• Hindi News
  • Tech auto
  • Royal Enfield MD Siddhartha Lal Net Worth | Success Story Eicher Motors Owner And Royal Enfield Journey Since 1901

एनफील्ड क्लासिक 350 लॉन्च:2000 में खत्म हो जाता बुलेट का रॉयल सफर, सिद्धार्थ लाल ने 2 साल में बदल दी कहानी; 48 रुपए का शेयर 2674 पर पहुंचाया

नई दिल्ली2 महीने पहलेलेखक: नरेंद्र जिझोतिया

कुछ कहानियां भुलाए नहीं भूलतीं। इन्हें जितनी बार सुनो, उतनी बार जोश भर देती हैं। ऐसी ही कहानी है सिद्धार्थ लाल की। वही सिद्धार्थ जिन्हें रॉयल एनफील्ड का तारणहार भी कहा जाता है। आज 2021 रॉयल एनफील्ड क्लासिक 350 लॉन्च हुई है। हालांकि, आज से 21 साल पहले हालात बिल्कुल अलग थे। या यूं कहें कि रॉयल एनफील्ड की कहानी उस वक्त खत्म होने वाली थी।

सिद्धार्थ लाल को बीते हफ्ते फिर से आयशर मोटर्स का MD बनाया गया है। उनके कामयाब हाने की कहानी प्रेरणा देने वाली है। साथ ही, रॉयल एनफील्ड का सफर भी काफी रोचक है। चलिए इस पूरे सफर को ग्राफिक्स के जरिए देखते हैं...

फोकस एरिया बदला: जनवरी 2004 में सिद्धार्थ ने आयशर मोटर्स के सीईओ का पद संभाला। तब उनका ग्रुप 15 कारोबार से जुड़ा हुआ था। उन्होंने 13 तरह के कारोबार को बंद किया और पूरा पैसा और ध्यान रॉयल एनफील्ड और ट्रक पर लगाया।

कड़े फैसलों ने दिलाई सफलता: सिद्धार्थ ने रॉयल एनफील्ड की कमान संभालते ही जयपुर का नया एनफील्ड प्लांट बंद किया। डीलर डिस्काउंट खत्म कर दिया। एनफील्ड की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए रीटेल आउटलेट्स और मार्केटिंग पर ध्यान दिया। ऐसे आउटलेट्स शुरू किए, जहां पर ग्राहकों को बेहतर एक्सपीरियंस मिल सके। उन्होंने हार्ले डेविडसन के पूर्व मैनेजर रोड रोप्स को नॉर्थ अमेरिका का प्रेसिडेंट बनाया। डुकाटी के डिजाइन टीम के पीरे टेर्ब्लांच को लाए। सिद्धार्थ ट्रायम्फ के हेड इंजन्स जेम्स यंग और प्रोडक्ट प्लानिंग एंड स्ट्रैटजी हेड साइमन वारबर्टन को भी साथ लाए और कामयाबी की नई इबारत लिख दी।

खबरें और भी हैं...