पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Tech auto
  • On The Help Section Of Facebook, Instagram, The Option Of Memorial, Legacy Contact Will Get The Option To Change The Profile Photo.

..ताकि सुरक्षित रहें अपनों की यादें:किसी के मौत के बाद भी यूज किया जा सकता है उसका सोशल मीडिया अकाउंट, हेल्प सेक्शन में मिलता है ऑप्शन

19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आज के समय में सोशल मीडिया के जरिए डिजिटल डेटा की भरमार है। क्या आपने कभी सोचा है कि मृत्यु के बाद इन डिजिटल डेटा का क्या होगा। सोशल मीडिया से लोगों के जुड़ाव से उनमें ऐसी कई स्टोरी होती है जो उनके परिवार से जुड़ी होती हैं। जो एक तरह से फैमिली एलबम का काम करती हैं।

कोरोना वायरस की वजह से लाखों लोगों की जान गई हैं। सवाल ये कि उनके सोशल मीडिया के अकाउंट परिवार वालों को कैसे मिले। साथ ही डिजिटल मीडिया में रखे गए जरूरी डेटा का गलत इस्तेमाल न हो यह भी जरूरी होता है। सोशल मीडिया में सेटिंग की मदद से अपने सोशल मीडिया के अकाउंट किसी को सौंप सकते हैं। इसके लिए सोशल मीडिया कंपनी कई ऑप्शन देती हैं।

मेमोरियल अकाउंट बनाने का ऑप्शन

फेसबुक या इंस्टाग्राम में फॉर्म भरना होता है। इसमें यूजर की मौत की जानकारी देनी होगी। जिससे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूजर्स के प्रोफाइल को मेमोरियल अकाउंट में बदल देते हैं। फेसबुक में यूजर के नाम में रिमेंबरिंग वर्ड जोड़ दिया जाता है। अब यूजर को टाइमलाइन में टैग करने वाली की पोस्ट उसके पेज पर दिखेगी। बर्थडे वाली नोटिफिकेशन भी लोगों के पास नहीं जाएगी। न ही फ्रेंड सजेशन में उनका नाम दिखेगा। वहीं इंस्टाग्राम पर मेमोरियल अकाउंट में बदलने के बाद कोई बदलाव नहीं होता है। लेकिन फेसबुक पर लिगेसी कॉन्टैक्ट का ऑप्शन मिलता है।

अकाउंट बंद करने का ऑप्शन

फेसबुक और इंस्टाग्राम के हेल्प सेक्शन में यह ऑप्शन मिलता है। सबसे पहले यूजर्स के मरने की सूचना देने होगी। इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा। इस फॉर्म में आपका नाम, आपका ईमेल, मरने वाले का नाम, उसका यूजरनेम, उसका लिंक, मरने वाले दिन की डेट और मृत्यु प्रमाणपत्र अपलोड करना होगा। जब ये जानकारी को वेरीफाई हो जाएगी तो अकाउंट को बंद कर दिया जाएगा।

लिगेसी कॉन्टैक्ट वाला ऑप्शन

कई यूजर्स चाहते हैं कि उनकी मौत के बाद उनका अकाउंट चलता रहे। इसके लिए फेसबुक पर लिगेसी कॉन्टैक्ट चुनने का ऑप्शन मिलता है। मौत होने की जानकारी मिलने पर ये प्लैटफॉर्म अकाउंट को मेमोरियल अकाउंट में तब्दील कर देंगे और लिगेसी कॉन्टैक्ट को आपका अकाउंट हैंडल करने का अधिकार देंगे। हालांकि, उनके पास भी आपके अकाउंट का लिमिटेड एक्सेस ही होगा। जिसमें प्रोफाइल और कवर फोटो बदलना, यूजर के आखिरी मैसेज को पोस्ट करके पिन टू टॉप कर सकते हैं।

यूजर के मौत के बाद लिगेसी कॉन्टैक्ट का ऑप्शन नहीं मिलता

यूज़र का लेगेसी कॉन्टैक्ट वही बन सकता है जिसे उस यूजर चुना हो। यूजर की मौत के बाद कोई व्यक्ति लिगेसी कॉन्टैक्ट का ऑप्शन नहीं मिलता है। इस स्थिति में सिर्फ उनके परिवार वाले अकाउंट को मेमोरियल और डिलीट करने के लिए आवेदन कर सकते है।

खबरें और भी हैं...