• Hindi News
  • Tech auto
  • Vivo Makes A Chameleon Phone Rear Panel Changes Colors Automatically, Vivo Developed New Technology, Special Glass On The Back Panel

इनोवेशन:अब खुद-ब-खुद रंग बदलेगा स्मार्टफोन; वीवो ने डेवलप की नई तकनीक, बैक पैनल पर लगाया खास किस्म का ग्लास

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
कंपनी ने बताया कि अगर टेस्टिंग के दौरान सब कुछ ठीक रहा तो, वीवो अगले साल तक प्रीमियम फोन के साथ इस नई तकनीक को लॉन्च कर सकती है।
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस कलर-शिफ्टिंग तकनीक का इस्तेमाल कॉल, मैसेज, ऐप नोटिफिकेशन के लिए किया जा सकता है
  • वीवो ने कहा कि वर्तमान में बैटरी लाइफ और परफॉर्मेंस पर इस तकनीक के प्रभावों को देखने के लिए टेस्टिंग की जा रही है

चीनी कंपनी वीवो एक नया कॉन्सेप्ट डिवाइस लेकर आई है। कंपनी ने फोन के कैमरे और स्क्रीन में बदलाव करने की बजाए इसके डिजाइन में इनोवेशन किया है। वीवो ने फोन के बैक पैनल पर इलेक्ट्रोक्रोमिक ग्लास लगाया है जो अलग-अलग कलर दिखाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसे कॉल, मैसेज और ऐप नोटिफिकेशन के बारे में यूजर को अलर्ट करने के लिए किया जा सकता है। कंपनी इस नए इनोवेशन का इस्तेमाल फोन को सुंदर बनाने के लिए भी कर सकती है। कलर बदलने वाले ग्लास के फंक्शनल बेनेफिट्स भी हैं।

नोटिफिकेशन के लिए इस्तेमाल हो सकती है तकनीक

  • GSMArena की एक रिपोर्ट में चीनी सोशल मीडिया साइट Weibo का एक वीडियो शेयर किया है। वीडियो में कॉन्सेप्ट डिवाइस का पूरा बैक पैनल इलेक्ट्रोक्रोमिक ग्लास से बना दिखाई दे रहा है। इससे फोन को इलेक्ट्रॉनिकली अपना कलर बदलने में मदद मिलती है। वीडियो में देखा जा सकता है कि नीले कलर के शेड वाला डिवाइस अपने आप सफेद कलर का हो जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी शुरुआती तौर पर इसका इस्तेमाल नोटिफिकेशन फीचर के लिए ही करेगी।
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, फोन के कलर-शिफ्टिंग नेचर का इस्तेमाल कॉल, मैसेज, ऐप नोटिफिकेशन और अन्य नोटिफिकेशन के बारे में यूजर को सूचित करने के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा, इसे थीम के आधार पर कलर बदलने के लिए बनाया जा सकता है। गौर करने वाली बात यह है कि फोन के पीछे केवल इसकी पारदर्शिता बदल सकती है और वास्तविक कलर नहीं। इसलिए, एक ही कलर को विभिन्न स्तरों पर बदल सकता है।

वनप्लस भी कर चुकी है इस तकनीक पर काम
वीवो पहली कंपनी नहीं जो इसे तकनीक पर काम कर रही है, वनप्लस भी साल की शुरुआत में हुए CES 2020 शो में इस टेक्नोलॉजी का प्रदर्शन कर चुकी है। वनप्लस ने अपने कॉन्सेप्ट वन डिवाइस के लिए एक इलेक्ट्रोक्रोमिक ग्लास कवर डेवलप करने के लिए McLaren के साथ साझेदारी की। वीवो के विपरीत, वनप्लस ने पूरे रियर पैनल के बजाय फोन पर रियर कैमरों को छिपाने के लिए कांच की एक छोटी पट्टी का उपयोग किया।

फिलहाल इस तकनीक टेस्टिंग कर रही कंपनी
वीवो का कहना है कि वर्तमान में बैटरी लाइफ और परफॉर्मेंस पर इस तकनीक के प्रभावों को देखने के लिए टेस्टिंग की जा रही है। अगर सब ठीक रहा तो, वीवो वास्तव में अगले साल तक प्रीमियम फोन के साथ इस नई तकनीक को लॉन्च कर सकती है। हम नेक्स (Nex) सीरीज़ के फ्लैगशिप डिवाइस पर अगले CES में कलर-शिफ्टिंग ग्लास देख सकते हैं।