• Hindi News
  • Tech auto
  • Reliance JioPhone Next With Google; Compare By Price, Features And Specifications

जियोफोन नेक्स्ट का 'श्री गणेश':रिलायंस-गूगल ने दिया दुनिया का सबसे सस्ता एंड्रॉयड स्मार्टफोन, पिचाई बोले- डिजिटलीकरण तेज होगा; जानिए पिक्सल फोन पर क्या असर होगा?

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी 44वीं एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) में आज जियोफोन नेक्स्ट स्मार्टफोन लॉन्च कर दिया। इसे रिलायंस जियो और गूगल दोनों ने मिलकर तैयार किया है। फोन गूगल के एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर रन करेगा। यानी गूगल प्ले स्टोर के साथ गूगल की दूसरी सर्विसेज भी फोन पर मिलेंगी। ये 4G स्मार्टफोन होगा या 5G, इस बारे में कुछ नहीं बताया गया है। इसकी कीमत की जानकारी भी शेयर नहीं की गई है।

जियोफोन नेक्स्ट का भारत में क्या इम्पैक्ट होगा? क्या इससे गूगल के पिक्सल स्मार्टफोन के साथ दूसरी कंपनियों के स्मार्टफोन की बिक्री पर भी असर होगा? इसके फीचर्स और कीमत क्या होगी? इन तमाम बातों को जानते हैं...

5000 रुपए से कम होगी स्मार्टफोन की कीमत
जियोफोन नेक्स्ट स्मार्टफोन की बिक्री का श्री गणेश 10 सितंबर यानी गणेश चतुर्थी के दिन से होगा। फिलहाल इसकी कीमत के बारे में कोई अनाउंसमेंट नहीं किया गया है, लेकिन मुकेश अंबानी ने कहा है कि ये देश ही नहीं, बल्कि दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन होगा।

अब सवाल ये उठता है कि ये दुनिया का सबसे सस्ता 4G स्मार्टफोन होगा या 5G। इस बारे में कंपनी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि ये 5G स्मार्टफोन होगा और 4G नेटवर्क को भी सपोर्ट करेगा। इसकी कीमत 5000 रुपए के करीब हो सकती है। बता दें कि अभी आई स्मार्ट कंपनी के कई स्मार्टफोन मॉडल की कीमत 4000 रुपए से कम है।

जियोफोन नेक्स्ट स्मार्टफोन के फीचर्स

  • कंपनी ने इस स्मार्टफोन के फोटो जारी कर दिए हैं। फोटो से साफ होता है कि इसमें टचस्क्रीन डिस्प्ले मिलेगा, लेकिन इसके साइज पर फिलहाल सस्पेंस है। फोन के फ्रंट की बात की जाए, तो ऊपर की तरफ इसमें सेल्फी कैमरा और सेंसर दिया है।
  • फोन के बैक साइड में सिंगल रियर AI कैमरा और उसके ठीक नीचे LED फ्लैश दिया है। पीछे की तरफ Jio का लोगो भी है। हो सकता है कि ये फिंगरप्रिंट स्कैनर का भी काम करे। सबसे नीचे की तरफ स्पीकर ग्रिल दी है।
  • फोन का रियर कैमरा में HDR, लो लाइट और नाइट मोड जैसे फीचर्स भी मिलेंगे। फ्रंट कैमरा के लिए स्नैपचैट लेंस दिया गया है, जिससे सेल्फी में कई इफेक्ट्स मिलेंगे।
  • फोन के राइट साइड में ऊपर की तरफ वॉल्यूम रॉकर्स और उसके ठीक नीचे पावर बटन दिया है। फोन का लेफ्ट साइड पूरी तरह क्लीन है। फोन के ऊपर और नीचे का हिस्सा फोटो में नहीं दिखाया गया।
  • फोन की स्क्रीन को देखकर ये साफ होता है कि ये प्योर एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करेगा। इसमें गूगल ऐप्स और जियो ऐप्स का फोल्डर दिख रहा है। प्ले स्टोर से ऐप्स भी इन्स्टॉल कर पाएंगे।
  • स्मार्टफोन वॉइस असिस्टेंट, ऑटोमैटिक स्क्रीन टेक्स्ट रीड, लेंग्वेज ट्रांसलेशन, कैमरा में ऑग्मेंटेड रियलटी फिल्टर जैसे कई दूसरे एडवांस फीचर्स भी मिलेंगे।
  • गूगल ने कहा है कि इस स्मार्टफोन को लगातार अपडेट मिलेंगे। साथ ही, फोन को वर्ल्ड क्लास सिक्योरिटी और मैलवेयर प्रोटेक्शन भी मिलेगा।

गूगल के पिक्सल स्मार्टफोन पर इसका क्या असर होगा?

रिलायंस ने जियोफोन नेक्स्ट को गूगल के साथ तैयार किया है। यानी फोन के सॉफ्टवेयर की निगरानी गूगल करने वाला है। हालांकि, इसमें जियो ऐप्स के साथ जियो की दूसरी सभी सर्विसेज का भी काम करेंगी। वैसे, भारत में गूगल अपने पिक्सल स्मार्टफोन भी बेचती है। पिक्सल स्मार्टफोन की ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर शुरूआती कीमत 31,999 रुपए है। यानी ये तो साफ है कि पिक्सल स्मार्टफोन और जियोफोन नेक्स्ट के बीच में कोई मुकाबला नहीं होने वाला। वैसे भी पिक्सल प्रीमियम कैटेगरी वाला स्मार्टफोन है। जबकि जियोफोन नेक्स्ट दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन।

भारत में जियोफोन नेक्स्ट का क्या असर होगा?
मुकेश अंबानी ने AGM के दौरान फोन की लॉन्चिंग पर कहा कि '2G मुक्त 5G युक्त'। यानी वे देश में मौजूद 2G ग्राहकों को 5G पर शिफ्ट करना चाहते हैं। अभी देश में 45 करोड़ ऐसे लोग हैं जो स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं करते। रिलायंस जियो और गूगल का फोकस इन्हीं लोगों पर है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने रिलायंस की AGM के दौरान कहा कि भारत के लोगों के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए इंटरनेट से जोड़ना जरूरी है। इसके लिए रिलायंस का अफोर्डेबल जियोफोन नेक्स्ट मजबूत कड़ी साबित होगा।

जियो नेटवर्क से 40 करोड़ से ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं। एयरटेल और वीआई (वोडाफोन-आइडिया) की तुलना में जियो के सब्सक्राइबर्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है। 2025 तक भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या 90 करोड़ के पार जाने की संभावना है। ऐसे में लोगों को इंटरनेट और 5G के तेज नेटवर्क से जोड़ने में जियोफोन अहम रोल प्ले कर सकता है।

चीनी और कोरियन कंपनी को मिलेगी टक्कर
देश में अभी स्मार्टफोन के 75 फीसदी मार्केट पर चीनी स्मार्टफोन कंपनियों का दबदबा है। खासकर, शाओमी, वीवो, ओप्पो, रियलमी, वनप्लस, जिओनी जैसी चीनी कंपनियों के फोन सबसे ज्यादा बिकते हैं। इसके बाद दक्षिण कोरियन कंपनी सैमसंग का नंबर आता है। ऐसे में जियोफोन नेक्स्ट के आने से दूसरी कंपनियों की 4G और 5G मार्केट पर बुरा असर हो सकता है। कंपनी जियोफोन की तरह जियोफोन नेक्स्ट के साथ लुभावने डेटा ऑफर भी कर सकती है। जो ग्राहकों को अपनी तरफ खींच सकता है।

खबरें और भी हैं...