बंद नहीं होंगी ऑल्टो जैसी छोटी कारें:मारुति की इलेक्ट्रिक कार के लिए 3 साल इंतजार करना होगा, अभी हाइब्रिड कारें उतारेगी

भोपाल4 महीने पहले

मारुति के इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए आपको 3 साल तक और इंतजार करना पड़ सकता है। फिलहाल कंपनी का फोकस हाइब्रिड कारों पर ही है। कंपनी ने 20 जुलाई को अपनी पहली हाइब्रिड कार ग्रैंड विटारा पेश की। ये वो कार है जो इलेक्ट्रिक और पेट्रोल मोड दोनों पर चलेगी। कंपनी आने वाले दिनों में ये टेक्नोलॉजी अपनी दूसरी कारों में भी लॉन्च कर सकती है।

मारुति सुजुकी इंडिया के सीनियर एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (सेल्स एंड मार्केटिंग) शशांक श्रीवास्तव ने बताया कि उनकी इलेक्ट्रिक कार आने में 2025 तक का वक्त लग सकता है। हालांकि, सस्ते में ज्यादा माइलेज देने के मकसद के लिए कंपनी का पूरा फोकस हाइब्रिड कारों पर है। यानी आने वाले दिनों में सिलेरियो से लेकर सियाज जैसी कारों में आपको हाइब्रिड वर्जन मिल सकता है।

ग्रैंड विटारा इसका ताजा उदाहरण है। ये कार एक लीटर पेट्रोल में करीब 28 किलोमीटर चलेगी। कीमत को लेकर अभी फैसला नहीं हुआ है, लेकिन बाजार को इसकी कीमत 10 लाख के करीब होने की उम्मीद है। 8 दिनों में ही इस कार की 20 हजार से ज्यादा बुकिंग हो चुकी हैं।

कीमतें नहीं बढ़ेंगी, डिस्काउंट मिलेगा
जनवरी 2021 से अप्रैल 2022 के बीच मारुति ने 6 बार कीमतें बढ़ाईं है। जनवरी 2021 में सभी मॉडल्स पर 1.3%, अप्रैल 2021 में 1.6% और जुलाई 21 में केवल CNG कारों की कीमतों में 0.6% का इजाफा किया गया था। इसके बाद सितंबर 21 में सिलेरियो को छोड़कर सभी कारों की कीमत में 1.9%, जनवरी 22 में सभी मॉडल्स पर 1.7% और अप्रैल 22 में भी सभी मॉडल्स पर 1.3% का इजाफा किया गया है।

ग्लोबल मार्केट में रॉ मटेरियल की कीमतों में थोड़ी गिरावट हुई है। ऐसे में फिलहाल कंपनी कीमतें बढ़ाने के बारे में नहीं सोच रही है। शशांक के मुताबिक, आने वाले फेस्टिव सीजन में ग्राहकों को डिस्काउंट ऑफर्स भी मिल सकता है।

उन्होंने कहा कि डिमांड-सप्लाई का बैलेंस डिस्काउंट ऑफर्स तय करता है। पिछली दो तिमाहियों यानी जनवरी से मार्च और अप्रैल से जून के दौरान अब तक की रिकॉर्ड बिक्री हुई है। दोनों तिमाहियों में 9 लाख से ज्यादा कारें बिकीं। यानी डिमांड अच्छी है। ऐसे में आने वाले फेस्टिव सीजन में डिस्काउंट ऑफर्स वापस हो सकते हैं। जो कोविड में बंद हो गए थे।

नहीं बंद होगी ऑल्टो
कुछ दिनों पहले खबरें थीं कि सेफ्टी नियम सख्त होने के चलते मारुति अल्टो जैसी अपनी एंट्री लेवल कारें बंद करने वाली है, लेकिन ऐसा नहीं है। शशांक श्रीवास्तव ने साफ किया कि मारुति हर सेगमेंट के कस्टमर को कार बेचती रहेगी। सेफ्टी नियमों पर खरे उतरते हुए एंट्री लेवल कारें ग्राहकों को मिलती रहेंगी।

वेटिंग पीरियड कम करने की कोशिश
मारुति की अलग-अलग मॉडल्स की 3.7 लाख कारों की डिलीवरी पेंडिग हैं। इनका एवरेज वेटिंग पीरियड 3 महीने है। मल्टी यूटिलिटी व्हीकल (MUV) अर्टिगा CNG का वेटिंग पीरियड तो 9 महीने तक है। इसके पीछे वजह सेमीकंडक्टर चिप की शॉर्टेज थी।

शशांक श्रीवास्तव ने बताया कि सितंबर 2021 में चिप शॉर्टेज की कमी के चलते प्रोडक्शन 40% तक रह गया था। इसे अब वापस 95% पर कर लिया गया है। ऐसे में हम नए लॉन्च और वेटिंग पीरियड कम करने पर ध्यान दे पा रहे हैं।

