आपके पसंद के मॉडल नहीं मिलें। ऑल इंडिया मोबाइल रिटेलर्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविंदर खुराना का कहना है कि शाओमी जैसे ब्रांड ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर फोकस करते हैं।

फोन लॉन्च होने के बावजूद लंबे समय तक ऑफलाइन स्टोर तक नहीं पहुंचते हैं। उनका कहना है कि ऑफलाइन स्टोर में फोन के न पहुंचने का कारण ऑनलाइन एक्सक्लूसिव डील होती है। सैमसंग, ओप्पो, रियलमी और शाओमी कुछ ऐसे ब्रांड हैं जिनके पिछले कुछ हफ्तों से स्मार्टफोन की कमी देखी जा रही है।

मोबाइल कंपनी ने रिपोर्ट का खंडन किया
हालांकि शाओमी ने अरविंद की बातों को गलत बताया है। कंपनी का कहना है कि शाओमी के ऑफलाइन बिक्री में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। साथ ही मोबाइल का स्टॉक देखने वाली यूनिट इस पर नजर बना कर सप्लाई और डिमांड को बैलेंस कर रही है।

खबरें और भी हैं...