• Hindi News
  • Tech auto
  • Whatsapp; Data Grabbing Apps | Facebook Messenger Collect Personal Data Compared To Telegram And Other Messaging Apps

कैसे बचेगी प्राइवेसी:वॉट्सऐप यूजर की 15 से ज्यादा इंफॉर्मेशन और डेटा कलेक्ट करता है, फेसबुक लेता है 30 तरह के डेटा

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

वॉट्सऐप ने अपनी नई पॉलिसी का नोटिफिकेशन भेजना शुरू कर दिया है। इस पॉलिसी के मुताबिक, कंपनी अब यूजर के डेटा का एक्सेस कर पाएगी। इस पॉलिसी को एग्री करना भी जरूरी होगा। यदि नहीं करते हैं तब अकाउंट डिलीट करना होगा। वैसे, वॉट्सऐप और फेसबुक सबसे ज्यादा यूजर इंफॉर्मेशन और डेटा कलेक्ट करते हैं। ये डेटा किसी भी दूसरे मैसेजिंग ऐप्स से कई गुना ज्यादा है।

वॉट्सऐप के पास 15 से ज्यादा इंफॉर्मेशन और डेटा
वॉट्सऐप यूजर का 15 से ज्यादा इंफॉर्मेशन और डेटा कलेक्ट करता है। वहीं, वॉट्सऐप की पेरेंट कंपनी फेसबुक मैसेंजर के पास 30 से ज्यादा तरह का डेटा होता है। इनकी तुलना में टेलीग्राम के पास 3 तरह का और एपल के आईमैसेज के पास 4 तरह का डेटा होता है। सिग्नल मैसेजिंग ऐप्स के पास यूजर का सिर्फ मोबाइल नंबर ही होता है।

सभी ऐप्स के पास यूजर की इंफॉर्मेशन और डेटा की लिस्ट

9to5Mac ने एक इमेज शेयर की है। इसमें आईमैसेज, सिग्नल और टेलीग्राम की तुलना में वॉट्सऐप और फेसबुक मैसेंजर क्या डेटा कलेक्ट करते हैं, इसे दिखाया गया है। आप आईफोन के ऐप स्टोर में जाकर इन डिटेल्स को खुद भी देख सकते हैं।

दुनियाभर में इन ऐप्स को करोड़ों एंड्रॉयड यूजर्स इस्तेमाल कर रहे

ऐपइन्स्टॉल (गूगल प्ले)
वॉट्सऐप500 करोड़
मैसेंजर100 करोड़
टेलीग्राम50 करोड़
सिग्नल1 करोड़

वॉट्सऐप पॉलिसी पर चिंता करने की जरूरत क्यों?
वॉट्सऐप ने अपनी नई पॉलिसी में साफ किया है कि यूजर को अपनी प्राइवेसी कंपनी के साथ शेयर करना होगी। यानी वॉट्सऐप अब आपके डेटा पर पूरी नजर रखेगी और आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी। भारत में वॉट्सऐप यूजर्स की संख्या 40 करोड़ से ज्यादा है। यानी पॉलिसी एग्री करने के बाद कंपनी आपके खर्च, आईपी एड्रेस, लोकेशन, स्टेटस, कंटेंट, कॉल जैसे सभी डेटा को एक्सेस कर पाएगा। कुल मिलाकर ऐप पर आपकी प्राइवेसी पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

क्या है वॉट्सऐप की नई पॉलिसी?
नई पॉलिसी में लिखा है कि हमारी सर्विसेज को ऑपरेट करने के लिए आप वॉट्सऐप को जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करते हैं, कंपनी उन्हें कहीं भी यूज, रिप्रोड्यूस, डिस्ट्रीब्यूट और डिस्प्ले कर सकती है। यूजर्स को ये पॉलिसी एग्री करना होगी। ये 8 फरवरी, 2021 से लागू हो रही है। इस तारीख के बाद इसे एग्री करना जरूरी होगी। यदि एग्री नहीं करते हैं तब अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसके लिए आप हेल्प सेंटर पर विजिट कर सकते हैं।