नई SUV उतारकर करेंगे आधे बाजार पर कब्जा
मारुति की मौजूदा बाजार हिस्सेदारी करीब 45% है। लेकिन SUV में ये हिस्सेदारी 20% से भी कम है। शशांक बताते हैं अगर SUV को हटा दिया जाए तो बाजार हिस्सेदारी 65% हो जाती है। साल 2020 में कुल हिस्सेदारी 50% से ऊपर थी। 2020 के बाद से SUV की डिमांड तेजी से बढ़ी।

कारों की सेल्स में 3 साल के दौरान SUV की भागीदारी 5% से करीब 30% हो गई है। मारुति की इस सेगमेंट में सिर्फ 2 कारें ब्रेजा और ग्रैंड विटारा ही हैं। ऐसे में वापस 50% बाजार हिस्सेदारी हासिल करने के लिए हम इस सेगमेंट में और कारें उतारने की तैयारी में हैं।

देसी सेफ्टी रेटिंग का इंतजार
कार की सेफ्टी को लेकर श्रीवास्तव ने कहा, अभी NCAP के जरिए कार को सेफ्टी रेटिंग दी जाती है। ये इंडियन कंडीशन्स के हिसाब से नहीं है, इसलिए मारुति इसे सही नहीं मानती। भारत का रेटिंग सिस्टम ही सही तरह से कार को रेट कर पाएगा।

बता दें कि ग्लोबल NCAP टुवर्ड्स जीरो फाउंडेशन का हिस्सा है। ये ब्रिटेन की एक चैरिटी ऑर्गनाइजेशन है। इसके चेयरमैन कभी भारत के खिलाफ थे। भारत के क्रैश टेस्ट सिस्टम का नाम भारत न्यू व्हीकल सेफ्टी असेसमेंट प्रोग्राम (BNVSAP) है। ये 2018 में शुरू होना था, लेकिन किसी वजह से ये शुरू नहीं हो पाया।

कारें ऑनलाइन बेचने पर जोर
शशांक श्रीवास्तव ने कहा कि मारुति अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म पर तेजी से काम कर रहा है। ग्राहकों को डिजिटल बायिंग एक्सपीरियंस देने के लिए डिजिटल शोरूम को 1200 से बढ़ाकर 6 हजार तक ले जाने की कोशिश है। उन्होंने कहा, हाल ही में मारुति ने नेक्सावर्स भी लॉन्च किया है। पहली बार ऐसा हुआ कि मेटावर्स में आप कार की बुकिंग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि नेक्सावर्स में आप ग्रैंड विटारा को ऑक्यूलस लगाकर देख सकते हैं। आने वाले समय में अरेनावर्स लाने का भी प्लान है।

मारुति ने 3D एक्सपीरियंस देने के लिए नेक्सावर्स लॉन्च किया है
मारुति ने 3D एक्सपीरियंस देने के लिए नेक्सावर्स लॉन्च किया है

डिजिटल सेल्स डेटा की जानकारी देते हुए श्रीवास्तव ने कहा कि ओवरऑल सेल का करीब 20-22% हिस्सा डिजिटल है। उन्होंने कहा 2016 में वेब इंक्वायरी का केवल 2-3% ही सेल्स में कनवर्ट हो पाती था। मार्च 2020 तक ये बढ़कर 15% हो गई। लेकिन कोरोना के बाद लगे लॉकडाउन में तीन महीनों के भीतर ये संख्या 45% हो गई और अब जब महामारी कम हो गई है तब भी ये 38%-40% के करीब है।

भोपाल में साइकलिंग की यादें
शशांक ने बताया कि वो भोपाल के साउथ टीटी नगर में रहते थे। उनकी शुरुआती स्कूलिंग ईदगाह हिल्स के सेंट जोसफ कॉन्वेंट स्कूल से हुई है। वहां वो बस से जाया करते थे। बाद में अरेरा कॉलोनी का कैंपेन स्कूल जॉइन कर लिया। वो बताते हैं कि क्लास 6 में उन्होंने साइकिल से स्कूल जाना शुरू किया था और इसी को वो अपनी अच्छी यादों में से एक मानते हैं।

शशांक ने कहा कि उन्हें क्रिकेट का भी काफी शौक था। इसके अलावा भोपाल के फेमस राजू टी स्टॉल में चाय पीना और न्यू मार्केट के ICH में डोसा खाना उन्हें आज भी याद है। हाल ही में जब वो भोपाल आए थे तो अपनी पुरानी यादों को ताजा करते हुए वो राजू टी स्टॉल में चाय पीने गए थे।