कवायद / फेसबुक, ट्विटर, यू-ट्‌यूब चैनल के जरिए छात्रों से जुड़ेगा बिहार बोर्ड

Bihar board will link students through social media
X
Bihar board will link students through social media

  • बोर्ड की नीतियों और योजनाओं को सोशल मीडिया के जरिए बताया जाएगा
  • वर्क मैनेजमेंट के लिए एजेंसी की हो रही तलाश, 20 तक मांगा टेंडर

Jul 01, 2019, 11:56 AM IST

गैजेट डेस्क, गिरिजेश कुमार, पटना. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति अब फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यू-ट्यूब के जरिए छात्रों-अभिभावकों से जुड़ेगी। बिहार बोर्ड का आधिकारिक एकाउंट इन सोशल मीडिया साइट्स पर खोला जाएगा। इसके जरिए बोर्ड की नीतियों और योजनाओं को व्यापक तौर पर लोगों तक पहुंचाया जाएगा। सोशल मीडिया मैनेजमेंट के लिए बिहार बोर्ड एजेंसी की तलाश कर रहा है। एजेंसी ही इन साइट्स पर एकाउंट बनाने से लेकर कंटेंट मैनेजमेंट का काम देखेगी। इसके लिए 20 जुलाई तक टेंडर मांगा गया है। इस चैनल के जरिए ही छात्रों, अभिभावकों और स्टेक होल्डर्स से संवाद भी बिहार बोर्ड स्थापित करेगा।

 

योजनाओं को ज्यादा लोगों तक पहुंचाना मकसद

 

बिहार बोर्ड सोशल मीडिया के जरिए रिजल्ट ओरिएंटेड प्रचार की रणनीति बना रहा है। अपनी उपलब्धियों के साथ ही भविष्य की योजनाओं के बारे में भी सोशल मीडिया के जरिए लोगों को बताएगा। सोशल मीडिया एकाउंट को हर दिन अपडेट किया जाएगा। इसमें सिर्फ सूचनात्मक या प्रोमोशनल पोस्ट ही नहीं होंगे, बल्कि चित्र, ऑडियो, वीडियो, साक्षात्कार, समाचार, इन्फोग्राफिक्स अादि से भी नीतियों और योजनाओं को समझाया जाएगा। 5 मिनट या उससे कम का एचडी वीडियो फेसबुक, यू-ट्यूब पर हर सप्ताह अपलोड किया जाएगा, ताकि उससे छात्र बोर्ड की योजनाओं के बारे में जान सकें। इन साइट्स पर बिहार बोर्ड से संबंधित समाचार और इवेंट को भी कवर कर पोस्ट किया जाएगा।

सभी डिवाइस पर होगा एक्सेस, कर सकेंगे सवाल-जवाब

सोशल मीडिया एकाउंट का डिजाइन ऐसा होगा कि यह सभी डिवाइस पर आसानी से एक्सेस हो। कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैब पर लोग देख सकें और जानकारी हासिल कर सकें। लोगों के कमेंट्स और सवाल-जवाब को भी मॉनीटर किया जाएगा। छात्र अभिभावक या बोर्ड से जुड़े अन्य लोग इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए जानकारी हासिल कर सकेंगे। उन्हें बोर्ड की ओर से सटीक, और तत्काल जवाब दिया जाएगा।

मैट्रिक व इंटर की परीक्षाओं के दौरान कई गलत सूचनाएं वायरल होती हैं। परीक्षा के अलावा भी बोर्ड से जुड़ी कोई गलत जानकारी वायरल होती है तो ऐसे में उसे तत्काल रोकने में मदद मिलेगी। छात्र, अभिभावक या अन्य लोग सोशल मीडिया के आधिकारिक एकाउंट के जरिए सही जानकारी हासिल कर सकेंगे। मैनेजमेंट एजेंसी तत्काल प्रतिक्रिया देगी।

स्टूडेंट्स व अभिभावकों से जुड़ने के लिए सीबीएसई पहले से ही सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहा है। सीबीएसई का फेसबुक, ट्विटर पर आधिकारिक एकाउंट है। इसके अलावा यू-ट्यूब चैनल भी है। जहां कई शिक्षा परक जानकारियां उपलब्ध कराई जाती हैं। काउंसिलिंग के लिए भी यू-ट्यूब चैनल का उपयोग होता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना