चीनी कंपनियों पर आयकर विभाग का छापा:शाओमी, ओप्पो ने किया टैक्स कानून का उल्लंघन; लग सकता है 1 हजार करोड़ रुपए का जुर्माना

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

आयकर विभाग (IT) ने 8 दिन पहले देशभर में चीनी मोबाइल कंपनियों शाओमी, वनप्लस और ओप्पो के ठिकानों और इनसे जुड़ी संस्थाओं पर छापा मारा। जिसके बाद अब खबर है कि इन कंपनियों पर कानून उल्लंघन करने पर 1 हजार करोड़ का जुर्माना लगाया जा सकता है। आयकर विभाग पूरे भारत में एक हफ्ते की जांच बाद आज यह जानकारी दी है। बता दें कि 21 दिसंबर को दिल्ली और 11 राज्यों- कर्नाटक, तमिलनाडु, असम, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, बिहार, राजस्थान में छापेमारी की गई थी।

5500 करोड़ रुपए की धांधली
इनकम टैक्स विभाग के मुताबिक सर्च एक्शन से पता चला है कि दो प्रमुख कंपनियों ने विदेशों में स्थित अपने समूह की ही कंपनियों को रॉयल्टी के रूप में 5500 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम भेजी है। इन कंपनियों ने संबंधित एंटरप्राइजों के साथ ट्रांजैक्शन को बताकर आयकर अधिनियम, 1961 का उल्लंघन किया है। इसलिए अब इन पर 1 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का जुर्माना लग सकता है।

हफ्ते भर से चल रही थी रेड
चीनी मोबाइल कंपनियों के डिस्ट्रीब्यूशन पार्टनर्स, कॉर्पोरेट दफ्तर, गोदामों और मैन्युफैक्चरर के ठिकानों पर हफ्ते भर से रेड चल रही थी। वहीं इसी साल अगस्त में चीनी टेलीकॉम इक्विपमेंट बनाने वाली कंपनी ZTE के ठिकानों पर भी रेड मारी गई थी। इस दौरान इनकम टैक्स विभाग को कर चोरी का पता भी चला था। इसके अलावा मोबाइल फोन बिजनेस, लोन एप्लिकेशन और ट्रांसपोर्ट बिजनेस से जुड़ी चीनी फर्म पर भी हाल में ही छापा मारा गया था। छापे की यह कार्रवाई केंद्रीय जांच एजेंसियों ने की थी।