पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Tech auto
  • OnePlus Nord 2 5G Allegedly Explodes In Delhi Based Advocate’s Gown, Company Responds

वनप्लस फोन में फिर ब्लास्ट:वकील के गाउन में फटा नॉर्ड 2 5G, ब्लास्ट से पहले निकलने लगा था धुआं; महीनेभर पहले महिला के बैग में फटा था यही मॉडल

14 दिन पहले

प्रीमियम एंड्रॉयड स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी वनप्लस के लेटेस्ट स्मार्टफोन वनप्लस नॉर्ड 2 में ब्लास्ट की खबर आई है। दिल्ली के एडवोकेट गौरव गुलाटी ने स्मार्टफोन फटने की कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर की हैं। उन्होंने बताया कि ये फोन उनके गाउन में उस वक्त फट गया जब वे कोर्ट में अपने चेंबर में थे। इसी दौरान फोन फटकर बुरी तरह डैमेज हो गया और उनके गाउन में भी आग लग गई। महीनेभर पहले अंकुर शर्मा नाम के यूजर ने भी ऐसी ही शिकायत की थी। उन्होंने कहा था कि उनकी पत्नी का वनप्लस नॉर्ड 2 फोन फट गया है, जो कि 5 दिन पहले ही खरीदा गया था।

फोन से निकल रहा था धुआं
गौरव ने बताया कि वे 8 सितंबर को वे अपने ऑफिस (कोर्ट चेंबर) में बैठे थे, तब उन्हें अपने गाउन की जेब में गर्मी महसूस हुई। उन्होंने अपनी पॉकेट से वनप्लस नॉर्ड 2 5G स्मार्टफोन को बाहर निकाला तो उसमें से धुआं निकल रहा था। उन्होंने तुरंत गाउन को उतार दिया। इसके बाद फोन में ब्लास्ट हो गया और पूरे कमरे में धुआं फैल गया।

वनप्लस ने इस मामले में क्या कहा?
मामला सामने आने के बाद कंपनी ने कहा कि कुछ दिन पहले एक व्यक्ति ने हमें ट्विटर पर वनप्लस नॉर्ड 2 5G में हुए कथित विस्फोट के बारे में बताया था। हमारी टीम तुरंत उस व्यक्ति के पास उसके दावे की हकीकत जानने के लिए पहुंच गई। हम इस तरह के हर दावे को यूजर्स की सुरक्षा के लिहाज से बहुत गंभीरता से लेते हैं।

वनप्लस नॉर्ड 2 5G के स्पेसिफिकेशन

  • ये स्मार्टफोन डुअल नैनो सिम को सपोर्ट करता है। वहीं, एंड्रॉयड 11 के साथ कंपनी के ऑक्सीजन ओएस 11.3 पर रन करता है। इसमें 6.43-इंच फुल-HD+ (1,080x2,400 पिक्सल) प्लॉइड एमोलेड डिस्प्ले दिया है। इसकी रिफ्रेश रेट 90Hz है। फोन में ऑक्टा-कोर मीडियाटेक डायमेनसिटी 1200-AI प्रोसेसर के साथ 12GB रैम मिलेगी। फोन में 256GB UFS 3.1 ऑनबोर्ड स्टोरेज दिया है।
  • इसमें ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप किया गया है। 50 मेगापिक्सल सोनी IMX766 प्राइमरी सेंस, 8 मेगापिक्सल अल्ट्रा-वाइड सेकेंडरी सेंसर और 2 मेगापिक्सल मोनोक्रोम सेंसर दिया है। सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए इसमें 32 मेगापिक्सल सोनी IMX615 कैमरा लेंस दिया है। ये फ्रंट फेसिंग और EIS (इलेक्ट्रॉनिक इमेज स्टेबलाइजेशन) सपोर्ट के साथ आता है।
  • कनेक्टिविटी के लिए फोन में 5G के साथ 4G LTE, Wi-Fi 6, ब्लूटूथ v5.2, GPS/ A-GPS/ NavIC, NFC, USB Type-C पोर्ट मिलेंगे। इसमें एक्सेलेरोमीटर, एंबियंट लाइट, जायरोस्कोप और एक प्रॉक्सिमिटी सेंसर भी दिए हैं। फोन में इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर दिया है। इसमें 4,500mAh बैटरी दी है, जो 65 वॉट वार्प चार्ज को सपोर्ट करती है। ये 30 मिनट में फुल चार्ज हो जाता है।

