• Hindi News
  • Tech auto
  • Twitter To Soon Allow Use Of Security Keys As The Only Two Factor Authentication

सिक्योरिटी पर ट्विटर का फोकस:अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए फिजिकल कीज का सहारा ले रही ट्विटर, जानिए कैसे सेफ रहेगा आपका अकाउंट

नई दिल्ली9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कंपनी टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन को इनेबल करने पर विचार कर रही है
  • जल्द ही यूजर्स को कई सिक्योरिटी कीज उपयोग करने की सुविधा मिलेगी

ट्विटर अब अपने प्लेटफॉर्म को और ज्यादा सुरक्षित करने पर फोकस कर रही है। कंपनी ने ऐलान किया कि वे यूजर्स के अकाउंट को अधिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन को इनेबल करने पर विचार कर रही है, जिसमें वे केवल सिक्योरिटी कीज के जरिए ही लॉगइन कर पाएंगे।

वर्तमान में, यूजर सिक्योरिटी कीज से लॉगइन कर सकते हैं, लेकिन उन्हें बैकअप में थर्ड-पार्टी टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन स्थापित करने की आवश्यकता होती है। फिलहाल कंपनी ने सिर्फ यह बताया कि वे इन सुरक्षा उपायों को लागू करने जा रही है लेकिन इसे वास्तव में कब तक लागू करेगी, इस बारे में कोई सफाई नहीं दी है।

कंपनी ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी
लेटेस्ट ट्वीट में ट्विटर ने अपने यूजर्स के अकाउंट को बेहतर तरीके से सुरक्षित करने में मदद करने के लिए अपनी भविष्य की योजना की घोषणा की। कंपनी सिक्योरिटी कीज उपयोग करने का प्लान कर रही है।

इन सुरक्षा उपायों को कब तक लागू करेगी, इस बारे में कोई सफाई नहीं दी है।
इन सुरक्षा उपायों को कब तक लागू करेगी, इस बारे में कोई सफाई नहीं दी है।

क्या होती हैं सिक्योरिटी कीज?
यह फिजिकल कीज होती है, जिसे यूएसबी या ब्लूटूथ के जरिए पीसी के कनेक्ट किया जा सकता है। इससे यूजर्स को पासवर्ड टाइप करने की जरूरत नहीं पड़ती, यानी इसे मलेशियस सॉफ्टवेयर द्वारा इसमें सेंध नहीं लगाया जा सकता है।

सिक्योरिटी कीज से क्या फायदा होगा? सिक्योरिटी कीज (फिजिकल कीज) इसका फायदा यह होगा कि यूजर्स को ट्विटर पर लॉगइन करने के लिए प्लेटफॉर्म के साथ अधिक व्यक्तिगत जानकारियों को शेयर करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यूजर को सिर्फ सिक्योरिटी कीज को अपने सिस्टम से कनेक्ट करना होगा और उसके बाद सिक्योरिटी क्रिप्टोग्राफिकली अकाउंट को ऑथेंटिकेट कर लॉगइन करने में मदद करता है।

मल्टीपल सिक्योरिटी कीज यूज कर सकेंगे यूजर
ट्विटर ने यह भी घोषणा की कि वे सिंगल यूजर को मल्टीपल सिक्योरिटी कीज उपयोग करने की भी अनुमति देगा। अभी तक, यूजर्स सिर्फ एक ही सिक्योरिटी कीज का उपयोग करने के लिए बाध्य थे। इससे पहले दिसंबर में, ट्विटर ने अपने मोबाइल ऐप यूजर्स के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन इनेबल्ड अकाउंट के लिए सिक्योरिटी कीज सपोर्ट देने की घोषणा की थी। इन सुरक्षा सुविधाओं के लागू करने की डिटेल ट्विटर ने शेयर नहीं की हैं।

नए फीचर्स पर लगातार काम कर रही कंपनी
ट्विटर यहां फेसबुक के ग्रुप जैसा फीचर यानी की कम्युनिटीज भी लेकर आने वाला है। हालांकि इस बारे में कंपनी ने कोई ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं किया है। इस फीचर से लोग एक टॉपिक को लेकर एक ग्रुप बना सकेंगे या फिर जो सभी को पसंद है उसी तरह का कंटेंट उसमें पोस्ट कर सकेंगे। ये फीचर ठीक फेसबुक की तरह ही होगा। यानी की अगर आप किसी फिल्म के बारे में एक ग्रुप में बात करना चाहते हैं तो आप सभी दूसरे यूजर्स के साथ उस ग्रुप में अपनी राय रख सकते हैं। इसके अलावा ट्विटर यहां सेफ्टी मोड पर भी काम कर रहा है जहां अगर कोई ट्वीट हानिकारक साबित होता है तो उसे तुरंत हटा देगा या अकाउंट ब्लॉक कर देगा।

खबरें और भी हैं...