• Hindi News
  • Tech auto
  • Tesla CEO Elon Musk Invited By Telangana Commerce Minister To Set Up Units In State

भारत में चलेगी टेस्ला कार:मस्क ने उठाए थे सरकारी सिस्टम पर सवाल, तेलंगाना-महाराष्ट्र से मिला फैक्ट्री लगाने का न्यौता; सिद्धू भी बोले- पंजाब मॉडल में स्वागत

5 महीने पहले

टेस्‍ला के CEO एलन मस्‍क ने भले ही भारत में सरकारी चुनौतियों के चलते टेस्‍ला कार की लॉन्चिंग में समय लगने की बात कही है, लेकिन उन्हें अब सरकार की तरफ से ही न्यौता मिलने लगा है। तेलंगाना, पंजाब और महाराष्ट्र सरकार ने टेस्ला को अपने राज्यों में कार फैक्ट्री खोलने का ऑफर दिया है।

रामा राव ने एलन मस्क के एक ट्वीट पर रिप्लाई में दिया ऑफर
सबसे पहले तेलंगाना के उद्योग और वाणिज्य मंत्री केटी रामा राव ने टेस्ला को फैक्ट्री लगाने का ऑफर दिया था। उन्होंने लिखा कि यदि टेस्ला उनका ऑफर मानता है, तब उन्हें बेहद खुशी होगी।

एलन मस्क ने 13 जनवरी को एक ट्वीट करते हुए लिखा था कि सरकार के साथ कई चैलेंज का सामना करना पड़ रहा है। इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए रामा राव ने लिखा, "हाय एलन, मैं भारत में तेलंगाना राज्य का उद्योग और वाणिज्य मंत्री हूं। भारत/तेलंगाना में कारोबार स्थापित करने की चुनौतियों को लेकर काम करने के लिए टेस्ला के साथ साझेदारी करने पर खुशी होगी। हमारा राज्य सस्टेनेबिलिटी इनिशिएटिव्स में एक चैंपियन है और भारत में शीर्ष पायदान का बिजनेस डेस्टिनेशन है।"

लुधियाना को ई-व्हीकल हब बनाने का न्यौता
पंजाब कांग्रेस के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने भी ट्वीट करते हुए लिखा, "मैं एलन मस्क को पंजाब में आमंत्रित करता हूं। पंजाब मॉडल लुधियाना को इलेक्ट्रिक व्हीकल और बैटरी के उद्योग का हब बनाएगा। पंजाब मॉडल निवेश के लिए समयबद्ध सिंगल विंडो क्लीयरेंस देगा, जिससे पंजाब में नई तकनीक, ग्रीन जॉब्स और पर्यावरण संरक्षण के साथ ही सतत विकास का मार्ग प्रशस्त होगा।"

महाराष्ट्र में भी टेस्ला का स्वागत
NCP के मंत्री जयत पाटिल ने भी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क को महाराष्ट्र में फर्म की प्रोडक्शन यूनिट स्थापित करने का न्यौता दिया है। उन्होंने ट्वीट किया कि भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है। हम आपको भारत में स्थापित होने के लिए महाराष्ट्र से सभी आवश्यक सहायता प्रदान करेंगे। हम आपको महाराष्ट्र में अपनी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करने के लिए आमंत्रित करते हैं।

टेस्ला के सामने कई चुनौतियां
एक भारतीय यूजर ने कुछ दिन पहले एलन मस्क से ट्विटर पर इस बारे में सवाल पूछा था। यूजर ने टेस्ला के एक मॉडल की फोटो के साथ पूछा था कि क्या भारत में टेस्‍ला की लॉन्चिंग को लेकर कोई अपडेट है? यूजर ने कहा था कि टेस्ला की कारें काफी अच्छी हैं और उन्हें दुनिया के हर कोने में मौजूद होना चाहिए। एलन मस्क ने इसका जवाब देते हुए कहा था कि भारत में कार लॉन्च करने में उनकी कंपनी को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है और सरकार के साथ मिलकर इनका समाधान निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

टेस्ला चाहती है कि उसकी गाड़ियों को लग्जरी नहीं, EV माना जाए
टेस्ला पूरी तरह से असेंबल गाड़ियों पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को घटाकर 40% करने की मांग कर रही है। यहां 40,000 डॉलर से सस्ती गाड़ियों पर 60% और उससे महंगी गाड़ियों पर 100% इंपोर्ट ड्यूटी लगती है। कंपनी चाहती है कि उसकी गाड़ियों को लग्जरी नहीं इलेक्ट्रिक व्हीकल माना जाए। सरकार ने कुछ महीने पहले कहा था कि बाहर से मंगाए जाने वाले किसी भी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर आयात शुल्क माफ करने या उसमें कमी करने का उसका कोई इरादा नहीं है।

टेस्ला के लिए आसान नहीं होगा भारत में कारोबार जमाना
हालांकि, टेस्ला के लिए भारतीय कार बाजार में पकड़ बनाना आसान नहीं होगा। इसकी कई वजहें हैं- पहली, यहां हर साल जितनी गाड़ियां बिकती हैं, उनमें सिर्फ एक पर्सेंट ही इलेक्ट्रिक होती हैं। दूसरी, टेस्ला की इलेक्ट्रिक गाड़ियां बहुत महंगी होती हैं। तीसरी, यहां चार्जिंग फैसिलिटी कम है। चौथी, यहां इंपोर्टेड गाड़ियों पर हैवी टैक्स लगता है।

खबरें और भी हैं...