क्यों फट जाती है मोबाइल की बैटरी?
वनप्लस नॉर्ड 2 5G के फटने का कारण सामने नहीं आया है, लेकिन मुंबई के आईटी एक्सपर्ट मंगलेश एलिया ने बताया चार्जिंग के समय मोबाइल के आसपास रेडिएशन हाई रहता है। इस कारण भी बैटरी गरम हो जाती है। इसलिए यह चार्जिंग के वक्त बात करने पर ब्लास्ट हो सकती है। कई बार यूजर्स की गलतियों की वजह से भी बैटरी ओवरहीट होकर फट जाती है। बैटरी के सेल डेड होते रहते हैं जिससे फोन के अंदर के केमिकल में चेंजेस होते हैं और बैटरी फट जाती है।

फोन की बैटरी फटने के पहले मिल सकते हैं 3 संकेत

  • फोन की स्क्रीन का ब्लर होना या स्क्रीन में पूरी तरह डार्कनेस आ जाना।
  • फोन बार-बार हैंग होना और प्रोसेसिंग स्लो हो जाना।
  • बात करते वक्त फोन नॉर्मल से ज्यादा गर्म होना।

ये 9 गलतियां भी न करें

  • फेक चार्जर, फेक बैटरी का यूज कभी न करें। जिस ब्रांड का फोन यूज कर रहे हैं, उसी का चार्जर यूज करें।
  • पानी में भीगे फोन को चार्जिंग पर न लगाएं। फोन चार्ज करते वक्त उसका यूज न करें।
  • बैटरी डैमेज हो गई है तो उसे तुरंत फ्रेश बैटरी से एक्सचेंज कर दें।
  • मोबाइल को 100% चार्ज न करें। अगर आप 100% चार्ज करते हैं तो इससे बैटरी खराब होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • मोबाइल की बैटरी 80 से 85% तक चार्ज करना सही माना जाता है।
  • पूरी रात मोबाइल चार्जिंग पर लगाकर छोड़ देने से बैटरी जल्दी खराब होने लगती है। इसका पूरे मोबाइल की परफॉर्मेंस पर भी बुरा असर पड़ सकता है।
  • मोबाइल को किसी भी गर्म जगह पर रखकर चार्ज करने से बैटरी तेजी से गर्म होने लगती है। ऐसा बार-बार करने से बैटरी और मोबाइल जल्दी खराब होने की आशंका बढ़ जाती है।

इन बातों का भी ध्यान रखें

  • फोन चार्जिंग पर लगाकर म्यूजिक सुनने या यूज करने से दुर्घटना होने के कई मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें यूजर की जान तक जा चुकी है। इसलिए कभी भी चार्जिंग के दौरान फोन का इस्तेमाल न करें।
  • कभी भी स्मार्टफोन को अपने एकदम पास रखकर न सोएं। एक्सपर्ट्स भी कह चुके हैं कि मोबाइल डिवाइसेज नजदीक होने से ब्रेन सिग्नल में बाधा पहुंचती है इससे नींद अच्छे से नहीं आती।
  • जहां सूरज की किरणें सीधे आ रही हों या गर्मी वाली जगह जैसे कार के डैशबोर्ड पर मोबाइल को रखकर चार्ज न करें। इससे टेम्परेचर बढ़ने के कारण बैटरी ब्लास्ट हो सकती है।
  • कई बार हम तकिया के नीचे फोन चार्ज पर लगाकर छोड़ जाते हैं, इससे भी हीट की प्रॉब्लम हो सकती है और आग तक लग सकती है।
  • स्मार्टफोन को पावर स्ट्रिप एक्सटेंशन बोर्ड से चार्ज न करें तो बेहतर होता है।
  • चार्ज करते समय स्मार्टफोन से कवर को अलग कर देना चाहिए। केस हीट को फैलने से रोकता है।
खबरें और भी हैं...