पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टेस्ला की इलेक्ट्रिक गाड़ियों में खराबी:अमेरिका, चीन में टेस्ला मॉडल-3 कार की सीट बेल्ट और टायर में मिली गड़बड़ी, भारत में दिसंबर में आने की है तैयारी

नई दिल्ली15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एलन मस्क (Elon Musk) की कंपनी टेस्ला (Tesla) ने मॉडल 3 के 700 यूनिट्स इलेक्ट्रिक कार को वापस बुलाने की घोषणा की है। इन कारों में सीट बेल्ट और टायर की समस्या देखने को मिली है। कंपनी पिछले कुछ महीनों में इस मॉडल को चीन और अमेरिका में सप्लाई कर चुकी हैं। इलेक्ट्रिक गाड़ियों की करीब 5 हजार यूनिट्स में इस समस्या को ठीक करने के लिए वापस बुलाया है। इनमें मॉडल 3 में वे यूनिट्स हैं जो 2018 और 2020 के बीच बने थे। जबकि मॉडल Y में 2019 और 2021 वाले यूनिट्स शामिल हैं।

भारत में दिसम्बर तक आएगी टेस्ला की मॉडल-3 कार

टेस्ला लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों को बनाती है। अमेरिका में इसकी काफी डिमांड है, क्योंकि अब आने वाला समय इलेक्ट्रिक कारों का ही है। भारत में भी इनकी डिमांड बढ़ेगी ही। भारत में टेस्ला की कारें कब तक आएंगी, इसको लेकर कंपनी की तरफ से तो कुछ नहीं कहा गया है। लेकिन ‘कार देखो’ के अनुसार दिसम्बर 2021 तक टेस्ला की मॉडल-3 कार भारत में आ जाएगी। कंपनी ने इसी साल जनवरी में बेंगलुरु में ऑफिस शुरू किया है। लेकिन अब देखना होगा कि इस खराबी की वजह से भारत में इसकी लॉन्चिंग का क्या प्रभाव पड़ेगा।

मॉडल-3 की कीमत लगभग 60 लाख

टेस्ला की मॉडल-3 कार अमेरिका में 14 साल पहले लॉन्च हो चुकी है। वहां इसकी कीमत 54,990 डॉलर यानी करीब 40 लाख रुपए है। लेकिन, भारत में इसकी कीमत ज्यादा हो सकती है। अभी तक तो कंपनी ने कीमत के बारे में कुछ बताया नहीं है, लेकिन ऑटो वेबसाइट कार देखो की मानें तो भारत में मॉडल-3 की कीमत 60 लाख रुपए के आसपास हो सकती है। मॉडल-3 के अलावा कंपनी मॉडल-S और मॉडल-X भी लॉन्च कर सकती है। मॉडल-S की कीमत 1.5 करोड़ और मॉडल-X की कीमत 2 करोड़ रुपए तक हो सकती है।

भारत में भी बन सकती है टेस्ला की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट

कंपनी ने बेंगलुरु में जो यूनिट खोली है, वहां से टेस्ला की कारों की बिक्री ही की जाएगी। यानी अमेरिका से इन्हें इम्पोर्ट किया जाएगा और यहां बेचा जाएगा। CNBC की रिपोर्ट के मुताबिक, टेस्ला की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट शुरू करने के लिए महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु की सरकारों से बात चल रही है। अगर बात बन जाती है तो टेस्ला फिर भारत में भी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट शुरू कर देगी और फिर यहीं टेस्ला की कारें बनेंगी या फिर असेंबल होंगी।

खबरें और भी हैं...