• Hindi News
  • Tech auto
  • Ratan Tata Celebrates 84th Birthday With A Child By Cutting Cupcake, Video Viral On Social Media

सादगी वाला सेलिब्रेशन:रतन टाटा ने अपने 84वें बर्थडे पर सिंगल कैंडल फूंककर कपकेक काटा, वायरल हुआ वीडियो

नई दिल्ली5 महीने पहले

रतन टाटा 28 दिसंबर को 84 साल के हो गए हैं। उनके मौजूदा बर्थडे सेलिब्रेशन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो को बिजनेसमैन हर्ष गोयनका ने शेयर किया है। वीडियो में रतन टाटा बेहद सादगी के साथ अपना जन्मदिन मना रहे हैं। वीडियो में उनके साथ यंग बिजनेसमैन शांतनु नायडू भी हैं। गोयनका ने ये वीडियो 29 दिसंबर को शेयर किया था, जिसके बाद ये वायरल हो गया।

30 सेकेंड के इस वीडियो में रतन टाटा शांतनु नायडू के साथ नजर आ रहे हैं। वीडियो की शुरुआत में वे कपकेक पर लगी सिंगल कैंडल को फूंक रहे हैं। इसका वे वीडियो भी बना रहे हैं। पास बैठे शांतनु ताली बजाकर उन्हें बधाई दे रहे हैं। बाद में शांतनु उठकर रतन टाटा के कंधे और पीठ पर प्यार से हाथ फेरते हैं। फिर उन्हें कपकेक से छोटी सी बाइट खिलाते हैं। इस वीडियो पर रतन टाटा के लिए शुभकामनाएं का तांता लग गया है। साथ ही लोग उनके इस सादगी से भरे सेलिब्रेशन की तारीफ कर रहे हैं।

रतन टाटा जिन्होंने बदली देश की तस्वीर, जानिए इस दिग्गज के बड़े फैसलों से लेकर दिलचस्प किस्से

कौन हैं शांतनु नायडू?
28 साल के शांतनु छोटी उम्र में ही बिजनेस इंडस्ट्री में एक नया मुकाम हासिल कर लिया है। शांतनु ने अपने आइडियाज से देश के दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा को भी अपना फैन बना लिया है। शांतनु की एक कंपनी है, जिसका नाम है मोटोपॉज और ये कंपनी कुत्तों के कॉलर का निर्माण करती है। ये कॉलर अंधेरे में चमकते हैं ताकि कोई वाहन उन्हें ठोककर ना मार दे। ऐसा भी कहा जाता है कि रतन टाटा अपना पर्सनल निवेश जिन स्टार्टअप्स में करते हैं, उनके पीछे 28 साल के शांतनु का दिमाग होता है।

रतन टाटा का जन्म भारत के सूरत में हुआ
रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर, 1937 को भारत के सूरत शहर में हुआ था। रतन टाटा नवल टाटा के बेटे हैं जिन्हे नवजबाई टाटा ने अपने पति रतनजी टाटा की मृत्यु के बाद गोद लिया था। रतन टाटा की शुरुआती शिक्षा मुंबई के कैंपियन स्कूल से हुई और कैथेड्रल में ही अपनी माध्यमिक शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने जॉन केनौन कॉलेज से वास्तुकला में अपनी बीएससी की। फिर कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से 1962 में संचारात्मक इंजीनियरिंग और 1975 में हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम किया।

1991 से 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष रहे
रतन टाटा साल 1991 से लेकर 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष रहे। 28 दिसंबर 2012 को उन्होंने टाटा ग्रुप के अध्यक्ष पद को छोड़ दिया मगर वे अभी भी टाटा समूह के चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं। अपने कार्यकाल में वे टाटा ग्रुप के सभी प्रमुख कम्पनियों जैसे टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, टाटा पावर, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा टी, टाटा केमिकल्स, इंडियन होटल्स और टाटा टेलीसर्विसेज के भी अध्यक्ष थे। उनके नेतृत्व में टाटा ग्रुप ने नई ऊंचाइयों का हासिल किया।